आदमखोर पैंथर का आतंक, बच्ची बनी शिकार

वन विभाग की परसाद रेंज में घूम रहे आदमखोर पैंथर ने लगातार ग्रामीणों पर हमला कर अपना शिकार बना रहा है। आदमखोर पैंथर का यह पिछले बीस दिनों में तीसरा शिकार है। आज पैंथर ने पडूणा गांव के बादरा फला की पहाड़ी पर 13 वर्षीया किशोरी कल्पना पुत्री सोमा को अपना शिकार बनाया।

 

आदमखोर पैंथर का आतंक, बच्ची बनी शिकार

उदयपुर,13 अगस्त 2019 । वन विभाग की परसाद रेंज में घूम रहे आदमखोर पैंथर ने लगातार ग्रामीणों पर हमला कर अपना शिकार बना रहा है। आदमखोर पैंथर का यह पिछले बीस दिनों में तीसरा शिकार है। आज पैंथर ने पडूणा गांव के बादरा फला की पहाड़ी पर 13 वर्षीया किशोरी कल्पना पुत्री सोमा को अपना शिकार बनाया।

पैंथर के लगातार ग्रामीणों पर हमले कर शिकार करने पर गुस्साए ग्रामीणों ने अहमदाबाद हाईवे जाम कर दिया और पहाड़ी पर ही बैठ गए। आस-पास के गांवों से 1000 से ज्यादा ग्रामीण इकट्ठे हो गए। ग्रामीणों ने पैंथर को पकड़ने और मारने की मांग की और जब तक ऐसा नहीं होगा, शव उठाने से मना कर दिया। मौके पर पडूणा सरपंच लालूराम सहित अन्य जनप्रतिनिधि भी पहुंच गए।

हाईवे पर जाम, पथराव में पुलिस घायल

ग्रामीणों ने पैंथर को पकड़ने की मांग करते हुए हाईवे जाम कर लिया जिससे कई किलोमीटर तक जाम लग गया। कानून व्यवस्था सँभालने के लिए पुलिस अधिकारी समेत तीन थानों की पुलिस भारी जाब्ता के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस ने जाम खुलवाने का प्रयास किया तो ग्रामीणों ने पुलिस पर ही पथराव कर दिया। पथराव में एडीशनल एसपी अनंत कुमार, एसएचओ उमेश चन्द्र सहित अन्य पुलिसकर्मियों के पत्थर लगने से घायल हो गए। ग्रामीणों ने पुलिस की गाड़ियों के साथ भी तोड़फोड़ की और आग लगा दी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार बादरा फला की पहाड़ी पर मवेशियों को चरा रहे युवक ने बताया कि उसने कल्पना की तीन बार चीखें सुनी, चौथी चीख आती, तब तक पैंथर ने उसे गले से दबोच कर मार दिया। वह दौड़कर कल्पना की ओर भागा तो देखा की पैंथर उसे घसीटते हुए झाड़ियों की तरफ ले जा रहा था। यह देख कर वह कांप गया और दौड़कर पहाड़ी से उतरा और ग्रामीणों को मदद के लिए बुलाया। ग्रामीणों के पहुंचने की आहट से पैंथर कल्पना की लाश को झाड़ियों में छोड़कर भाग गया।

मवेशी को छोड़ किशोरी पर किया हमला

ग्रामीणों ने बताया कि पडूणा गांव की बादरा फला निवासी कल्पना बकरिया चराने गांव की पहाड़ी पर गयी थी। वहां पहले से घात लगाए बैठे आदमखोर पैंथर ने बकरियों पर तो हमला नहीं किया, लेकिन कल्पना पर हमला कर उसे मार दिया और 100 फीट तक घसीटते हुए झाड़ियों में ले गया। कल्पना की चीख सुनकर कुछ दूर पहाड़ी पर मवेशियों को चरा रहे युवक ने वहां पैंथर को देखा तो ग्रामीणों को बुलाया।

From around the web