माही डैम के सोलह गेट खोले गए, भारी वर्षा का अलर्ट

मेवाड़ वागड़ संभाग के भीलवाड़ा, बांसवाड़ा व प्रतापगढ़ में शुक्रवार को भादो में सक्रिय मानसून के चलते भरपूर बरसात के चलते संभाग के बांसवाड़ा जिले में स्थित माही डैम के सभी सोलह गेट खोल दिए गए है। 14 गेट 7-7 मीटर जबकि दो गेट 1-1 मीटर खोले गए है। वहीँ प्रतापगढ़ में पिछले तीन दिन से बारिश का दौर जारी है। माही बांध के गेट खोलने से प्रतापगढ़ के पीपलखूंट व धरियावद क्षेत्रों में अलर्ट कर दिया गया है।

 

माही डैम के सोलह गेट खोले गए, भारी वर्षा का अलर्ट

मेवाड़ वागड़ संभाग के भीलवाड़ा, बांसवाड़ा व प्रतापगढ़ में शुक्रवार को भादो में सक्रिय मानसून के चलते भरपूर बरसात के चलते संभाग के बांसवाड़ा जिले में स्थित माही डैम के सभी सोलह गेट खोल दिए गए है। 14 गेट 7-7 मीटर जबकि दो गेट 1-1 मीटर खोले गए है। वहीँ प्रतापगढ़ में पिछले तीन दिन से बारिश का दौर जारी है। माही बांध के गेट खोलने से प्रतापगढ़ के पीपलखूंट व धरियावद क्षेत्रों में अलर्ट कर दिया गया है।

मौसम विभाग के अनुसार बांसवाड़ा, बारां, भीलवाड़ा, बूंदी, चित्तौड़गढ़, डूंगरपुर, झालावाड़, करौली, कोटा, प्रतापगढ़, राजसमंद, सवाईमाधोपुर, सिरोही, टोंक व उदयपुर में दो दिन यानी शुक्रवार व शनिवार को भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। इनमें बांसवाड़ा, बारां, भीलवाड़ा, बूंदी, डूंगरपुर, झालावाड़, कोटा, प्रतापगढ़ में भारी से भारी बारिश का अलर्ट है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार बांसवाड़ा में बारिश हो रही है। जिले के माही बांध के शुक्रवार को 16 गेट खोले गए। बांसवाड़ा के घाटोल में ही इस सीजन में अब तक 44 इंच बारिश हो चुकी है। घाटोल में पिछले 24 घंटों में शुक्रवार प्रातः 8:00 बजे तक 80 मिमी व भुगड़ा में 90 मिमी बारिश हुई। पिछले 10 वर्षों में घाटोल में 893.10, भुगड़ा में 916.10, जगपुरा में 849.10 वर्षा हुई है। जिले में सर्वाधिक वर्षा घाटोल विधानसभा क्षेत्र में इस वर्ष हुई है। घाटोल क्षेत्र में पिछले 24 घंटों में लगातार बारिश होने की वजह से नदी-नाले उफान पर हैं। प्रत्येक छोटे-बड़े बांधों में पूर्ण भराव क्षमता हो चुकी है। क्षेत्र का सबसे बड़ा हेरो डैम ओवर फ्लो होने की वजह से घाटोल-उदयपुर मार्ग बंद है। ओवरफ्लो की वजह से वाहनों की लंबी कतारें लग गई हैं जिन्हें बांसवाड़ा से उदयपुर जाना पढ़ रहा है।

Download the UT Android App for more news and updates from Udaipur

जबकि उदयपुर शहर में पिछोला झील में सीसारमा नदी से आवक के चलते और फतहसागर में मदार में पानी की आवक के चलते दोनों झीले लबालब है और यहाँ से पानी आयड़ नदी के रास्ते उदयसागर में पहुँच रहा है। उदयसागर झील के गेट भी खुले हुए है। यहाँ का पानी वल्लभनगर बांध में पहुँच रहा है। वल्लबनगर बांध पर भी चादर चल रही है। दूसरी तरफ बड़ी झील का जलस्तर भी लगभग 25 फिट तक पहुँच चूका है।

From around the web