कूडो प्रतियोगिता में राजस्थान रहा देश में दूसरे स्थान पर

मध्यप्रदेश के सागर जिले में आयोजित 64 वें राष्ट्रीय स्कूल खेल के कूडो खेल प्रतियोगिता में राजस्थान के लड़ाको ने 6 स्वर्ण,16 रजत एंव 25 कास्यं कुल 47 पदकों पर कब्जा कर देश में कूडो प्रतियोगिता में दूसरे स्थान रह कर स्वर्णिम इतिहास रचा। कूडो इन्टरनेशनल फेडरेशन आॅफ इंडिया के उत्तर भारत के निदेशक एवं कूडो राजस्थान के अध्यक्ष रेन्शी राजकुमार मेनारिया ने बताया कि रष्ट्रीय आॅवर आॅल चेम्पियनशीप में उप विजेता ट्राफी अपने नाम कर राजस्थान ने इतिहास रचा।

 

कूडो प्रतियोगिता में राजस्थान रहा देश में दूसरे स्थान पर

मध्यप्रदेश के सागर जिले में आयोजित 64 वें राष्ट्रीय स्कूल खेल के कूडो खेल प्रतियोगिता में राजस्थान के लड़ाको ने 6 स्वर्ण, 16 रजत एंव 25 कास्यं कुल 47 पदकों पर कब्जा कर देश में कूडो प्रतियोगिता में दूसरे स्थान रह कर स्वर्णिम इतिहास रचा। कूडो इन्टरनेशनल फेडरेशन आॅफ इंडिया के उत्तर भारत के निदेशक एवं कूडो राजस्थान के अध्यक्ष रेन्शी राजकुमार मेनारिया ने बताया कि रष्ट्रीय आॅवर आॅल चेम्पियनशीप में उप विजेता ट्राफी अपने नाम कर राजस्थान ने इतिहास रचा।

उन्होंने बताया कि इस प्रतियोगिता में राजस्थान की ओर से जोधपुर की बेटी रिषिता राय ने स्वर्णित सफलता के साथ बेस्ट फाईटर गर्ल का अवार्ड प्राप्त कर राजस्थान कूडो को गौरवान्वित किया। उदयपुर के लड़ाके भावेश चौधरी ने राजस्थान को स्वर्ण दिलाकर इसकी शुरूआत की। मेनारिया ने बताया कि स्कूल गेम्स फेडरेशन आॅफ इण्डिया एवं स्कूली शिक्षा निदेशालय मध्यप्रदेश के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित इस सात दिवसीय राष्ट्रीय कूडो खेल प्रतियोगिता में 14 वर्ष, 17 वर्ष एवं 19 वर्ष के आयु वर्ग के 9-9 भार वर्ग में राजस्थान के 12 जिलों के 56 लड़के-लड़कियों एवं 8 मेनेजर एवं कोच सहित कुल 64 सदस्यीय दल ने इसमें भाग लिया था।

उन्होेंने बताया कि 19 व 17 वर्ष केटेगरी में दूसरे एवं 14 वर्ष केटेगरी में तृतीय स्थान पर रह कर एक इतिहास बनाया। उल्लेखनीय है कि राजस्थान ने अब तक किसी भी खेल में इतने पदक नहीं जीते है। खेल के इस महाकुंभ में 12 राज्यों के 700 से अधिक खिलाड़ियों ने भाग लिया। समापन समारोह में कूडो इन्टरनेशनल फेडरेशन आॅफ इंडिया के मुख्य प्रशिक्षक एवं राष्ट्रीय ग्रेड रेफरी रेन्शी राजकुमार मेनारिया को भी सम्मानित किया गया।

राजस्थान टीम में जनरल मेनेजर के रूप में बीकानेर के रेन्शी प्रीतम सेन, महिला कोच के रूप में उदयपुर की नाज़नीन शेख एवं मुख्य प्रषिक्षक रेन्शी राजकुमार मेनारिया के नेतृत्व में रेफरी सेन्साए गोविन्द प्रजापत, रेफरी विजयसिंह चौहान, जज के रूप में दीपक सेन, सिरोही के नारायणलाल पुरोहित ने सेवायें दी। राजस्थान कूडो टीम में राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड एवं सीबीएसई ने क्रमशः 36 एवं 11 मेडल्स जीतने में योगदान दिया।

Download the UT Android App for more news and updates from Udaipur

इन खिलाड़ियों ने जीते मेडल्स- 14 वर्षीय बालिका वर्ग में बीकानेर की अनुज्ञा पूनिया प्रथम, बीकानेर की ही भूमि व्यास द्वितीय, बाडमेर की सेजल देथा, बीकानेर की गौरी शोखावत एवं उदयपुर की काशी भट्ट तृतीय रही। 14 वर्षीय बालक वर्ग में बीकानेर के कपिल राहर प्रथम, जोधपुर के कुरूनन्दन सिंह, उदयपुर के मोहम्मद ज़ीशान खान, तुक्षित तालानी एवं बीकानेर के प्रथम ठोलिया द्वितीय, अलवर के नितिन कुमार व जोधपुर के प्रद्युम्न पटेल तृतीय रहे।

अन्डर 17 गर्ल्स में सीकार की मेत्रेयी शर्मा एवं जोधपुर की रिषिता राय प्रथम, अलवर की तनिशा व बीकानेर की नेहा व्यास द्वितीय, बीकानेर की भव्या पुरोहित, जोधपुर की लक्षिता कंवर, बीकानेर की शिवानी परिहार तृतीय रहे। अन्डर17 बाॅयज में उदयपुर के भावेश चौधरी प्रथम, उदयपुर के ही अक्षय डांगी व मनवीर महतो द्वितीय, सिरोही के किशोर कुमार व बीकानेर के शोर्य अग्रवाल तृतीय रहे।

अन्डर 19 गर्ल्स में बीकानेर की प्रिया मून्दड़ा, नमिता सिंह भाटी, लक्षिता सुथार एवं जोधपुर की प्रज्ञा कुशवाहा द्वितीय, जोधपुर की सोफिया पटेल, बीकानेर की खूशबू सोलंकी व आर्यी बोहरा तृतीय रही। अन्डर 19 बाॅयज़ में उदयपुर के अंशुल जावा, बीकानेर के मनन माथुर द्वितीय, बीकानेर के सचिन गिरी, हार्दिक मोट्सरा, रिक्षी पन्नू तृतीय रहे।

सीबीएसई में अन्डर 14 बालिका वर्ग में बीकानेर की हेतल कश्यप, उदयपुर की गर्विता अग्रवाल व रितुल मेनारिया तृतीय रही। अन्डर 14 बालक वर्ग में बीकानेर के करण व्यास प्रथम व बीकानेर के ही चन्द्रभान सिंह तृतीय रहे। अन्डर 17 बालिका वर्ग में बीकानेर की विदुशी तिवारी व जोधपुर की मितिक्षा जैन तृतीय रहे। अन्डर 17 बालक वर्ग में बीकानेर के हिमांशु मेहरा द्वितीय एवं उदयपुर के राज कुमावत तृतीय रहे। अन्डर 19 वर्ग में बीकानेर के प्रवीणसिंह कच्छवाहा एवं बीकानेर के ही शरद खत्री तृतीय रहे।

From around the web