अजमेर डिस्कॉम की एमनेस्टी स्कीम अब 31 दिसंबर तक

अजमेर डिस्कॉम की एमनेस्टी स्कीम अब 31 दिसंबर तक

बिजली चोरी व दुरुपयोग के मामलों के निस्तारण, कटे हुए कनेक्शनों को जुड़वाने के लिए अजमेर डिस्कॉम की एमनेस्टी स्कीम अब 31 दिसंबर तक

 
Power Cut on 11-October: List of areas affected

अजमेर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड ने उपभोक्ताओं को राहत देते हुए उनके त्वरित निस्तारण के लिए एमनेस्टी स्कीम की अवधि को 31 दिसंबर तक के लिए बढ़ा दिया है। पहले एम्नेस्टी योजना 30 सितम्बर तक के लिए मान्य थी। इस योजना के लंबित पड़े प्रकरणों के निस्तारण में तेजी आएगी।

अजमेर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशकएन एस निर्वाण ने बताया कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार अजमेर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड ने लंबित पड़े प्रकरणों के निस्तारण के लिए  31 दिसंबर तक एमनेस्टी स्कीम चलाएगा। उन्होंने बताया कि कृषि श्रेणी के अतिरिक्त सभी श्रेणियों के कटे हुये कनेक्शनों (31 दिसम्बर 2022 तक कटे हुए) की बकाया राशि (दिनांक 31 दिसम्बर 2022 तक की बकाया राशि) वसूली हेतु एमनेस्टी योजना चलाई जा रही है। यह योजना 31 दिसम्बर 2023 तक प्रभावी रहेगी। उपभोक्ता द्वारा सम्पूर्ण मूल बकाया राशि 31 दिसंबर 2023  तक एकमुश्त जमा करवाये जाने पर विलम्ब भुगतान शुल्क / ब्याज में शत प्रतिशत छूट प्रदान की जायेगी। 

निर्वाण ने बताया कि जिन उपभोक्ताओं द्वारा विगत तीन वर्षों में एमनेस्टी योजना का लाभ ले लिया गया है। उनके लिये यह योजना उपलब्ध नहीं होगी। प्रबंध निदेशक ने बताया कि यदि काई मामला न्यायालय में लंबित है एवं उपभोक्ता इस योजना का लाभ लेना चाहता है, तो उपभोक्ता को पूर्ण बकाया राशि योजनानुसार जमा करानी होगी एवं एक महीने के अन्दर न्यायालय से प्रकरण वापिस लिये जाने संबंधी शपथ पत्र प्रस्तुत करना होगा तथा न्यायालय से प्रकरण वापसी की स्वीकृति भी प्रस्तुत करना होगा। यदि उपभोक्ता का मूल बकाया से संबंधित कोई विवाद है एवं यह निस्तारण करवाना चाहता है, तो उसे पहले संबंधित आन्तरिक शिकायत निस्तारण प्रकोष्ठ अथवा उपभोक्ता शिकायत निवारण फोरम में आवेदन करना होगा एवं संबंधित फोरम के निर्णायानुसार एमनेस्टी योजना का लाभ लिया जा सकता है। ऐसे मामलों में उपभोक्ता को एक शपथ पत्र प्रस्तुत करना होगा कि फोरम द्वारा किया गया निर्णय उसे स्वीकार्य है एवं न्यायालय से प्रकरण यदि कोई हो तो वापिस ले लिया गया है।

बिजली चोरी व दुरुपयोग के मामलों के निस्तारण के लिए एमनेस्टी योजना 31 दिसंबर तक

अजमेर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड ने उपभोक्ताओं को राहत देते हुए बिजली चोरी व दुरुपयोग के मामलों के त्वरित निस्तारण के लिए 31 दिसंबर तक एमनेस्टी योजना लागू की है। योजना के तहत लंबित पड़े बिजली चोरी पर दुरुपयोग के मामले सहायक अभियंता कार्यालय पर ही निस्तारित किए जा सकेंगे। इससे लंबित पड़े वीसीआर प्रकरणों के निस्तारण में भी तेजी आएगी।  श्री निर्वाण ने बताया कि योजना के तहत सभी लंबित प्रकरण सहायक अभियंता कार्यालय के स्तर पर ही निपटा दिए जाएंगे। इससे उपभोक्ताओं व गैर उपभोक्ताओं को अनावश्यक परेशानी नहीं होगी।

अधिकारियों को निर्बाध विद्युत आपूर्ति बनाए रखने के दिए निर्देश

अजमेर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशकएन. एस. निर्वाण ने पंचशील स्थित मुख्यालय पर अजमेर डिस्कॉम के 11 जिलों के वरिष्ठ अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली। बैठक के दौरान प्रबन्ध निदेशक ने अधिकारियों को मुख्यतः निर्बाध विद्युत आपूर्ति, जले हुए ट्रांसफर्मर को अधिकतम 72 घंटे में बदलने, खराब ट्रांसफर्मर को रिपेयर करने, ट्रिपिंग फ्री बिजली, उपभोक्ताओं की समस्याओं का समयबद्व निस्तारण करने, छीजत कम करने, शत प्रतिशत राजस्व वसूली, समय पर कनेक्शन जारी करने तथा बिजली आपूर्ति प्रबंधन के निर्देश दिए है। कार्यक्रम की शुरुआत में सभी अधिकारियों को फीडर मॉनिटरिंग सिस्टम की विस्तृत जानकारी भी दी गयी।

अजमेर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशक एन. एस. निर्वाण ने बैठक के दौरान अधिकारियों से कहा कि सभी श्रेणी के उपभोक्ताओं (घरेलू, अघरेलु, कृषि तथा औद्योगिक) को निर्बाध विद्युत आपूर्ति उपलब्ध करवाना हमारी जिम्मेदारी है इसलिए सभी अधिकारी अपने अपने क्षेत्राधीन सभी सर्किलों,डिवीजन तथा सब-डिवीजन में निर्बाध विद्युत आपूर्ति देना सुनिश्चित करे। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि जले हुए ट्रांसफर्मर को 48 से 72 घंटे के भीतर बदलना सुनिश्चित करे। अगर कोई ट्रांसफर्मर खराब पड़ा है तो उसे रिपेयर करावे। जहा छीजत अधिक है उन क्षेत्रों में विद्युत पोल पर मीटर बॉक्स लगाये जिससे बिजली चोरी पर लगाम लग सके।

बैठक के दौरान उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि राज्य सरकार की बजट घोषणा का लाभ उपभोक्ताओं को मिलना सुनिश्चित हो सके इसके लिए आप सभी नियमित रूप से मॉनिटरिंग करें। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वे सभी सहायक अभियंताओ को निर्देशित करे कि वे फ़ीडरवार सभी फीडर इंचार्जों का व्हाट्सएप ग्रुप बनावे जिसमे उस फीडर के सभी उपभोक्ता भी उस ग्रुप के सदस्य हो। इस ग्रुप में पावर कट तथा बिल संबंधी सभी सूचनाएं प्रेषित करना सुनिश्चित करे।

उपभोक्ताओं की समस्याओं का समयबद्ध निस्तारण करें अधिकारी

प्रबंध निदेशक निर्वाण ने निर्देश दिए कि उपभोक्ताओं की संतुष्टि ही हमारा परम लक्ष्य है। हमारी प्राथमिकता उपभोक्ता को निर्बाध विद्युत आपूर्ति और उनकी समस्याओं का तत्काल निराकरण करना ही है। उन्होंने बैठक के दौरान सभी अधीक्षण अभियन्ताओं को उपभोक्ताओं द्वारा की जा रही शिकायतों की मॉनिटरिंग करने के लिए निर्देश दिए है। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वे आमजन तथा जनप्रतिनिधियों से लगातार संपर्क में रहे। अगर कोई शटडाउन लेना हो तो इसकी अग्रीम सूचना जनप्रतिनिधियों तथा लोकल मीडिया के माध्यम से आमजन को देना सुनिश्चित करें।

किसानों के लंबित कनेक्शन कार्य में भी तेजी लाएं अफसर

बैठक के दौरान प्रबंध निदेशक श्री निर्वाण ने वृत्तवार कृषि कनेक्शनों की जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने लंबित पड़े  कनेक्शनों को जल्द से जल्द जारी करने के निर्देश दिए। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि निगम मुख्यालय द्वारा आप सभी को  मटेरियल की कोई कमी नही आने दी जाएगी। इसलिए आप सभी सजगता के साथ आप सभी कनेक्शन जारी करने के कार्य में तेजी लाए।

उत्कृष्ट कार्य करने पर 6 अभियंताओं का सम्मान

बैठक के दौरान प्रबंध निदेशक एन एस निर्वाण द्वारा विद्युत छीजत में कमी लाने, राजस्व वसूली करने , लोड बैलेंसिंग, ट्रांसफर्मर रिपेयर करवाने, आदर्श जीएसएस अभियान के तहत जीएसएस को आदर्श बनवाने, जीएसएस मेंटेनेंस, ट्रिपिंग रहित बिजली उपलब्ध करवाने व अन्य महत्वपूर्ण कार्याे को दक्षता के साथ समयबद्ध संपादित करने पर 6 अभियंताओ को सम्मानित किया गया। इसमें किशनगढ कनिष्ठ अभियंता हर्ष जैन, भीलवाड़ा से कनिष्ठ अभियंता सुरेश यादव, सहायक अभियंता. नीरज शर्मा, चनाना से सहायक अभियंता सुरेंद्र सिंह, खण्डेला से कनिष्ठ अभियंता बजरंगीलाल तथा निम्बाहेड़ा से कनिष्ठ अभियंता अभिनव चावला शामिल रहे।

प्रबंध निदेशक एन एस निर्वाण ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार सभी श्रेणी के लंबित कृषि कनेक्शन जारी करना हमारी प्राथमिकता है। सभी जिलों, कस्बों, उपखंडों, गांवों में कैम्प लगाकर अधिक से अधिक घरेलू कनेक्शन जारी करें। उन्होंने निर्देश दिए कि सभी अधिकारी अपने क्षेत्रों में निर्बाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करे। सभी लाइनों, फीडर, ट्रांसफर्मर एवं जीएसएस का समय पर मेंटेनेंस कराया जाना सुनिश्चित करें। आदर्श जीएसएस अभियान के तहत सभी अधिक छीजत वाले जीएसएस को आदर्श जीएसएस बनाया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने अधिकारियों को समयबद्व बिलिंग तथा राजस्व वसूली के लिए भी निर्देश दिए।

प्रबन्ध निदेशक श्री निर्वाण ने सभी अधिकारियां से वृत्तवार टी एण्ड डी लॉसेस, राजस्व वसूली, बंद व खराब मीटरों की स्थिति, सभी कृषि, पीएचईडी, औद्यौगिक, घरेलू एवं अन्य कनेक्शन, सामान की उपलब्घता, विद्युत आपूर्ति, स्मार्ट मीटर, फीडर मीटरिंग, सर्तकता जांच  एवं अन्य कार्याे की विस्तृत जानकारी ली। बैठक के दौरान पंचशील स्थित मुख्यालय पर निदेशक तकनीकी ए. के.गुप्ता, निदेशक वित्त एम.के.गोयल, सचिव प्रशासन श्री एन. एल. राठी, मुख्य अभियंता एम.एल.मीणा, एम सी बाल्दी, एम.एस. झाला, अशोक कुमार, टीए टू एमडी  राजीव वर्मा सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal