सलूम्बर में मासूम के साथ बलात्कार के दो आरोपी गिरफ्तार

उदयपुर जिले के सलूम्बर थाना क्षेत्र के गांव में 15 अगस्त बुधवार को 10 वर्षीया मासूम बच्ची के बलात्कार के दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। मासूम बच्ची के साथ हुए बेहद घिनौने कृत्य के बाद सलूम्बर सहित उदयपुर में भी लोगो में रोष व्याप्त था। मासूम बच्ची के साथ बलात्कार की घटना ने सबको झकझोर के रख दिया था।

 

सलूम्बर में मासूम के साथ बलात्कार के दो आरोपी गिरफ्तार

उदयपुर जिले के सलूम्बर थाना क्षेत्र के गांव में 15 अगस्त बुधवार को 10 वर्षीया मासूम बच्ची के बलात्कार के दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। मासूम बच्ची के साथ हुए बेहद घिनौने कृत्य के बाद सलूम्बर सहित उदयपुर में भी लोगो में रोष व्याप्त था। मासूम बच्ची के साथ बलात्कार की घटना ने सबको झकझोर के रख दिया था।

उक्त घटना को लेकर सलूम्बर में ग्रामीणों और कस्बे के लोगो ने अपनी दुकाने भी बंद राखी थी। लोगो की मांग थी की पुलिस जल्द से जल्द तुरंत कार्यवाही कर आरोपियो को सींखचों के पीछे भेजे। पुलिस ने भी सघन अभियान छेड़ कर करीब 30 संदिग्धों की धर पकड़ कर पूछताछ की और एस एफ एल टीम और डॉग स्क्वाड की मदद से एवं मनोवैज्ञानिक तरीके से गहनता से जाँच कर 21 वर्षीय पिपिया निवासी गेबीलाल पुत्र कन्ना मीणा और 23 वर्षीय कुराबड़ निवासी प्रकाश उर्फ़ पक्या मीणा पुत्र रामा मीणा को गिरफ्तार कर लिया। उक्त अपराध में लिप्त एक और अपराधी शंकर पुत्र कालू सिंह मीणा अभी पुलिस की गिरफ्त से फरार है।

उल्लेखीनय है की 15 अगस्त 2018 को एक 10 वर्षीया मासूम बालिका जंगल में बकरियां चराने गई थी तभी दोपहर करीब दो बजे मुंह पर रुमाल बांध कर गेबीलाल, प्रकाश उर्फ़ पक्या बच्ची को बहला फुसला कर जंगल में ले जाकर उसके साथ बलात्कार किया। आवाज़ करने पर हैवानो ने बच्ची के मुंह पर कपडा बांध दिया और बाद में वहां से भाग छूटे। रोती बिलखती बच्ची ने घर पर आकर आपबीती सुनाई तो लहूलुहान बच्ची को परिजन गींगला सामुदायिक स्वाथ्य केंद्र ले गए। जहाँ मासूम की नाज़ुक हालत को देखते हुए सलूम्बर रेफर किया जहाँ से प्रारम्भिक उपचार के बाद उदयपुर रेफर किया गया। बच्ची की हालत नाज़ुक बताई जा रही है।

Click here to Download the UT App

घटना पर राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष मनन चतुर्वेदी ने संज्ञान लेकर मामले की सम्पूर्ण रिपोर्ट आयोग को भेजने सहित बालिका के स्वास्थ्य एवं मुलजिम की जल्द गिरफ़्तारी के आदेश जिला पुलिस अधीक्षक को दिए थे। चतुर्वेदी ने घटना को दुखद बताते हुए मामले को गंभीरता से लिया है। पीड़िता के परिजनों को नियमानुसार दी जाने वाली सहयता मुहैया करवाने के निर्देश भी अधिकारियो को दिए है।

From around the web