उदयपुर पुलिस ने अहमदाबाद से अपह्रत व्यक्ति को छुड़ाया, चार अपहरणकर्ता को दबोचा

उदयपुर पुलिस ने बड़ी कार्यवाही करते हुए अहमदाबाद के पेंट्स व्यापारी को अपहरणकर्ताओ के चंगुल से सकुशल छुड़वाते हुए चार अपहरणकर्ताओं का न सिर्फ गिरफ्तार किया बल्कि उनसे फिरौती के बीस लाख रूपये भी बरामद किये। 28 जनवरी को अहमदाबाद के सरदार नगर के रहने वाले हनुमान सिंह पुत्र लादू सिंह (मूलतः डीडवाना जिला नागौर) को मोट

 

उदयपुर पुलिस ने अहमदाबाद से अपह्रत व्यक्ति को छुड़ाया, चार अपहरणकर्ता को दबोचा

उदयपुर पुलिस ने बड़ी कार्यवाही करते हुए अहमदाबाद के पेंट्स व्यापारी को अपहरणकर्ताओ के चंगुल से सकुशल छुड़वाते हुए चार अपहरणकर्ताओं का न सिर्फ गिरफ्तार किया बल्कि उनसे फिरौती के बीस लाख रूपये भी बरामद किये। 28 जनवरी को अहमदाबाद के सरदार नगर के रहने वाले हनुमान सिंह पुत्र लादू सिंह (मूलतः डीडवाना जिला नागौर) को मोटरसाइकिल से उनके दुकान से घर जाते हुए सफ़ेद रंग की कार में सवार लोगो ने जबरन अपहरण कर लिया। अपहरणकर्ताओं ने हनुमान सिंह को छोड़ने के एवज में 25 लाख की फिरौती की मांग हनुमान सिंह के पार्टनर सुरेश शर्मा को फोन पर की।

मामला पुलिस के प्रकाश में आने पर उदयपुर जिले के एसपी कैलाश चंद्र बिश्नोई ने समस्त थानाधिकारियो एवं स्पेशल टास्क फ़ोर्स की टीम और अहमदाबाद सरदार नगर पुलिस और गुजरात क्राइम ब्रांच के साथ मिलकर अपहरणकर्ताओं द्वारा प्रयुक्त गाड़ी की उदयपुर आने वाली सभी टोल नाके पर गहनता से जांच की गयी तो एक सफ़ेद रंग की i10,  GJ 8444 संदिग्ध पाई गई जिसकमालिक बस्सी, सलूम्बर निवासी भीम सिंह पुत्र केसर सिंह जो की काफी दिनों से गायब था। इसी दरम्यान अपहरणकर्ता लगातार सुरेश से फिरौती की मांग करते रहे।

इसी दौरान कल 2 फरवरी को हनुमान सिंह की जान को खतरे के मद्देनज़र उसके पार्टनर सुरेश शर्मा ने अपहरणकर्ताओं को सलूम्बर धरियावद मार्ग पर 20 लाख. की रकम सौप दी जिसके बाद अपहरणकर्ताओ ने हनुमान सिंह को उदयपुर के पारस चौराहे पर छोड़ दिया। हनुमान के सुरक्षित मिलने के बाद पुलिस ने भीम सिंह का पता लगाकर उसके अदवास ठिकाने पर दबिश देकर धावा बोल दिया। पुलिस ने भीम सिंह अपने दो साथियो दातार सिंह पुत्र कुंदन सिंह निवासी पावटा तहसील डीडवाना जिला नागौर, भवानी सिंह पुत्र रामसिंह निवासी लोसल जिला सीकर तथा भीम सिंह के साले हमेर सिंह पुत्र केसर सिंह निवासी अदवास को दबोच कर कड़ाई से पूछताछ की तो सारे मामले का खुलासा हो गया।

Download the UT Android App for more news and updates from Udaipur

अवैध शराब परिवहन और शराब तस्करी से जुड़े तार

पूछताछ में सामने में आया की भीम सिंह और उसका साथी गोविन्द सिंह उर्फ़ गोपी पुत्र महेंद्र सिंह निवासी जयपुर, हरियाणा राज्य से गुजरात राज्य तक अवैध शराब का परिवहन करते है। एक दो सप्ताह पहले इनका ट्रक अजमेर में पकड़े जाने से यह आर्थिक रूप से तंगी में आ गए थे तो इन दोनों ने यह सारा षड्यंत्र अपने साथी दातार सिंह और भवानी सिंह के साथ मिलकर रचा। चूँकि गोपी सिंह शराब के ट्रको को कलर करवाने हनुमान सिंह के पास जाया करता था और जानता था की हनुमान सिंह के पास बहुत पैसा है। हनुमान सिंह को किडनैप कर इन लोगो ने हनुमान को हमेर सिंह के घर में ही छिपा रखा था। अपहरणकर्ताओं में शामिल दातार सिंह जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग डीडवाना का पदस्थापित कर्मचारी है। वहीँ अपहरण में लिप्त आरोपी गोपी सिंह की तलाश जारी है।

अपहरण में प्रयुक्त दोनों कारो को भी पुलिस ने अपनी कस्टडी में ले लिया है। पुलिस की पकड़ में आये चारो आरोपियों की अहमदाबाद पुलिस अनुसन्धान के लिए अहमदाबाद लेकर जाएगी। जिला पुलिस अधीक्षक कैलाश चंद्र बिश्नोई ने बताया की मामले का खुलासा करने में स्पेशल टास्क फ़ोर्स टीम के गोरधन सिंह, कांस्टेबल योगेश, प्रह्लाद, अनिल, यशपाल और सलीम के साथ अहमदाबाद पुलिस पीआई किरण चौधरी, पीएसआई जतिन पटेल, ब्रजेश देसाई, यशपाल गुर्जर, कमलेश बेरिया और बिंदेश बेनकर की सराहनीय भूमिका रही।

From around the web