कम्युनिटी पुलिसिंग टू बिल्ड अवेयरनेस एवं ट्रस्ट कार्यक्रम

पुलिस महानिरीक्षक उदयपुर रेंज प्रफुल्ल कुमार के निर्देशन में उदयपुर संभाग में संचालित कम्युनिटी पुलिसिंग

 

कम्युनिटी पुलिसिंग टू बिल्ड अवेयरनेस एवं ट्रस्ट कार्यक्रम

उदयपुर, 16 मई 2019 पुलिस महानिरीक्षक उदयपुर रेंज प्रफुल्ल कुमार के निर्देशन में उदयपुर संभाग में संचालित कम्युनिटी पुलिसिंग टू बिल्ड अवेयरनेस एण्ड ट्रस्ट कार्यक्रम अंतर्गत एनसीसी कैडेट्स और पुलिस अधिकारियों की वत्सल वार्ता का आयोजन किया गया। युनिसेफ और पुलिस विभाग के संयुक्त तत्वावधान में संचालित कार्यक्रम के अंतर्गत पुलिस अधिकारियों द्वारा बच्चों से सुरक्षा संबंधित मुद्दों तथा सामुदायिक पुलिसिंग पर विस्तृत चर्चा की गई।

बाल संरक्षण सलाहकार उदयपुर संभाग सिन्धु बिनुजीत ने संभाग के सभी जिलों से आए कैडेट्स को कार्यक्रम के उद्देश्यों तथा कैडेट्स से विद्यालयों व समुदाय में सुरक्षा संबंधित समस्याओं की जानकारी पुलिस को त्वरित रूप से देने तथा काम्बेट वारियर्स के तैार पर जिम्मेदारियों के निर्वहन के लिए प्रेरित किया।

आत्म अनुशासन तथा कर्तव्य निष्ठा के साथ ही लक्ष्य प्राप्ति

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक दशरथ सिंह ने पुलिस द्वारा प्रारम्भ किए गए नवाचार के बारे में संक्षिप्त जानकारी देते हुए कैडेट्स को आत्म अनुशासन तथा कर्तव्यों की जानकारी दी। उन्होने कैडेट्स को बताया कि वर्तमान में किशोर वर्ग में नशे की प्रवृत्ति तथा आधुनिक जीवन शैली के प्रति आकर्षण से कर्तव्य राह से भटकने की प्रवृत्ति बढ़ रह है, जिसके लिए यदि आत्म अनुशासन एवं कर्तव्य बोध पर ध्यान दिया जाए तो लक्ष्य प्राप्त किए जा सकते हैं। स्वस्थ शरीर और आत्म अनुशासन के महत्व पर प्रकाश डालते हुए उन्होने कैडेट्स को बताया कि आप सभी द्वारा अपने क्षैत्र में किसी भी प्रकार की असामाजिक गतिविधियों की सूचना पुलिस को दी जानी चाहिए और आमजन में पुलिस द्वार किए जाने वाले आयोजनों में आप सभी का महत्वपूर्ण योगदान होना चाहिए।

हम भी बनना चाहती हैं पुलिस अधिकारी

प्रशिक्षु आरपीएस नियति शर्मा ने कैडेट्स से संवाद करते हुए जब बालिका वर्ग से पूछा कि कितनी कैडेट्स पुलिस में सेवाएं देना चाहती हैं तो सभी बालिकाओं ने जोश के साथ पुलिस में सेवा देने के लिए हामी भरी। नियति शर्मा ने पुलिस द्वारा रेंज स्तर पर प्रारम्भ किए गए काम्बेट कार्यक्रम के अंतर्गत चुने गए काॅम्बेट वाॅरियर्स को बधाई देते हुए कहा कि कैडेट्स के साथ पुलिस विभाग का यह संवाद आप सभी के समाज तथा शैक्षिक संस्थानों में बाल संरक्षण और अन्य कर्तव्यों में भूमिका को सुनिश्चित करने के लिए किया जा रहा है। उन्होने किशोरी बालिकाओं को बताया कि महिला वर्ग ना केवल शारीरिक अपितु मानसिक एवं भावनात्मक दृष्टि से भी अधिक सशक्त होता है।

Download the UT Android App for more news and updates from Udaipur

अधिकारियों ने शांत की जिज्ञासा

कैडेट्स ने पुलिस विभाग तथा सामान्य अपराधों से संबंधित सवाल प्रशिक्षु अधिकारी से पूछे जिनके उत्तर देकर कैडेट्स की जिज्ञास को शांत किया गया।

दिए सर्टिफिकेट्स तथा बैच

पुलिस विभाग की ओर से सभी कैडेट्स को अपने कार्यक्षैत्र में बेहतर कार्य के लिए प्रोत्साहित करने के लिए सर्टिफिकेट्स तथा बैच उपलब्ध कराए गए। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक दशरथ सिंह ने कैडेट्स को सर्टिफिकेट्स व प्रशिक्षण आरपीएस नियति शर्मा द्वारा कैडेट्स को बैच देकर उत्साहवर्धन किया गया। कार्यक्रम में कमांडिंग ऑफिसर सुधाकर त्यागी, सैकण्ड ऑफिसर जीतेन्द्र कुंवर तथा सीटीओ पल्लवी जोशी द्वारा कैडेट्स को मार्गदर्शन उपलब्ध कराया गया। कार्यक्रम में लगभग 600 कैडेट्स सहित कार्यक्रम के आकाश उपाध्याय आदि उपस्थित थे।

From around the web