हार्ट स्ट्रींग पुस्तक का विमोचन 14 को होटल द लीला

पेन्टिंग के क्षेत्र में अपनी कल्पना को कूंची के जरिये कैनवास पर उतार कर उसे एक नई पहिचान दिलानें का कार्य करने वाली अन्तर्राष्ट्रीय चित्रकार अरवा तुर्रा द्वारा अब तक बनाये गये चित्रों को संकलित कर हार्ट स्ट्रींग नामक पुस्तक मे संजोया है। इस पुस्तक का विमोचन विश्वविख्यात होटल द लीला में दोपहर 3 बजे किया जायेगा।

 

हार्ट स्ट्रींग पुस्तक का विमोचन 14 को होटल द लीला

उदयपुर। पेन्टिंग के क्षेत्र में अपनी कल्पना को कूंची के जरिये कैनवास पर उतार कर उसे एक नई पहिचान दिलानें का कार्य करने वाली अन्तर्राष्ट्रीय चित्रकार अरवा तुर्रा द्वारा अब तक बनाये गये चित्रों को संकलित कर हार्ट स्ट्रींग नामक पुस्तक मे संजोया है। इस पुस्तक का विमोचन विश्वविख्यात होटल द लीला में दोपहर 3 बजे किया जायेगा।

एम स्क्वायर इवेन्ट एण्ड प्रोडक्शन के सीईओ मुकेश माधवानी ने बताया कि समारोह के मुख्य अतिथि उद्यमी जे.के. तायलिया, एनआईसीसी की डाॅ. स्वीटी छाबड़ा, डाॅ. प्रेम भण्डारी, डाॅ. वसीम खान, तारिका धायभाई, भानूप्रताप सिंह धायभाई, महेन्द्रपालसिंह छाबड़ा, मुस्तफा तुर्रा होंगे। अन्तर्राष्ट्रीय चित्रकार और कवियित्री अरवा तुर्रा द्वारा तैयार किये गये चित्रों और कविताओं को संकलित कर हार्ट स्ट्रींग नामक पुस्तक का प्रकाशन एम स्क्वायर इवेन्ट एण्ड प्रोडक्शन प्रा.लि. द्वारा किया गया है।

अरवा तुर्रा बताती है कि उनका उद्देश्य चित्रकारी के माध्यम से दुनिया भर में विभिन्न महिलाओं की कहानियों को चित्रित करना है। वह अपने कैनवास और कपड़ों पर महिलाओं की हर भावना और व्यक्तित्व को गहराई से संवाद करने का प्रयास करती है और कुछ प्रश्न दर्शक के सामनें छोड़ती है ताकि वे उन प्रश्नों का हल निकाल सकें।

CLICK HERE to DOWNLOAD UdaipurTimes on your Android device

वे बताती है कि दुनिया भर की सुंदरता वास्तुकला की पृष्ठभूमि से प्रशंस्ति है, हालाँकि आँखें उसके चित्रों के कपड़े के सुंदर डिजाइन पर आकर्षित हो जाती है। अरवा कहती है कि वह अपने कैनवास पर जटिल डिजाइन के कपड़े के माध्यम से एक फैशन डिजाइनर होने का सपना देखती है। केैनवास पर उभर कर आने वाली कला हजार संदेशों का संचार करती है।

अरवा का मानना है कि कला और साहित्य में उनकी रूचि होने के साथ-साथ दार्शनिक और कलात्मक सौंदर्यशास्त्र का यह मिश्रण कला के सच्चे कार्य को प्रस्तुत करता है। इस दुनिया में जहां दुनिया के हर कोने में महिलाओं का दमन किया जा रहा है, वहां अरवा का अपनी कला और लेखन के माध्यम से अपने मजबूत संदेशों द्वारा महिलाओं में समाज के विश्वास और उनकी शक्तियों के पुनर्जन्म के लिए एक छोटा कदम है।

From around the web