क्रिटिकल मतदान केन्द्रों पर विभिन्न व्यवस्थाओं के हो पुख्ता इंतजाम

उदयपुर, 24 अप्रेल 2019 जिले के क्रिटिकल मतदान केन्द्रों पर निष्पक्ष एवं शांतिपूर्वक मतदान सुनिश्चित करने के लिए नियुक्त माइक्रो ऑब्ज़र्वर के प्रशिक्षण का दूसरा चरण बुधवार को नगर निगम के सभागार में आयोजित हुआ। इस अवसर पर भारत निर्वाचन आयोग की ओर से चित्तौड़गढ़ लोकसभा क्षेत्र के लिए नियुक्त प्रेक्षक मिनहाज आलम, प्रशिक्षण प्रकोष्ठ प्रभारी रामजीवन मीणा व क्रिटिकल मतदान केन्द्र प्रकोष्ठ प्रभारी दीपक मेहता भी उपस्थित रहे।

 

क्रिटिकल मतदान केन्द्रों पर विभिन्न व्यवस्थाओं के हो पुख्ता इंतजाम

उदयपुर, 24 अप्रेल 2019 जिले के क्रिटिकल मतदान केन्द्रों पर निष्पक्ष एवं शांतिपूर्वक मतदान सुनिश्चित करने के लिए नियुक्त माइक्रो ऑब्ज़र्वर के प्रशिक्षण का दूसरा चरण बुधवार को नगर निगम के सभागार में आयोजित हुआ। इस अवसर पर भारत निर्वाचन आयोग की ओर से चित्तौड़गढ़ लोकसभा क्षेत्र के लिए नियुक्त प्रेक्षक मिनहाज आलम, प्रशिक्षण प्रकोष्ठ प्रभारी रामजीवन मीणा व क्रिटिकल मतदान केन्द्र प्रकोष्ठ प्रभारी दीपक मेहता भी उपस्थित रहे।

इस अवसर पर मौजूद 143 माइक्रो ऑब्ज़र्वर को भारत निर्वाचन आयोग की गाइडलाइन के दिशा-निर्देशानुसार क्रिटिकल मतदान केन्द्रों पर निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण मतदान के साथ सभी आवश्यक सुविधाओं की उपलब्धता की जांच सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

प्रशिक्षण के दौरान मतदान दिवस को मतदान प्रारंभ होने से कम से कम 1 घंटे पूर्व माइक्रो ऑब्ज़र्वर को मतदान केंद्र पहुंच कर मतदान केंद्र मतदान के लिए तैयार हैं या नहीं इसकी जांच करने के साथ ही मतदान केंद्र पर आवश्यक न्यूनतम सुविधाओ की उपलब्धता की जांच कर प्रमाण पत्र देने संबंधी निर्देश भी प्रदान किए गए। माइक्रो ऑब्ज़र्वर को भारतीय निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार मतदान से पूर्व माॅक पाॅल कराने की जांच के भी निर्देश दिए गए।

Download the UT Android App for more news and updates from Udaipur

भारत निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देशानुसार मतदाताओं की पहचान, मतदाताओं के बाएं हाथ की तर्जनी पर सही ढंग सही ढंग से लगने वाली अमिट स्याही और उसे मतदाताओं द्वारा हटाया नहीं जा रहा है, इसकी भी जांच माइक्रो ऑब्ज़र्वर सुनिश्चित करेंगे। माइक्रो ऑब्ज़र्वर को यह भी सुनिश्चित करना होगा कि वीवीपैट में मतों का प्रदर्शन सही हो रहा है अथवा नहीं एवं मॉक पोल में डाले गए मतों की गिनती का मिलान वीवीपैट से निकाली गई पर्चियों से होता है या नही। मॉक पोल कराने के पश्चात माॅक पोल के दौरान कंट्रोल यूनिट में डाले गए मतों को क्लियर कर लिया गया है एवं पीठासीन अधिकारी द्वारा माॅक पोल प्रमाण पत्र पर हस्ताक्षर की जांच भी माइक्रो ऑब्ज़र्वर को ही करनी होगी।

मतदान दिवस को दिनभर की महत्वपूर्ण घटनाओं को निर्धारित प्रपत्र पत्र में अंकित करने के निर्देश दिए गए। किसी भी स्थिति में माइक्रो ऑब्जर्वर पीठासीन अधिकारी एवं मतदान अधिकारी के रूप में कार्य नहीं करें, इस बात का विशेष ध्यान रखने के साथ माइक्रो ऑब्ज़र्वर को समय-समय पर मोबाइल से मतदान केन्द्र पर होने वाली विविध गतिविधियों के बारे में बताने मतदान समाप्ति के पश्चात सामान्य पर्यवेक्षक को पर्यवेक्षक को अपनी रिपोर्ट सौंपने तथा पीठासीन अधिकारी की डायरी से स्क्रूटनी होने पर माइक्रो ऑब्ज़र्वर को भी स्क्रूटनी में उपस्थित रहने के निर्देश प्रदान किए गए।

From around the web