सख्ती जरूरी हर जगह हो कोरोना प्रोटोकॉल का पालन- ज़िला कलक्टर, उदयपुर

सख्ती जरूरी हर जगह हो कोरोना प्रोटोकॉल का पालन- ज़िला कलक्टर, उदयपुर

 
Udaipur Collector Guidelines and Instructions COVID in UDAIPUR

ज़िले में दिनों दिन कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए ज़िला कलेक्टर महोदय ने आज सुबह 10:00 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समस्त उपखंड अधिकारी, बीसीएमओ, बीडीओ, सीडीपीओ सहित ब्लॉक स्तरीय अधिकारियो के साथ संवाद कर कोरना की वर्तमान स्थिति के बारे में चर्चा की। इस दौरान उन्होंने सभी विभाग अधिकारियो से इस हेतु सुझाव भी मांगे।

ज़िला DoIT केंद्र से जिला परिषद सीईओ मयंक मनीष, अति. जिला कलेक्टर प्रसाशन ओ पी बुनकर, अति. पुलिस अधीक्षक मुख्यालय अनंत कुमार, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ दिनेश खराड़ी, डब्लूएचओ से डॉ अक्षय व्यास सहित अन्य अधिकारीगण मौजूद रहे।

सैंपलिंग की गति बढ़ाये

कलेक्टर श्री देवड़ा ने कोविड के वर्तमान हालात को देखते हुए सभी बीसीएमओ को सैंपलिंग बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अस्पताल में आने वाले सभी आईएलआई मरीजो की सैंपलिंग के साथ साथ बाजार एवं अन्य भीड़ भाड़ वाली जगहों पर रेंडम सैंपलिंग को बढ़ाया जाए ताकि संक्रमण की वास्तविकता का पता चल सके एवं समय रहते संक्रमण रोकथाम हेतु प्रभावी कदम उठाये जा सके। 

31 जनवरी तक पूरा कर ले टीकाकरण का लक्ष्य

देवड़ा ने कहा कि राज्य सरकार से स्पष्ट दिशा निर्देश है कि 31 जनवरी तक शत प्रतिशत लोगो का टीकाकरण पूर्ण होना चाहिये। उन्होंने कहा कि ज़िले में पिछले 15 दिनो में जो वैक्सीनेशन के प्रति उत्साह देखने को मिला है वो प्रशंसनीय है और उदयपुर में 90 प्रतिशत से अधिक लोगो को टीके की प्रथम डोज़ लगाने में सफलता अर्जित कर ली है। उन्होंने ब्लॉक स्तर के सभी प्रशासनिक एवं चिकित्सा अधिकारियो को कार्ययोजना बना गाँव गाँव ढाणी तक टीमे भेज प्रथम एवं द्वित्य डोज़ से वंचित सभी लाभार्थियों को 31 जनवरी से पहले टीकाकृत करने हेतु निर्देशित किया।

कलेक्टर ने विद्यालयों में हो रहे 15 से 18 वर्ष तक के बच्चो के टीकाकरण की प्रगति पर खुशी जताई। उन्होंने कहा कि जिस गती से विद्यालयों में अभी तक टीकाकरण हुआ है उसको बरकरार रखते हुए अगले 5 से 7 दिवस में इस आयु वर्ग के सभी बच्चो को टीकाकृत करने की कार्ययोजना पर अमल करे।

ग्रामीण क्षेत्रो में मजबूत हो रही स्वास्थ्य सुविधाएं

कलेक्टर ने कहा कि दूसरी लहर के दौरान जिन मेडिकल आवश्यकताओं को महसूस किया गया उनको मजबूत करते हुए जिले में 13 हाई फोकस्ड फैसिलिटीज विकसित की जा रही है जिन पर ऑक्सीजन प्लांट, डीजी सेट, ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर सहित सभी तरह के जीवनरक्षक आधुनिक उपकरण मौजूद है। उन्होंने सभी बीसीएमओ को निर्देशित किया कि सभी फैसेलिटीज पर उपलब्ध प्लांट एवं उपकरणों को क्रियाशील अवस्था में रखे। अन्य किसी प्रकार के उपकरणों, दवाईया या कंजुमेबल्स की आवश्यकता हो तो इस बारे में समय रहते सीएमएचओ को अवगत कराए।

श्री देवड़ा ने कहा कि किसी भी विकट परिस्थिति उत्पन्न होने पर मरीज़ो को मुख्यालय पर रेफेर करने की बजाय प्राथमिकता से इन फैसेलिटीज पर उपचार किया जाये ताकी स्थानीय स्तर पर उपचार मिलने से आमजन को इधर उधर नही भटकना पड़े।

संक्रमण रोकने हेतु सख्ती के साथ साथ जागरूकता फैलाए

संक्रमण को प्राथमिक स्तर पर ही काबू करने के लिए कलेक्टर ने जिला स्तर से लेकर पंचायत स्तर तक गठित की गई सभी कमेटियों को पुनः क्रियाशील करने हेतु निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि बाजारों, मंडियों सहित सभी सार्वजनिक स्थलों पर सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन की सख्ती से पालना हो ताकि हालात ज्यादा ना बिगड़े। जिले में धारा 144 लागु हो चुकी है जिसकी पालना हर जगह सुनिश्चित हो। सभी उपखंड अधिकारी एवं थानाधिकारी बड़े कस्बो एवं बाजारों में रुट मार्च करे जिससे कोविड प्रोटोकॉल पालन का पॉजिटिव सन्देश जनता तक पहुँचे।

श्री देवड़ा ने कहा की सभी ने कोविड की पहली और दूसरी लहर के दौरान जिस प्रतिबद्धता के साथ कार्य किया वो काबिले तारीफ है। इस तीसरी लहर के दौरान भी हमें कठिन से कठिन परिस्थिति हेतु तैयार रहना है। और मुझे उम्मीद है कि इस चुनोती को भी हम सब मिलकर आसानी से पार कर लेंगे।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal