भारतीय लोक कला मण्डल में गवरी नृत्य समारोह

गवरी समारोह में दिनांक 11 सितम्बर 2019 को मांगीलाल गमेती, गाँव परापड़ की भागल, पंचायत रामा - बड़गाँव ने भाग लिया वहीँ आज 12 सितम्बर 2019 को किशनलाल खराड़ी गाँव सिन्दोती- रामा ने गवरी का मंचन किया जबकि कल दिनांक 13 सितम्बर 2019 को अमित गमेती एवं दल ब्राम्हणों का वड़ा, मदार - बड़गाॅंव भाग लेंगें ।

 

भारतीय लोक कला मण्डल में गवरी नृत्य समारोह

उदयपुर, 12 सितम्बर, 2019 भारतीय लोक कला मण्डल, उदयपुर एवं आदिम जाति शोध एवं प्रशिक्षण संस्थान, उदयपुर के संयुक्त तत्वावधान में मेवाड़ अंचल का प्रसिद्ध गवरी नृत्य समारोह दिनांक 11 से 13 सितम्बर 2019 के मध्य भारतीय लोक कला मण्डल में किया जा रहे है ।

निदेशक डाॅ. लईक हुसैन ने बताया कि जैसा कि सभी जानते है की मेवाड़ अंचल के भील जनजाति समाज द्वारा अपनी बहनों, बेटियों कि समृद्धि, शान्ती तथा पशुधन की सम्पन्नता की कामना को दृष्टिगत् रखते हुए राखी के दूसरे दिन से 40 दिन तक माॅं गौरी की आराधना में गवरी नृत्य नाट्य का पारम्परिक आयोजन किया जाता है । जिसमें गवरी के कलाकार प्रण लेते हैं कि वो 40 दिन तक मांस, मदीरा एवं हरी सब्जियों का उपयोग नहीं करेगें और माँ गौरी से प्रार्थना करेंगे की उनकी बहने, बेटियाँ और उनका परिवार उनका पशुधन खुशहाल रहें ।

Download the UT Android App for more news and updates from Udaipur

उन्होने बताया कि उक्त गवरी समारोह में दिनांक 11 सितम्बर 2019 को मांगीलाल गमेती, गाँव परापड़ की भागल, पंचायत रामा – बड़गाँव ने भाग लिया वहीँ आज 12 सितम्बर 2019 को किशनलाल खराड़ी गाँव सिन्दोती- रामा ने गवरी का मंचन किया जबकि कल दिनांक 13 सितम्बर 2019 को अमित गमेती एवं दल ब्राम्हणों का वड़ा, मदार – बड़गाॅंव भाग लेंगें ।

आदिम जाति शोध एवं प्रशिक्षण संस्थान, उदयपुर के निदेशक, दिनेश चन्द्र जैन ने बताया की इसी श्रृंखला में दिनांक 18,19, 20 सितम्बर 2019 को सहेलियों की बाडी में गवरी नृत्य का आयोजन रखा गया है ।

From around the web