कर चोरी करने वालों से वसूले 3.64 करोड़

उदयपुर, 19 जुलाई 2019 संभाग के उदयपुर एवं बाॅसवाड़ा जिले में वाणिज्यिक कर विभाग की प्रतिकरापवंचन टीमों द्वारा कर चोरी में लिप्त व्यवसायियों के विरूद्ध कार्यवाही करते हुए इस वित्तीय वर्ष में 1 अप्रेल के पश्चात कुल 74 वाहनों से 3.64 करोड़ की कर व शास्ति वसूली गई।

 

कर चोरी करने वालों से वसूले 3.64 करोड़

उदयपुर, 19 जुलाई 2019 संभाग के उदयपुर एवं बाॅसवाड़ा जिले में वाणिज्यिक कर विभाग की प्रतिकरापवंचन टीमों द्वारा कर चोरी में लिप्त व्यवसायियों के विरूद्ध कार्यवाही करते हुए इस वित्तीय वर्ष में 1 अप्रेल के पश्चात कुल 74 वाहनों से 3.64 करोड़ की कर व शास्ति वसूली गई।

वाणिज्यिक विभाग के अधिकारी ने बताया कि परिवहनित वाहनों में कर चोरी से सम्बन्धित वस्तुएं जैसेः-पान मसाला, गुटखा, ऑटो पार्ट्स्, आयरन, स्टील, रेडीमेड, इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रोनिक्स आदि विशेष निगरानी रखते हुए प्रकरण बनाए गए। ट्राॅसपोर्ट चैकिंग के दौरान ई-वे बिल प्रणाली का दुरूपयोग कराने वाले व्यवसायियों के विरूद्ध कार्यवाही की जा रही है, ताकि व्यवस्थित रूप से कार्य करने वाले व्यवसायियों को प्रोत्साहित किया जा सकें तथा कर चोरी में रोकथाम लाई जा सके। ऐसे वाहनों पर कर के बराबर शास्ति से लेकर माल की कीमत के बराबर शास्ति तक भी लगाए जाने के प्रावधान है।

उदयपुर सम्भाग में होटल एवं मार्बल/मिनरल इण्डस्ट्रीज का प्रमुखता है। अतः इस क्षेत्र में विशेष निगरानी रखते हुए करवंचना में लिप्त व्यवसायियों के विरूद्ध सर्वे किए जाकर कार्यवाही की गई है। इसी प्रकार अन्य ट्रेड जिनमें बिना बिल का उच्चंत कारोबार किया जा रहा है, उनके विरूद्ध भी कार्यवाही की जा रही है। इस क्रम में उदयपुर टीम द्वारा एक ओर एल्यूमिनियम के एक व्यवसाय का सर्वे कर भारी अनियमितता पकड़ी है, वही दूसरी ओर सिगरेट के एक व्यवसायी के यहाॅं बिना रजिस्ट्रेशन लिए बिना बिल का स्टाॅंक पकड़ा है।

अब पढ़ें उदयपुर टाइम्स अपने मोबाइल पर – यहाँ क्लिक करें

इसी प्रकार बांसवाड़ा टीम द्वारा एल्यूमिनियम सेक्शन एवं अलमारी के व्यवसायी के विरूद्ध अनियमिता दर्ज कर कार्यवाही की गई। दोनों टीमों के द्वारा अब तक सर्वेक्षण किए जाकर कार्यवाही करते हुए 15.36 करोड़ रुपये की वसूली की गई है एवं केस दर्ज किया गया है। प्रतिकरापवंचन टीमों द्वारा बोगस बिलों से कर चोरी करने वालों के विरूद्ध भी सघन जाॅंच की जा रही है।

रिटर्न फाईल नही करने वाले व्यवसायियो के विरूद्ध भी कार्यवाही

कर चोरी में लिप्त व्यवसायियों के अलावा कर जमा नही कराने वाले व्यवसायियों के सर्वेक्षण की कार्यवाही भी की जा रही है। इनमें ऐसे व्यवसायी सम्मिलित है जो जनता से कर संग्रहण कर रहे है किन्तु सरकार को कर जमा नही करा रहे है। रिटर्न फाइल करने के लिए जीएसटी कौंसिल द्वारा मार्च, 2019 तक का पर्याप्त समय दिया जा चुका है। किन्तु इसके बावजूद भी कई व्यवसायियों द्वारा रिटर्न फाईल नही किए जा रहे है। ऐसे व्यवसायियों को नोटिस दिए जाकर कार्यवाही की जा रही है। नोटिस देने के बाद भी रिटर्न फाईल नही करने वाले व्यवसायियों के पंजीयन निरस्त किए जा रहे है।

पूरे ट्रक में कर-चोरी का देशी घी

वर्तमान में ही उदयपुर वाणिज्यिक कर संभाग की उदयपुर प्रतिकरापवंचन टीम ने देशी घी से भरा ट्रक पकड़ा, जिसमें व्यवसायी ने इन्वाॅइस व ई-वे बिल जारी कर रखा। किन्तु टीम द्वारा आगे जाॅंच करने पर पाया कि ई-वे बिल का दोबारा प्रयोन किया जा रहा है। इस प्रकार परिवहनित देशी घी की कीमत 29 लाख रुपये पर 6.50 लाख शास्ति वसूली गई। इस प्रकार प्रतिकरापवंचन टीमों द्वारा जनवरी, 2019 से पान मसाला/गुटखा आदि के विरूद्ध विशेष निगरानी रखते हुए 1 करोड़ से अधिक शास्ति वसूली है।

From around the web