एडल्ट वेबसाइट पर लड़कियां उपलब्ध करवाने के नाम पर फ्रॉड करने वाली गैंग का पर्दाफाश,1 गिरफ्तार

एडल्ट वेबसाइट पर लड़कियां उपलब्ध करवाने के नाम पर फ्रॉड करने वाली गैंग का पर्दाफाश,1 गिरफ्तार  
 

लड़कियां उपलब्ध करवाने के नाम पर झांसा देकर लोगों से वसूलते है पैसे

 
Online Fraud accused

उदयपुर 16 मार्च 2023। जैसे जैसे देश में डिजिटलाइजेशन बढ़ता जा रहा है वैसे-वैसे देश में साइबर क्राइम की वारदातों में भी दिन ब दिन इजाफा होता ही जा रहा है। चाहे फिर वो बैंक कर्मी बनकर लोन का ऑफर देने का बहाना हो या फोरेक्स मार्किट में इन्वेस्टमेंट करवाकर मुनाफा देना का लालच, रोज किसी न किसी बहाने से लोगों को इन साइबर क्रिमिनल्स द्वारा टारगेट किया जाने लगा है और इसको लेकर देश भर में कई गैंग सक्रीय हो कर काम कर रही है और लोगो को घर बैठे लाखो-करोडो रुपयों का चूना लगाया जा रहा है।

इसी के चलते ज़िले की झल्लारा थाना पुलिस ने गुरुवार को एडल्ट वेबसाइट (ADULT SKOKKA) के नाम पर लड़कियां उपलब्ध करवाने का झांसा देकर लोगों से पैसे वसूल कर उनके साथ धोखाधड़ी करने वाली गैंग का पर्दाफाश करते हुए उसके एक सदस्य को गिरफ्तार किया है। 

पुलिस को पिछले कुछ दिनों से मुखबिर से सुचना मिल रही थी की एडल्ट वेबसाइट (ADULT SKOKKA) के नाम से एक गैंग सक्रीय रूप से लोगो को लड़कियां उपलब्ध करवाने के नाम पर पैसे ऐंठ कर धोखाधड़ी कर रही है।  

मुखबिर की सुचना को गंभीरता से लेते हुए पुलिस द्वारा इसकी जाँच शरू की गई जिसके दौरान पुलिस को गैंग के एक सदस्य भावेश पिता वालजी निवासी खेरावाडा, झल्लारा के बारे में जानकारी मिली जिस पर पुलिस की टीम द्वारा उसके ठिकाने का पता लगाया गया और गुरुवार को झल्लारा गांव से उसे गिरफ्तार किया गया। पुलिस अब आरोपी से इस गैंग के बारे में और उसके द्वारा अब तक की गई ठगी की वारदातों के बारे में पूछताछ कर रही है। 

तरीका ए वारदात :

आरोपी भावेश पिता वालजी अपने मोबाईल से SKOKKA WEBSITE पर लडकिंया की फोटो डालकर वेबसाइट पर विज्ञापन डालता है, उसके बाद भावेश द्वारा डाला गया विज्ञापन को देखकर ग्राहक झांसे (धोखे) में आकर सौदेबाजी करते है और रूपये का आनलाईन ट्रान्जेक्शन कर देते है। 

यह पैसे भावेश के फर्जी खाते में आनलाईन आ जाते है, जहा से भावेश अपने स्वयं के खाते में ट्रान्सफर कर देता है। विज्ञापन में जिन लडकियों की फोटो उपलब्ध करायी जाती है वे असल में उपलब्ध नही होती है। मात्र फोटो का झांसा देकर ग्राहक को फंसा कर रूपये ऐठता है ओर ग्राहक इस मामले में कोई कानूनी कार्यवाही करने बचता है। इस प्रकार अभियुक्त ग्राहको की मजबूरी का फायदा उठा कर बडी रकम ऐंठ लेता है।

गौरतलब है की ऐसी ही एक ऑनलाइन फ्रॉड गेंग का खुलासा करते हुए राजसमंद ज़िला पुलिस ने एक दिन पूर्व बुधवार को देवास एमपी से संचालित ऑनलाइन फ्रॉड गैंग के 8 सदस्यों को गिरफ्तार किया है और उनके कब्जे से 20 मोबाईल फ़ोन और अन्य उपकरण भी ज़ब्त किये हैं।  
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal