एक पौधा लगाने पर 2100 रुपये देगी भाविप लेकसिटी

उदयपुर 21 मई 2019 भारत विकास परिषद के पालक एवं प्रांत प्रचारक कैलाशचंद्र ने कहा कि जितनी संवेदनशीलता बढ़ती है तो व्यक्ति सेवा के लिए जाता है। हनुमान ने राम के सेवक बनकर सेवा की। काम को इस तरह किया कि भगवान राम के काम को यशस्वी बनाया। सेवा के लिए आज भी हनुमान से बड़ा भक्त कोई नहीं। वे भैरव बाग में भारत विकास परिषद लेकसिटी के आयोजित दायित्व ग्रहण समारोह को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर भाविप लेकसिटी ने एक पौधा लगाने पर 2100 रुपये देने की घोषणा की।

 

एक पौधा लगाने पर 2100 रुपये देगी भाविप लेकसिटी

उदयपुर 21 मई 2019 भारत विकास परिषद के पालक एवं प्रांत प्रचारक कैलाशचंद्र ने कहा कि जितनी संवेदनशीलता बढ़ती है तो व्यक्ति सेवा के लिए जाता है। हनुमान ने राम के सेवक बनकर सेवा की। काम को इस तरह किया कि भगवान राम के काम को यशस्वी बनाया। सेवा के लिए आज भी हनुमान से बड़ा भक्त कोई नहीं। वे भैरव बाग में भारत विकास परिषद लेकसिटी के आयोजित दायित्व ग्रहण समारोह को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर भाविप लेकसिटी ने एक पौधा लगाने पर 2100 रुपये देने की घोषणा की।

विशिष्ट अतिथि विधायक फूलसिंह मीणा, भाजपा के शहर जिलाध्यक्ष रविन्द्र श्रीमाली एवं भाविप के राष्ट्रीय मंत्री जयराज आचार्य थे। अध्यक्षता परिषद की दक्षिण प्रांतीय अध्यक्ष राजश्री गांधी ने की।

शाखा की नई कार्यकारिणी को राजश्री गांधी ने शपथ दिलाई। कार्यकारिणी में राकेश नन्दावत अध्यक्ष, भरत पूर्बिया और पवन कोठारी उपाध्यक्ष, सुनील पामेचा सचिव, हेमंत दया सहसचिव, प्रेमशंकर पुष्करणा सांस्कृतिक सचिव, मीना राठौड़ एवं रितु अग्रवाल महिला संयोजिका, शरद सिंह चौहान सम्पर्क प्रमुख, कन्हैयालाल साहू शाखा प्रवक्ता एवं संजयसिंह बारहठ, प्रकाश मेनारिया, राखी माली, मांगूसिंह रावत एवं पंकज बोराणा कार्यकारिणी सदस्य मनोनीत किए गए।

Download the UT Android App for more news and updates from Udaipur

शाखा अध्यक्ष राकेश नन्दावत ने स्वागत उदबोधन में कहा कि सदस्यों ने जो नई जिम्मेदारी दी है उस पर खरा उतरने का प्रयास करूंगा। हमारे कार्य सिर्फ बैनर तक ही सीमित न रहें, इस पर ध्यान देना होगा। कोई पदचिन्ह पर चलता है और कोई पदचिन्ह बनाता है। जो बनाता है, उसको इतिहास याद करता है। शाखा के पर्यावरण का कार्य देख रहे पवन कोठारी ने बताया कि पौधा लगाने पर 2100 रुपये दिए जाएंगे। पौधा लगाने पर सौ रुपये, एक साल पूरा होने पर पौधे के साथ फोटो क्लिक कर भेजने पर 500, दूसरा साल पूरा होने पर 500 और प्रमाण पत्र, तीसरे पर भी 500 रुपये और चौथे साल पर बड़े समारोह में सार्वजनिक अभिनंदन किया जाएगा।

दक्षिण प्रान्त अध्यक्ष राजश्री गांधी ने कहा कि परिषद एक गैर राजनीतिक संगठन है जिसका उद्देश्य सांस्कृतिक, सामाजिक परंपराओं का संवाहन करना है। संपर्क से सहयोग, सहयोग से संस्कार और सेवा से समर्पण ही भारत विकास परिषद है। देश हमें सब देता है, हम भी देश को कुछ दें।

ग्रामीण विधायक फूलसिंह मीणा ने कहा कि भाविप राजनीति से हटकर काम कर रही है। यह सराहनीय है। राष्ट्र के निर्माण में भाविप की नितांत महती भूमिका है। उन्होंने भाविप को विधायक कोटे से एम्बुलेंस देने का आश्वासन दिया। भाविप के राष्ट्रीय मंत्री आचार्य ने युवा विंग को शपथ दिलाते हुए कहा कि अंधकार से प्रकाश की ओर ले जाने का उद्देश्य भाविप का है। 1963 में स्थापित यह पौधा आज वटवृक्ष के रूप में बदल चुका है।

भाजपा के शहर जिलाध्यक्ष रवींद्र श्रीमाली ने कहा कि कथनी और करनी में भाविप कभी फर्क नही करती। जो कहा, वो हमेशा कर दिखाया। पर्यावरण को लेकर भाविप ने निस्संदेह आज सराहनीय कार्य किया है। सरंक्षक नरपतसिंह राव ने कहा कि भाविप संकल्प, संपर्क, सेवा, सहयोग और समर्पण की भावना से कार्य करती है। प्याऊ, सरकारी स्कूलों में ड्रेस सहित प्रान्त से आने वाले कार्यों की पालना की जाती है। भाविप का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रवादी बनाना है। अगले वर्ष भाविप सदस्यों के बच्चों की नई यूथ विंग बनाई जाएगी।

दलपतसिंह जैन ने नए सदस्यों को शपथ ग्रहण करवाई। कार्यक्रम में बालिकाओं ने रंगारंग प्रस्तुतियां दी। आरम्भ में अतिथियों ने दीप प्रज्वलन कर कार्यक्रम का आगाज किया। अतिथियों का सरंक्षक नरपतसिंह राव, अध्यक्ष राकेश नन्दावत आदि ने सम्मान किया। आभार सुनील पामेचा ने व्यक्त किया। संचालन मांगूसिंह रावत ने किया।

From around the web