अर्बनाइजेशन कार्यों में एक्सपर्टाइज हासिल करें अधिकारी - आयोग


अर्बनाइजेशन कार्यों में एक्सपर्टाइज हासिल करें अधिकारी - आयोग

राज्य वित्त आयोग की नगर निकायों के साथ संभाग स्तरीय बैठक संपन्न

 
STATE FINANCE COMMISION
UT WhatsApp Channel Join Now

संभाग के सभी कलेक्टर्स, निकाय अध्यक्ष, आयुक्त, ईओ रहे मौजूद

उदयपुर 25 अगस्त। षष्टम राज्य वित्त आयोग सदस्य लक्ष्मण सिंह रावत और अशोक लाहोटी ने उदयपुर के अपने दो दिवसीय दौरे के दूसरे दिन गुरुवार को नगर निकायों के साथ संभाग स्तरीय बैठक ली। 

उदयपुर नगर निगम सभागार में आयोजित बैठक दौरान एसएफसी फंड से अपेक्षाओं और सुझावों पर चर्चा की गई। बैठक में नगरीय विकास के सम्बन्ध में आने वाली समस्याएं, विभिन्न नगर निकायों द्वारा किये गए नवाचारों और बेस्ट प्रेक्टिसेस, सर्विस डिलीवरी बेहतर करने और रेवेन्यू कलेक्शन के नए स्रोतों के सृजन आदि पर विस्तार से विमर्श हुआ। इस दौरान संभागीय आयुक्त राजेंद्र भट्ट, संभाग के सभी जिलों के जिला कलेक्टर, नगर निकायों के सभापति, अध्यक्ष, आयुक्त, अधिशाषी अधिकारी आदि मौजूद रहे।

महापौर ने दी नगर में हो रहे विकास की जानकारी

नगर निगम महापौर जी एस टांक ने ट्रीटेड जल के उपयोग, नवाचारों, सुझावों आदि पर बात की। टांक ने उदयपुर नगर में नगरवासियों के लिए किये जा रहे नवीन प्रयासों की विस्तार से सभी को जानकारी दी। उप महापौर पारस सिंघवी ने उदयपुर में हो रहे स्मार्ट सिटी के कार्यों को प्रदेश में सर्वाेत्तम बताया। 

नगर निगम आयुक्त उदयपुर हिम्मत सिंह बारहठ ने टाईड फण्ड, सभी 70 वार्डों में घर-घर कचरा संग्रहण हेतु किये जा रहे कार्यों आदि की जानकारी दी। उन्होंने कमर्शियल प्रोपर्टीज से कचरा संग्रहण हेतु किये गए नवाचार की भी जानकारी दी, जिसकी सभी ने प्रशंसा की। इसी तरह अन्य नगर पालिकाओं के अध्यक्षों ने भी सुझाव दिए।

आयुक्त और ईओ ने दिए सुझाव

बैठक में संभाग के समस्त नगर परिषदों और नगर पालिकाओं के आयुक्त और ईओ पहुंचे। इस दौरान उन्होंने अपने नगर निकायों द्वारा किये जा रहे उल्लेखनीय कार्यों पर प्रकाश डाला। ईओ निम्बाहेडा ने लैंड बैंक, वोटर रिस्टोरेशन, 80 भूखंडों की नीलामी, दुकानों की नीलामी और मार्च 2023 तक होने वाली संभावित आय की जानकारी दी। उन्होंने ले आउट प्लान, रिज़र्व लेंड के सदुपयोग, फ्री लीज़ होल्ड आदि को लेकर आवश्यक सुझाव दिए। ऐसे ही चित्तौड़गढ़ नगर परिषद् आयुक्त ने शत प्रतिशत घर-घर कचरा संग्रहण, चौपाटी निर्माण से आय वृद्धि, ई ऑक्शन, सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट, आउटडोर विज्ञापन आदि को लेकर अपनी बात कही।

कलेक्टर्स ने बताए सुविधाओं को बेहतर करने के उपाय

उदयपुर कलक्टर ताराचंद मीणा ने सीवरेज, सीएसआर के तहत कार्य, आउटडोर एड से अतिरिक्त आय की अपार संभावनाओं आदि पर अपने सुझाव दी। बांसवाडा कलक्टर प्रकाश चंद्र शर्मा ने विभिन्न कार्यों हेतु एक्सपर्ट लोगों की कमी होने की समस्याओं से अवगत कराया। डूंगरपुर कलक्टर इंद्रजीत यादव ने टेक्स कलेक्शन के नए साधन और ऑनलाइन टेक्स कलेक्शन पर विचार व्यक्त किये। इसी तरह राजसमन्द कलक्टर नीलाभ सक्सेना और प्रतापगढ़ कलक्टर सौरभ स्वामी ने भी सुझाव दिए।

एसएफसी अपेक्षाओं पर अवश्य खरा उतरेगा

वित्त आयोग सदस्य लक्ष्मण सिंह रावत ने नगर निकायों को कहा कि एसएफसी निकायों की अपेक्षाओं पर अवश्य खरा उतरेगा। साथ ही नगर निकाय अपने नए आय के स्रोत भी सृजन करें एवं अपने इलाकों को बेहतर बनाएं और सर्विस डिलेवरी संतुष्टिजनक करें। उन्होंने रेवेन्यु के विभिन्न स्रोत जैसे एमपीलेड, एमएलएलेड, आतंरिक कर, कर राजस्व, गैर कर राजस्व, भूमि नीलामी, जुर्माने, दंड, किराया, ब्याज, लीज़, खनिज रोयल्टी, बाध्यकारी कर, मनोरंजन कर, होटल्स से कर वसूली, पार्किंग कर आदि पर अपने सुझाव व्यक्त किये।

रावत ने भविष्य की समस्याओं पर डाला प्रकाश

उन्होंने भी भविष्य में पार्किंग की समस्या पर प्रकाश डाला और इस हेतु अभी से कार्य करने के लिए कहा। उन्होंने सभी जिला कलेक्टर से सुझावों को लिखित में आयोग भेजने हेतु आग्रह किया। अंत में उदयपुर कलेक्टर ताराचंद मीणा ने सभी का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि इस बैठक से निश्चित रूप से निकायों के कार्य में बेहतरी देखने को मिलेगी।

शहरीकरण में अधिकारियों को एक्सपर्ट होना होगा-लाहोटी

षष्टम राज्य वित्त आयोग सदस्य अशोक लाहोटी ने कहा कि शहर निरंतर बढ़ रहे हैं और आने वाला समय शहरीकरण का है। ऐसे में अधिकारियों को शहरीकरण के सम्बन्ध में एक्सपर्ट होना पड़ेगा, ऐसे अधिकारियों की सरकार को बहुत जरूरत है जो बेहतर टाउन प्लानिंग के लिए कार्य कर सकें। उन्होंने बढ़ती आबादी की समस्या पर प्रकाश डालते हुए ट्राफिक जाम और पार्किंग की समस्याओं पर प्रकाश डाला और इस दिशा में सभी निकायों से कार्य करने का आह्वान किया।  

रेवेन्यू कलेक्शन के नए उपाय सुझाए

लाहोटी ने रेवेन्यु कलेक्शन के नए उपायों को लेकर सुझाव दिए। उन्होंने कहा कि उदयपुर में पर्यटन विकास की अपर संभावना है और टूरिज्म से निकायों को अच्छी आय हो सकती है। संभागीय आयुक्त राजेंद्र भट्ट ने अर्बन डेवेलपमेंट टेक्स, शहरों में सुविधाओं को विस्तार करने के नवीन उपायों, आय बढ़ाने के साधन आदि पर विचार व्यक्त किये।

उदयपुर बैठक की व्यवस्थाओं को आयोग ने सराहा

बैठक में षष्टम राज्य वित्त आयोग सदस्य लक्ष्मण सिंह रावत और अशोक लाहोटी ने उदयपुर में बुधवार को पंचायतीराज संस्थाओं और गुरुवार को नगर निकायों के साथ हुई संभाग स्तरीय बैठक में की गई व्यवस्थाओं के लिए संभागीय आयुक्त राजेंद्र भट्ट और कलेक्टर ताराचंद मीणा की सराहना की और यहाँ की व्यवस्था को लेकर संतुष्टि जाहिर की। उन्होंने कहा कि इन बैठकों में संभाग के सभी कलेक्टर्स की उपस्थिति रही जो कि उत्साहजनक है और इससे आयोग को कई महत्वपूर्ण सुझाव मिले हैं जो बेहतर कार्य करने में लाभकारी सिद्ध होंगे।
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal