क्या अनसेफ है आरएनटी मेडिकल कॉलेज का गर्ल्स हॉस्टल ?

1 जुलाई की मध्यरात्रि को दो इंटर्न नशे में धुत होकर गर्ल्स हॉस्टल पहुँच गए। वहां किसी छात्रा से मिलने के लिए सीढ़ी लगाकर पहली मंज़िल पहुंचे। और वहां ताकझांक करने लगे। इस बीच वहां मौजूद छात्राओं ने बत्ती जलाकर देखा तो सामने दो इंटर्न को पाया। दोनों इंटर्न से छात्राओं की बहस भी हुई। इस बीच सुरक्षाकर्मी भी पहुँच गया। उस वक़्त तो दोनों इंटर्न वहां से खिसक लिए लेकिन कुछ देर बाद वह दोनों पुनः हॉस्टल में आ धमके। एक बार फिर सुरक्षकर्मी ने उन्हें वहां से भगाया।

The post

 

क्या अनसेफ है आरएनटी मेडिकल कॉलेज का गर्ल्स हॉस्टल ?

उदयपुर के आरएनटी मेडिकल कॉलेज के गर्ल्स हॉस्टल में ताकझांक करने वाले दो नशेड़ी इंटर्न पर अब तक कोई कार्यवाही नहीं हुई। मामले में आरएनटी मेडिकल कॉलेज प्रशासन मुद्दे पर मौन साधे हुए है। जबकि छात्राओं ने पूरे मामंले की शिकायत हॉस्टल वॉर्डन और कॉलेज प्रशासन से की। गंभीर मामला होने के बावजूद कॉलेज प्रशासन ने पुलिस को सूचित करने की ज़हमत भी नहीं उठाई। हालाँकि मामले के जांच के लिए कमेटी ज़रूर गठित की। कमेटी ने मामले की जांच कर दोषी इंटर्न को छह माह के लिए निष्कासित कर दिया।

क्या था मामला?

दरअसल 1 जुलाई की मध्यरात्रि को दो इंटर्न नशे में धुत होकर गर्ल्स हॉस्टल पहुँच गए। वहां किसी छात्रा से मिलने के लिए सीढ़ी लगाकर पहली मंज़िल पहुंचे। और वहां ताकझांक करने लगे। इस बीच वहां मौजूद छात्राओं ने बत्ती जलाकर देखा तो सामने दो इंटर्न को पाया। दोनों इंटर्न से छात्राओं की बहस भी हुई। इस बीच सुरक्षाकर्मी भी पहुँच गया। उस वक़्त तो दोनों इंटर्न वहां से खिसक लिए लेकिन कुछ देर बाद वह दोनों पुनः हॉस्टल में आ धमके। एक बार फिर सुरक्षकर्मी ने उन्हें वहां से भगाया।

उक्त मामले में शिकायत करने पर कॉलेज प्रशासन पहले तो टालमटोल कर मामले को दबाने का प्रयास करता रहा। लेकिन फिर छात्राओं के दबाव में जाँच कमेटी बिठाई। जाँच कमेटी घटना को सही पाया और दोनों इंटर्न को छह माह के निष्कासित कर दिया।

क्या सुरक्षा में सेंध है?

ऐसे में सवाल उठता है की गर्ल्स हॉस्टल में तक़रीबन 300 अध्ययनरत छात्राओं की सुरक्षा और निजता को लेकर कॉलेज प्रशासन गंभीर क्यों नहीं है ? कॉलेज प्रशासन ने मामले की शिकायत पुलिस से क्यों नहीं की ? कॉलेज प्रशासन ने जांच कमेटी बिठाने में इतनी देर क्यों लगाईं? जांच कमेटी के पास दोनों इंटर्न के गर्ल्स हॉस्टल में घुसने और वहां से भागने के पर्याप्त फोटो और वीडियो उपलब्ध होते हुए भी कड़ी कार्यवाही और पुलिस में शिकायत की अनुशंसा क्यों नहीं की गई? ऐसे ही सभी सवाल के अनुत्तरित जवाब देने के लिए कॉलेज के कर्ताधर्ता बात करने के लिए तैयार क्यों नहीं ?

From around the web