उदयपुर शहर की फेमस ताज़ा गन्ने के रस की दुकान


उदयपुर शहर की फेमस ताज़ा गन्ने के रस की दुकान   

1966 में हुई थी इसकी स्थापना 

 
गर्मी के मोसम में  विद्यार्थी रस भण्डार के यहाँ गन्ने का शुद्ध व ताज़ा रस पीने के लिए लंबी कतरों में खड़े लोग
UT WhatsApp Channel Join Now

गर्मियों का मौसम आए और गन्ने के रस का नाम ना आए, ऐसा नहीं हो सकता। यह ताज़ा और टेस्टी पेय या ड्रिंक ना केवल आपकी प्यास बुझाता है। बल्कि आपको एनर्जी भी देता है। गर्मी के मौसम में शरीर को ठंडक देने वाला गन्ने का रस हम सबको पसंद होता है। इसका मीठापन और ठंडक, चिलचिलाती धूप में हमें न सिर्फ बेहतर स्वाद देता है बल्कि हमारे सेहत के लिए भी काफी फायदेमंद होता है। गर्मियों में गली-चौराहों पर गन्ने के रस की दुकान दिखना काफी आम है लेकिन आज हम उदयपुर शहर के विद्यार्थी रस भण्डार के बारे में बताएँगे। जो की सन 1966 से अपने ताज़ा व शुद्ध गन्ने के रस के लिए लोगों में काफ़ी लोकप्रिय है । 

दुर्गेश कुमावत

दुर्गेश कुमावत -संचालक  विद्यार्थी रस भण्डार 

आईये जानते है विद्यार्थी रस भण्डार के संचालक दुर्गेश कुमावत से की उनके दुकान का नाम विद्यार्थी क्यों रखा गया ? 

sugarcane

उदयपुर टाइम्स से बातचीत पर दुर्गेश कुमावत ने बताया की मेरे पिता जी विद्या भवन स्कूल में पढ़ते थे और वे साथ में गन्ने का रस भी बेचते थे । तो एक दिन उनके प्रिंसिपल ने उनसे पूछा की तुम पढाई भी करते हो और साथ में यह काम भी करते हो तो उनके प्रिंसिपल ने विद्यार्थी नाम रखा दुर्गेश कुमावत बताते है की सन 1966 में उनके पिता जी स्वर्गीय भंवरलाल कुमावत ने इसकी स्थापना की ,उन्होंने बताया की इस रस भण्डार का उद्घाटन कोहलू के बैल वाले चक्र से किया गया था । उन्होंने 10-15 सालो तक अशोका के यहाँ गन्ने का रस बेचा और फिर उसके बाद उन्होंने स्थाई रूप से शक्ति नगर कार्नर, कस्तूरबा मातृ हॉस्पिटल के पास, देहलीगेट उदयपुर में दुकान खोली ।

केसे बनता है स्वादिष्ट गन्ने का रस  

vidhyarthi ras bhandar

नींबू का एक टुकड़ा, तुलसी के कुछ कच्चे पत्ते और काला नमक विद्यार्थी रस भण्डार के स्वादिष्ट गन्ने के रस को एक अलग स्वाद और महक प्रदान करते हैं। ताजे गन्ने को विधिवत धोकर नींबू के साथ मशीन में निकाला जाता है, यह एक मीठा पौष्टिक ठंडा पेय है जिसमें कुटी हुई बर्फ और मसालों के साथ मिलाया जाता है, जैसे- पिसी हुई काली मिर्च, सौंठ, भुना जीरा, काला और सफेद नमक और तुलसी। यहाँ गन्ने का रस 3 केटेगरी में मिलता है 15/- रूपए छोटा ग्लास ,20/- रूपए में मीडियम ग्लास और 30/- रूपए में बड़ा ग्लास मिलता है ।

vidhyarthi ras bhandar

दुर्गेश कुमावत कहते है की हमने कभी भी जीवन में धंधे को पैसों से नही जोड़ा है । हमने हमेशा ग्राहक को सबसे बेस्ट क्वालिटी व स्वाद में भी सबसे बेहतरीन गन्ने का रस सर्व करने की कोशिश रही है । 

आइए जानते हैं गन्ने के रस का सेवन हमारे सेहत को किस तरह से लाभ पहुंचाता है?

ganne ka ras

पोटैशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन, जिंक जैसे तमाम प्रकार के पोषक तत्वों से भरपूर गन्ने के जूस का सेवन हमारे पेट के लिए काफी लाभदायक माना जाता है। यहां तक ​​कि इससे बने उत्पादों जैसे, गन्ने के मोम का उपयोग ब्यूटी प्रोडक्ट इंडस्ट्री में इसके एंटीऑक्सिडेंट, एंटीबेक्टेरियल और एंटी-इनफ्लेमेट्री गुणों के लिए भी किया जाता है। यह एजिंग को कम करता है और कॉलेजन के निर्माण को बढ़ाता है। गन्ने के रस के लाभ इसके औषधीय गुणों के लिए जाने जाते हैं। भारत में, इस मीठे पेय का उपयोग कई स्वास्थ्य समस्याओं जैसे कि पीलिया, रक्तस्राव, अनुरिया और अन्य रोगों के इलाज के लिए किया जाता है । फूलने या थकान का सामना करने वाले लोगों को भी गन्ने का रस पीना चाहिए। गर्मी के मौसम में गन्ने का रस पीने से मिलने वाले स्वास्थ्य फायदे एकदम जबरदस्त हैं।

 















 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal