कलक्टर ने की जिला जल एवं स्वच्छता मिशन कार्यों की समीक्षा

कलक्टर ने की जिला जल एवं स्वच्छता मिशन कार्यों की समीक्षा

कहा - पेयजल उपलब्ध करवाना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता बनें

 
jila jal mission

उदयपुर 24 मई 2022 । जिला कलक्टर ताराचंद मीणा ने कहा है कि राज्य सरकार की मंशाओं के अनुसार इस ग्रीष्म ऋतु दौरान जिलेवासियों को पेयजल उपलब्ध कराना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता बनें और जल जीवन मिशन सहित ‘हर घर नल कनेक्शन‘ के आवंटित लक्ष्यों को पूरा करते हुए अधिकारी-कर्मचारी आम जनता को राहत दें तभी मिशन का उद्देश्य सार्थक होगा।

कलक्टर मीणा मंगलवार को जिला जल एवं स्वच्छता मिशन की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर उन्होंने अब तक प्राप्त हुए लक्ष्यों और इस पर की गई कार्यवाही की समीक्षा की करते हुए संबंधित विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिले में लक्ष्यों से पिछड़े सभी ब्लॉक्स पर फोकस रखते हुए डीपीआर निर्माण के कार्यों को अंजाम दें ताकि उस क्षेत्र के निवासियों को पेयजल उपलब्ध कराते हुए राहत दी जा सके।

उन्होंने विभागीय अधिकारियों को जनता जल योजना, जल जीवन मिशन के अंतर्गत जलापूर्ति के लिए किए जाने वाले प्रबंधों और लक्ष्यों के अनुरूप कार्य प्रगति की जानकारी लेकर निर्देश दिए कि योजनाओं के संचालन की स्थिति की नियमित समीक्षा करें व जल कनेक्शन के लक्ष्यों को जल्द से जल्द पूर्ण किया जावें।

बैठक दौरान जिला परिषद सीईओ मयंक मनीष ने स्कूलों, आंगनवाड़ी केन्द्रों में जलापूर्ति व्यवस्थाएं करवाने के साथ-साथ जनता जल योजना के तहत बिजली बिलों के भुगतान, वाटर रिचार्ज एवं जल संरक्षण के कार्यों, डिस्ट्रिक्ट एक्शन प्लान, जेजेएम के कार्यो के थर्ड पार्टी इंस्पैक्शन के बारे में भी आवश्यक निर्देश दिए गए।

बैठक में अधीक्षण अभियंता विपिन जैन ने जल जीवन मिशन के तहत जिले के 876 गांवों को लाभान्वित करने के भेजे गए प्रस्तावों पर 794 गांवों के 1037.84 करोड़ के प्रस्तावों को स्वीकृत किए जाने की जानकारी दी और बताया कि जिले में वर्ष 2024 तक 5 लाख 46 हजार नल कनेक्शन के लक्ष्य पर अब तक 86 हजार 476 कनेक्शन किए जा चुके हैं। उन्होंने जिले में समस्त 2492 गांवों में ग्राम जल स्वच्छता समिति के गठन और विलेज एक्शन प्लान तैयार होने के बारे में भी बताया। बैठक में जिला परिषद सीईओ मयंक मनीष और समस्त संबंधित अभियंता मौजूद थे।

पेयजलापूर्ति की समस्या आने ही न दें

जिला कलक्टर मीणा ने जिले के विभिन्न ब्लॉक्स में पेयजलापूर्ति के लिए की जा रही व्यवस्थाओं और टैंकर्स से जलापूर्ति की समीक्षा की और अधिकारियों को निर्देश दिए कि अधिकारी अपने-अपने क्षेत्र पर नज़र रखें और किसी क्षेत्र विशेष में पेयजलापूर्ति संबंधित समस्या आने से पहले ही टैंकर्स से जलापूर्ति की व्यवस्थाएं कर लें ताकि लोगों को परेशानी का सामना ही न करना पड़े। 

कलक्टर ने सलूंबर क्षेत्र में पेयजलापूर्ति की समीक्षा की तो संबंधित अभियंता ने यहां पर 35 टैंकर्स से जलापूर्ति किए जाने और जयसमंद से सलूंबर शहर को जलापूर्ति के लिए रिवाइज्ड स्कीम तैयार कर भेजे जाने की जानकारी दी। कलक्टर ने इस दौरान मावली क्षेत्र में जलापूर्ति की समस्या पर 34 टैंकर्स से आपूर्ति की जानकारी लेने के साथ ही गिर्वा, कुराबड, गोगुंदा, बड़गांव, भींडर, वल्लभनगर, भटेवर आदि क्षेत्रों में जलापूर्ति की आ रही समस्याओं पर प्रभावी कार्यवाही के निर्देश दिए।

सलूंबर तालाब सौंदर्यीकरण का प्रोजेक्ट 7 दिनों में तैयार कर प्रस्तुत करें

बैठक के दौरान कलक्टर मीणा ने सलूंबर के तालाब के पानी की आवक और इसके उपयोग के बारे में जल संसाधन विभागीय अधिकारियों से जानकारी ली और इसके पर्यटन स्थल हाड़ा रानी महल के पीछे स्थित होने और इसको साफ सुथरा बनाने की आवश्यकता जताते हुए इसके सौंदर्यीकरण के निर्देश दिए। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को नगरपालिका के अधिकारियों के साथ बैठक कर 7 दिनों में प्रोजेक्ट तैयार कर प्रस्तुत करने के लिए भी पाबंद किया।
सतही जल रोकने होगी सर्वे:

कलक्टर ने सतही जल को रोकने के लिए सर्वे के लिए दिए निर्देशों पर जल संसाधन विभाग द्वारा की जा रही कार्यवाही की प्रगति के बारे में भी पूछा और निर्देश दिए कि वे बड़े एनीकटों के साथ-साथ छोटे-छोटे स्ट्रक्चर के निर्माण के लिए भी सर्वे कर लें ताकि अन्य विभागों के साथ समन्वय कर जल संग्रहण के लिए ऐसे स्ट्रक्चर्स तैयार करवाएं जा सकें।  

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  WhatsApp |  Telegram |  Signal

From around the web