रतलाम पुलिस के एसआई द्वारा गोगुन्दा पुलिस पर फायरिंग के मामले का खुलासा

उदयपुर 10 अप्रैल 2019, गत 30 मार्च को रतलाम पुलिस के एसआई वीरेंद्र बंदवाल ने अपने साथी दीपक अग्रवाल के साथ गोगुन्दा पुलिस की नाकाबंदी तोड़कर भागने और गोगुन्दा पुलिस के कांस्टेबल हंसराज मीणा पर फायर कर घायल कर दिया था। गोगुन्दा पुलिस की जवाबी कार्यवाही में एसआई वीरेंद्र और उसका साथी दीपक घायल हो गए थे जिसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। इस दरम्यान पूछताछ में एसआई लगातार गुमराह करता रहा लेकिन आखिरकार पुलिस ने सच्चाई का पता लगा ही लिया।

 

रतलाम पुलिस के एसआई द्वारा गोगुन्दा पुलिस पर फायरिंग के मामले का खुलासा

उदयपुर 10 अप्रैल 2019, गत 30 मार्च को रतलाम पुलिस के एसआई वीरेंद्र बंदवाल ने अपने साथी दीपक अग्रवाल के साथ गोगुन्दा पुलिस की नाकाबंदी तोड़कर भागने और गोगुन्दा पुलिस के कांस्टेबल हंसराज मीणा पर फायर कर घायल कर दिया था। गोगुन्दा पुलिस की जवाबी कार्यवाही में एसआई वीरेंद्र और उसका साथी दीपक घायल हो गए थे जिसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। इस दरम्यान पूछताछ में एसआई लगातार गुमराह करता रहा लेकिन आखिरकार पुलिस ने सच्चाई का पता लगा ही लिया।

दरअसल पुलिस की जांच से स्पष्ट हुआ की एसआई वीरेंद्र बंदवाल के साथी और सर्राफा व्यवसायी दीपक अग्रवाल ने रतलाम के माणक चौक थाने में फालना के लखेंद्र सिंह के खिलाफ तीन करोड़ की धोखाधड़ी का केस कर रखा था। इसी राशि को वसूलने के लिए उसने वीरेंद्र सिंह को तैयार किया था। वीरेंद्र अपने पुलिसकर्मियों के साथ उदयपुर में ट्रक चोरी की एक तफ्तीश के सिलिसिले में उदयपुर आया था। दुसरे सभी साथियो को सूरजपोल थाने में आमद करवाते हुए साथियो के हथियार थाने में जमा करवाए और होटल चले गए। होटल से अपने साथी पुलिसकर्मीयो को गुमराह कर अपनी सर्विस रिवाल्वर लेकर दीपक के साथ फालना के लिए रवाना हो गया।

Download the UT Android App for more news and updates from Udaipur

पुलिस ने बताया की ईसवाल के निकट नाकाबंदी देख भांडा फूटने के डर से यूटर्न कर गलत दिशा में कार दौड़ा दी। और गोगुन्दा पुलिस पर फायर भी कर दिया। बाद में पकड़ में आने पर खूब गुमराह करता रहा लेकिन एएसपी अनंत कुमार के नेतृत्व में उपाधीक्षक प्रेम धनदे, एसआई धनपत सिंह और सायरा पुलिस थानाधिकारी यशवंत सिंह मय टीम ने पाली और फालना ने तफ्तीश करते हुए साक्ष्य जुटाकर आखिरकार सच्चाई सामने आ ही गई। अब इस मामले में आरोपी मध्यप्रदेश के रतलाम के एसआई वीरेंद्र बंदवाल और उसके साथी सर्राफा व्यवसायी दीपक अग्रवाल को गिरफ्तार कर लिया गया है।

From around the web