उदयपुर संभाग में स्वास्थ्य सेवाओं को और बेहतर बनाने का प्रयास करें -शुभ्रासिंह

उदयपुर संभाग में स्वास्थ्य सेवाओं को और बेहतर बनाने का प्रयास करें -शुभ्रासिंह

अतिरिक्त शासन सचिव श्रीमती शुभ्रा सिंह कल उदयपुर संभाग के दौरे पर रही
 
shubhra singh

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ शंकर एच बामनिया ने बताया कि अतिरिक्त शासन सचिव श्रीमती शुभ्रा सिंह कल उदयपुर संभाग के दौरे पर रही। उनके साथ राज्य स्तर से डॉ रवि प्रकाश माथुर डायरेक्टर पब्लिक हेल्थ, डॉ लोकेश चतुर्वेदी डायरेक्टर आरसीएच और डॉ राजेश शर्मा संयुक्त निदेशक हास्पिटल मैनेजमेंट, जिला स्तर से संयुक्त निदेशक डॉ जेड ए काजी,  डी डी डाॅ पंकज गौड़ थे । 

उदयपुर पहुंचने पर सर्किट हाउस में ए सी एस मैडम का स्वागत किया गया । वहां से एसीएस मैडम राजसमंद जिले के दौरे पर निकल गई । दोपहर पश्चात उदयपुर पहुंच कर भुवाणा अर्बन सीएचसी पर निरीक्षण किया और पौधारोपण का कार्यक्रम किया। वहां से शौर्य गढ़ रिसॉर्ट पर संभाग स्तरीय मीटिंग का आयोजन किया गया जिसमें वे सम्मिलित हुई। 

उन्होंने बताया कि उदयपुर संभाग जनजाति बहुल क्षेत्र होने से यहां पर स्वास्थ्य सेवाओं की अत्यंत आवश्यकता है।  संभाग स्तरीय बैठक के लिए 6 जिलों से सीएमएचओ, डिप्टी सीएमएचओ, आर सी एच ओ, डी टी ओ, डी पी सी आरएमएस सी,  पी एमओ, डीपीएम, यू पी एम, डी ए एम, डी एन ओ और डीपीसी चिरंजीवी सभी बैठक में शामिल हुए।

बैठक में उद्बोधन भाषण डॉक्टर जेड ए काजी ने दिया। उन्होंने बताया कि उदयपुर संभाग में सभी 6 जिलों में स्वास्थ्य सेवाओं पर अच्छा कार्य किया जा रहा है।

अतिरिक्त शासन सचिव श्रीमती शुभ्रा सिंह ने राजस्थान सरकार की फ्लैगशिप योजनाओं पर बिंदु वार चर्चा की। राजस्थान सरकार के बजट घोषणा अनुसार जितने भी नए चिकित्सा संस्थान आवंटित किए गए हैं उनके भूमि संबंधी एवं अन्य मुद्दों पर चर्चा की। इनमें किसी भी प्रकार की समस्या आने पर राज्य सरकार को अवगत कराने के निर्देश दिए। 

उन्होंने बताया कि राज्य के सभी जिलों में कर्मचारियों की कमी को देखते हुए उन्हें यू टी बी पर लेने के निर्देश जारी किए हैं। मुख्यमंत्री निशुल्क जांच योजना एवं दवा योजना पर विस्तार से चर्चा की। सभी चिकित्सा संस्थानों पर आवश्यक दवाएं उपलब्ध होनी चाहिए एवं निर्धारित जांच होनी चाहिए इसके निर्देश दिए। 

सिलिकोसिस केस पर जिलावार चर्चा की और उसकी पेंडेंसी क्लियर करने के निर्देश दिए । सभी जिलों में जनता क्लीनिक जो पेंडिंग है उन्हें तुरंत चालू किया जाए। उनमें रोग जांच नहीं हो रही हो तो उसे प्रारंभ किया जाए।

मातृ शिशु स्वास्थ्य सेवाएं' पर डॉ लोकेश चतुर्वेदी ने चर्चा करते हुए बताया कि ए एन सी रजिस्ट्रेशन जल्द से जल्द किया जाए और एच आर पी  का पता लगाकर उच्च स्तरीय संस्थानों पर भेजा जाए । जिन जिलों में एन बी एसयू अभी शुरू नहीं हुए हैं उन्हें तुरंत शुरू किया जाए। 

एनीमिया मुक्त राजस्थान हेतु एचबीएनसी कवरेज बढ़ाया जाए ।परिवार कल्याण योजनाओं के लिए पीपीआईयूसीडी और अंतरा इंजेक्शन को बढ़ाने के निर्देश दिए। परिवार नियोजन के साधन के लिए आशाओं द्वारा इंडेन कम होने पर नाराजगी जाहिर की और अधिक से अधिक इंडेन करवाने के निर्देश दिए । एचडब्ल्यू सी के लिए ब्रांडिंग सुनिश्चित की जाए ।उसमें नवाचार किया जाए और सामुदायिक स्तर पर लोगों को इसमें जोड़ने का प्रयास किया जाए।

कायाकल्प और एन क्यू ए एस के लिए सभी सीएचसी पीएचसी और एच डबल्यू सी को जोड़ा जाए और राष्ट्रीय स्तर पर प्रमाणित कराया जाए ।बायोमेट्रिक अटेंडेंस को तुरंत प्रभाव से लागू किया जाए और उसकी रिपोर्ट राज्य स्तर पर भेजी जाए । यह सभी निर्देश अतिरिक्त शासन सचिव श्रीमती शुभ्रा सिंह ने मीटिंग के दौरान के दौरान जारी किए। मिशन इंद्रधनुष प्रोग्राम के लिए आई इ सी का विमोचन किया। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ बामणिया ने धन्यवाद दिया । प्रोग्राम में पीपीटी प्रेजेंटेशन डॉक्टर पंकज गौड़ ने किया ।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal