एमबी हॉस्पिटल में लगी आग, कोई हताहत नहीं

दक्षिणी राजस्थान और संभाग के सबसे बड़े अस्पताल राजकीय महाराणा भूपाल चिकित्सालय (एमबी हॉस्पिटल) में आज मंगलवार दोपहर अचानक आग लग गई। आग हॉस्पिटल के वार्ड 101 व 102 नंबर कैंसर वार्ड में लगी। एकाएक आग लगने से वहां अफरा-तफरी मच गई। दमकल की सात गाड़ियां तुरंत मौके पर पहुंची और आग को काबू करने का प्रयास शुरू किया। करीब घंटे भर की मशक्कत से आग पर काबू पाया गया। घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है अलबत्ता लोगो की मदद के दौरान रेजीडेंट डॉ सीपी मुद्गल का हाथ झुलस गया।

 

एमबी हॉस्पिटल में लगी आग, कोई हताहत नहीं

उदयपुर 18 जून 2019 दक्षिणी राजस्थान और संभाग के सबसे बड़े अस्पताल राजकीय महाराणा भूपाल चिकित्सालय (एमबी हॉस्पिटल) में आज मंगलवार दोपहर अचानक आग लग गई। आग हॉस्पिटल के वार्ड 101 व 102 नंबर कैंसर वार्ड में लगी। एकाएक आग लगने से वहां अफरा-तफरी मच गई। दमकल की सात गाड़ियां तुरंत मौके पर पहुंची और आग को काबू करने का प्रयास शुरू किया। करीब घंटे भर की मशक्कत से आग पर काबू पाया गया। घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है अलबत्ता लोगो की मदद के दौरान रेजीडेंट डॉ सीपी मुद्गल का हाथ झुलस गया।

ये हैं वे हीरों जिन्होंने जान पे खेलकर मरीज़ो को बचाया

कैंसर वार्ड में आग के दौरान जब मरीज़ो और परिजनों में अफरा तफरी फ़ैल रही थी तब रेजीडेंट डॉ सीपी मुद्गल और डॉ मुकेश बड़जात्या ने नेतृत्व में रेजीडेंट्स डॉक्टरों की टीम ने मुंह पर रूमाल बांधकर बिना अपनी जान की परवाह किए बगैर धुएं के गुबार में घुस कर मरीज़ो को वार्ड से बाहर निकाला जिसे और बाहर खड़ी दूसरी टीम ने तत्काल दुसरे वार्ड एमआईसीयू में शिफ्ट किया। इस दौरान रेजीडेंट डॉ सीपी मुद्गल का हाथ भी झुलस गया।

एमबी हॉस्पिटल में लगी आग, कोई हताहत नहीं

इसी प्रकार आग के दौरान होम गार्ड जय सिंह ने कैंसर वार्ड के मरीजों को छत के रास्ते से बाहर निकाला। हॉस्पिटल के कैंसर वार्ड से धुआं निकलता देख उन्होंने बिना एक पल गंवाए मेडिसिन वार्ड के सामने बने गेट को तोड़कर छत पर पहुंचे और छत के रास्ते होते हुए कैंसर वार्ड की पास वाली छत पर पहुंचे। कैंसर के मेल वार्ड में भर्ती मरीज और परिजन आग व धुएं से बचने के लिए छत से कूदने वाले थे, तभी जय सिंह एक हाथ से दीवार पर लटक गया और दूसरे हाथ से मरीजों को पकड़कर उपर खींचकर छत पर लाए और करीब चार से पांच मरीजों को वहां से सुरक्षित निकाला।

मौके पर पहुंची कलेक्टर आनंदी ने बताया कि सभी मरीजों को सुरक्षित कैंसर सहित अन्य वार्ड से निकालकर अन्य वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है। हॉस्पिटल की टीम का रेस्पॉन्स टाइम अच्छा रहा, तभी किसी भी मरीज की जनहानि नहीं हुई। आग लगने और आग बढ़ने के कारणों और कहीं खामियां रही हैं तो उन सभी की जांच करवाई जाएगी।

Source: arlivenews.com

From around the web