दांतों में 3 दिन तक खाना फंसा रहने पर बनती केविटी

दंत चिकित्सक निखिल वर्मा बताया ने कहा कि नीम चबाना वैज्ञानिक तरीके से श्रेष्ठ है। बैटरी आॅपेरटेड ब्रश का उपयोग नहीं करना चाहिये। यदि दांतों में खाना फंसा रह जाता है तो दंत चिकित्सक के पास जा कर उसे निलवाना चाहिये क्योंक

 

दांतों में 3 दिन तक खाना फंसा रहने पर बनती केविटी

दंत चिकित्सक निखिल वर्मा बताया ने कहा कि नीम चबाना वैज्ञानिक तरीके से श्रेष्ठ है। बैटरी आॅपेरटेड ब्रश का उपयोग नहीं करना चाहिये। यदि दांतों में खाना फंसा रह जाता है तो दंत चिकित्सक के पास जा कर उसे निलवाना चाहिये क्योंकि 3 दिन से अधिक खाना फंसा रहने से दांतों में केविटी बन जाती है। वे आज वरिष्ठ नागरिक परिषद द्वारा विज्ञान समिति परिसर में आयोजित दांतों की सुरक्षा कैसे रखें विषयक वार्ता में मुख्य वक्ता के रूप में बोल रहे थे।

उन्होेंने कहा कि बढ़ती उम्र के साथ हार्ड एवं सोफ्ट टिश्यू में भी परिवर्तन आता है। टूथपिक का उपयोग नहीं करना चाहिये। डाॅ. वर्मा ने कहा कि आपका थूंक आपके दांतो को सुरक्षा प्रदान करता है। यदि थूंक बनने की प्रक्रिया बेक्टिरिया के कारण कमजोर होती है तो आपके दांत कमजोर होते चले जाते है। इसके लिये प्रतिदिन नियमित रूप से खूब पानी पीना चाहिये।

उन्होेंने कहा कि प्रतिदिन नींबू का भी सेवन करना चाहिये। खाना खाने के बाद मुंह में अंगुली अवश्य घुमानी चाहिये इससे मसूड़ो की मालिश अच्छे से होती है। कार्यक्रम को मनोहरसिंह कृष्णावत ने भी संबोधित किया।

Download the UT Android App for more news and updates from Udaipur

इस अवसर पर समिति अध्यक्ष आर.के.चतुर ने अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि इस उम्र में दांतों की सुरक्षा करने की उपयोगी जानकारी मिली, जिससे सभी सदस्य काफी लाभान्वित हुए। उन्होेंने बताया कि आगामी 25 दिसंबर को वरिष्ठ नागरिकों की गाकुल वाटिका में पिकनिक आयोजित की जायेगी। कार्यक्रम में वरिष्ठ सदस्य बलवन्तसिंह ओरडिया ने स्वरचित कविता सुनायी।

आज चार नये वरिष्ठजनों अनिरूद्धसिंह चुण्डावत, ओ.पी.सोनी, डीएस.मारू व विमला मेहता को सदस्यता ग्रहण करायी। के.एल.कोठारी ने डाॅ. निखिल वर्मा का उपरना ओढ़ाकर स्वागत किया। इस अवसर पर महासचिव आर.के.नेभनानी, किरणमल सावनसुखा, सचिव सुभाष सहित अनेक पदाधिकारी एवं सदस्य मौजूद थे।

From around the web