खादी मेले में आयोजित बाल नृत्य प्रतियोगिता में दिखी संस्कृति की झलक


खादी मेले में आयोजित बाल नृत्य प्रतियोगिता में दिखी संस्कृति की झलक

समोर बाग स्थित प्रांगण में चल रहा खादी मेला

 
khadi mela
UT WhatsApp Channel Join Now

मेले में कोरोना प्रोटोकॉल का पूरी तरह से पालन किया जा रहा है

उदयपुर 25 अगस्त 2021 । कार्यालय खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग जयपुर एवं अम्बेडकर विकास समिति चौंमू के संयुक्त तत्वावधान में समोर बाग स्थित प्रांगण में चल रहे खादी मेले में राज्य स्तरीय खादी ग्राम उद्योग मेले में आज शाम को नृत्य प्रतियोगिता का आयोजन हुआ। जिसमें संस्कृति की झलक देखने को मिली। प्रतिभागियों ने भी बढ़़चढ़ कर भाग लिया।

मेला संयोजक रामजीलाल वर्मा एवं कविता वर्मा ने बताया कि खादी के प्रति लोगों में जागरूकता बढ़ाने तथा वहां आने वाले लोगों के मनोरंजन करने के उद्देश्य से बच्चों की सांस्कृतिक प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।  

मेले में आर्टिफिशियल ज्वेलरी महिलाओं में आकर्षण का केंद्र बनी हुई है। मेले में रजवाड़ी गृह उद्योग की ममता शर्मा ने बताया कि वह दूसरी बार इस मेले में आई है। ज्यादातर उनके पास वह ज्वैलरी है जो टूरिस्ट लोग और खासकर विदेशी महिलाएं पहनती है। हालांकि मेवाड़ में उस ज्वेलरी का प्रचलन कम रहा है फिर भी धीरे-धीरे यहां की महिलाओं में भी इस आर्टिफिशियल ज्वेलरी का क्रेज बढ़ रहा है। कान के झुमके, गले की चेन, लाख की चूडि़यां, प्लास्टिक की चूडि़यां और रजवाड़ी हार जिन्हें देखते ही महिलाएं उन्हें खरीदे बिना नहीं रहती है। उनके पास कुछ ऐसी भी आर्टिफिशियल ज्वेलरी है जो उदयपुर के मार्केट में कम मिलती है लेकिन उसको पसंद करने वाली महिलाओं की तादाद यहां पर काफी है। यह ज्वेलरी वह बाहर से मंगवायी जाती है। रजवाड़ी हार के बारे में बताते हुए कहा कि काफी आकर्षक लगता है। उसकी खासियत यह है कि उसकी पोलिश आसानी से नहीं जाती है।

इसी तरह मेले में आई मातेश्वरी फुटवियर की संचालक आशा कुमारी मीणा ने बताया कि उनके पास महिला पुरुष बच्चों के अच्छी क्वालिटी के लेदर रेगजीन के कशीदे वाले जूते हैं। साथ ही इंदौर के डायमंड पोलिश वाले प्रसिद्ध चुड़े हैं। यह चूड़े महिलाओं में आकर्षण का केंद्र है। इन्हें सुहागिन महिलाओं के साथ कुंवारी लड़कियां भी पहनती है। वह खादी ग्रामोद्योग मेले में पहले भी कई बार आ चुकी हैं। इस मेले में शहरवासियों के साथ पर्यटक भी अच्छी खरीदारी करते हैं।

मेला संयोजक रामजी लाल वर्मा एवं कविता वर्मा ने बताया कि मेले में कोरोना प्रोटोकॉल का पूरी तरह से पालन किया जा रहा है। मेले में आने वाले सभी ग्राहकों के लिए पानी एवं अन्य सुविधाएं पूरी तरह उपलब्ध है। मेला स्थल पर उनका कार्यालय स्थापित है जहां पर ग्राहकों को कोई भी असुविधा या किसी भी कार्य के लिए वहा संपर्क किया जा सकता है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal