उदयपुर जिले में चुनावी रण में 62 प्रत्याशियों की आज़माइश कल

विधानसभा आम चुनाव 2018 के तहत् शुक्रवार को जिले की आठ विधानसभाओं में होने वाले मतदान के तहत उदयपुर जिलें में 62 प्रत्याशी चुनावी रण में अपना भाग्य आजमाएंगे। मतदान 7 दिसंबर की सुबह 8 बजे से प्रारंभ होकर सायं 5 बजे तक चलेगा। निर्वाचन विभाग के अनुसार जिले की उदयपुर से विधानसभा क्षेत्र में 11 प्रत्याशी, उदयपुर ग्रामीण में 6, खेरवाड़ा में 5, सलुम्बर में 10, मावली में 9, वल्लभनगर में 7, झाडोल में 6 तथा गोगुन्दा में 8 प्रत्याशी चुनावी मैदान में हैं।

 

उदयपुर जिले में चुनावी रण में 62 प्रत्याशियों की आज़माइश कल

विधानसभा आम चुनाव 2018 के तहत् शुक्रवार को जिले की आठ विधानसभाओं में होने वाले मतदान के तहत उदयपुर जिलें में 62 प्रत्याशी चुनावी रण में अपना भाग्य आजमाएंगे। मतदान 7 दिसंबर की सुबह 8 बजे से प्रारंभ होकर सायं 5 बजे तक चलेगा। निर्वाचन विभाग के अनुसार जिले की उदयपुर से विधानसभा क्षेत्र में 11 प्रत्याशी, उदयपुर ग्रामीण में 6, खेरवाड़ा में 5, सलुम्बर में 10, मावली में 9, वल्लभनगर में 7, झाडोल में 6 तथा गोगुन्दा में 8 प्रत्याशी चुनावी मैदान में हैं।

सबसे हॉट कही जाने वाली उदयपुर शहर की विधानसभा सीट से मुख्य मुकाबला भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की गिरिजा व्यास और भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार और गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया के बीच होना है। इस सीट से से जनता सेना के दलपत सुराणा, आप के भरत कुमावत और निर्दलीय प्रवीण रतलिया ने भी चुनाव प्रचार में जान फूँक कर चुनाव को रोचक बना लिया है।

कांग्रेस की गिरिजा व्यास का चुनाव चिन्ह् हाथ, भारतीय जनता पार्टी के गुलाबचन्द कटारिया का चुनाव चिन्ह् कमल, बहुजन समाज पार्टी के पुष्करलाल का चुनाव चिन्ह् हाथी, शिवसेना की डिम्पल राठौड़ का चुनाव चिन्ह् तीर-कमान, जनता सेना राजस्थान के दलपत सिंह सुराणा का चुनाव चिन्ह् कड़ाही, आम आदमी पार्टी के भरत कुमावत का चुनाव चिन्ह् झाडू, जनतादल (सेक्यूलर) के रामचन्द्र सालवी का चुनाव चिन्ह् सिर पर धान ले जाती हुई कृषक महिला, निर्दलीय प्रत्याशी कालुलाल सालवी का गैस सिलेण्डर, दौलतराम साहु का बेल्ट, प्रवीण रातलिया का चाबी व राजेन्द्र वैष्णव का चुनाव चिन्ह् कुआँ है।

उदयपुर ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र में भी मुख्य मुकाबला भाजपा-कांग्रेस के मध्य ही है। यहाँ से भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के विवेक कटारा का चुनाव चिन्ह् हाथ, भारतीय जनता पार्टी के फूलसिह मीणा का चुनाव चिन्ह् कमल, कम्युनिस्ट पार्टी आॅफ इंडिया के घनश्याम सिंह तावड़ का चुनाव चिन्ह् बाल और हाॅसिया, बसपा के लक्ष्मण का हाथी, बहुजन मुक्ति पार्टी के प्रभुलाल मीणा का गैस सिलेण्डर तथा जनता सेना राजस्थान के सोमेश्वर मीणा का चुनाव चिन्ह कड़ाही है।

खेरवाड़ा विधानसभा क्षेत्र में भी वैसे तो मुकाबला कांग्रेस और भाजपा के बीच है। लेकिन इस सीट से दोनों हो दलों को भितराघात से खतरा है, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के दयाराम परमार का चुनाव चिन्ह् हाथ, भारतीय जनता पार्टी के नानालाल अहारी का चुनाव चिन्ह् कमल, बसपा की सविता का हाथी, भारतीय ट्राइबल पार्टी की प्रवीण कुमार परमार का आॅटो-रिक्शा व आप की सविता परमार का चुनाव चिन्ह झाडू का आवंटन किया गया है।

Download the UT Android App for more news and updates fromUdaipur

सलूम्बर विधानसभा क्षेत्र में इस बार मुकबला त्रिकोणीय देखे दे रहा है। कांग्रेस की बागी और निर्दलीय के रूप में चुनाव लड़ रही रेशमा मीणा ने काफी रोचक स्थिति पैदा कर है। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के रघुवीर सिंह मीणा का चुनाव चिन्ह् हाथ, भारतीय जनता पार्टी के अमृतलाल मीणा का चुनाव चिन्ह् कमल, बसपा के सोमालाल मीणा का हाथी, कम्यूनिस्ट पार्टी आॅफ इण्डिया के गोविन्द कलासुआ का बाल और हाॅसिया, जनता सेना राजस्थान की गंगा देवी का कड़ाही, कम्यूनिस्ट पार्टी आॅफ इण्डिया (मार्क्ससिस्ट-लेनेनिस्ट) (लिब्रेशन) के देवीलाल मीणा का ट्रेक्टर चलाता किसान, शिवसेना के लक्ष्मणलाल का तीर-कमान, भारतीय युवा शक्ति के लालचंद मीणा का बल्ला, आॅल इण्डिया हिन्दुस्तान कांग्रेस पार्टी के लालूराम भील का कलम की निब सात किरणों के साथ तथा निर्दलीय रेशमा मीणा का चुनाव चिन्ह अलमारी है।

मावली विधानसभा क्षेत्र में मुख्य मुकाबला दोनों मुख्य पार्टियों कांग्रेस और बीजेपी के बीच ही तय है। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के पुष्कर लाल डांगी का चुनाव चिन्ह् हाथ, भारतीय जनता पार्टी के धर्मनारायण जोशी का चुनाव चिन्ह् कमल, बसपा के चुन्नीलाल का हाथी, कम्यूनिस्ट पार्टी आॅफ इण्डिया के जीवराज का धान की बाली और हाॅसिया, राजस्थान जनता पार्टी के तुलसीराम भील का जूता, आप के प्रेमशंकर का झाडू, शिवेसना के मदनलाल का तीर-कमान, भारत वाहिनी पार्टी के विजय शर्मा का बांसुरी तथा निर्दलीय देवीलाल गायरी का चुनाव चिन्ह चाबी है।

सबसे रोचक मुकाबला वल्लभनगर विधानसभा क्षेत्र में होने की सम्भावना है। यहाँ मुकाबला त्रिकोणीय है वर्तमान विधायक और जनता सेना सुप्रीमो महाराजा रणधीर सिंह भिंडर का मुकाबला कांग्रेस के गजेंद्र सिंह शक्तावत और भाजपा के उदयलाल डांगी के बीच तय है। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के गजेन्द्र सिंह शक्तावत का चुनाव चिन्ह् हाथ, भारतीय जनता पार्टी के उदयलाल डांगी का चुनाव चिन्ह् कमल, बसपा के मुकेश का हाथी, जनता सेना के म. रणधीर सिंह भीण्डर का कड़ाही, शिवसेना के पन्नालाल का तीर-कमान, निर्दलीय के दूदा डांगी का ट्रेक्टर चलाता किसान व बाबरू मीणा का चुनाव चिन्ह रोड रोलर है।

झाड़ोल विधानसभा क्षेत्र में मुख्य मुकाबला बीजेपी कांग्रेस के मध्य ही है। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के सुनिल कुमार भजात का चुनाव चिन्ह् हाथ, भारतीय जनता पार्टी के बाबूलाल का चुनाव चिन्ह् कमल, बसपा के नीमालाल का हाथी, कम्यूनिस्ट पार्टी आॅफ इण्डिया (मार्क्ससिस्ट) के शंकरलाल पारगी का हथौड़ा, हसिया एवं सितारा, आप के लाडूराम का झाडू तथा निर्दलीय सोहनलाल का चुनाव चिन्ह अलमारी है।

गोगुन्दा विधानसभा क्षेत्र में भी दोनों पार्टियों कांग्रेस और भाजपा के बीच ही मुकाबला होना है। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के डाॅ. मांगीलाल गरासिया का चुनाव चिन्ह् हाथ, भारतीय जनता पार्टी के प्रतापलाल भील (गमेती) का चुनाव चिन्ह् कमल, बसपा के चम्पाराम का हाथी, कम्यूनिस्ट पार्टी आॅफ इण्डिया के लहरा भील का बाल और हाॅसिया, जनता सेना राजस्थान के प्रकाश कुमार का कड़ाही, आप की रेखा भील का झाडू, निर्दलीय बत्तीलाल मीणा को ऑटो व बिरदीलाल छानवाल का चुनाव चिन्ह गैस सिलेण्डर है।

From around the web