एक्जीक्यूटिव लेवल परीक्षा पैटर्न में बदलाव


एक्जीक्यूटिव लेवल परीक्षा पैटर्न में बदलाव

ये हुए हैं बड़े परिवर्तन

 
exam
UT WhatsApp Channel Join Now

अब एक्जीक्यूटिव परीक्षा में आठ की बजाय सात पेपर होंगे। इसी प्रकार प्रोफेशनल में भी नौ की बजाय सात पेपर ही होंगे। सीएस इइटी (CS EET) में ज्यादा बदलाव नहीं है, जबकि एक्जीक्यूटिव व प्रोफेशनल में कई बदलाव किए गए हैं। उदयपुर से प्रतिवर्ष करीब पांच सौ परीक्षार्थी परीक्षा में बैठते हैं। सीएस कोर्स के स्ट्रक्चर में पहले की ही तरह तीन लेवल हैं। इसमें पहला सीएस इइटी, दूसरा लेवल एक्जीक्यूटिव, तीसरा लेवल प्रोफेशनल प्रोग्राम है।

ये हुए हैं बड़े परिवर्तन

एक्जीक्यूटीव में अब आठ की बजाय सात पेपर होंगे। इसमें लेबर लॉ को बढ़ाते हुए सिक्योरिटी लॉ को इसमें शामिल कर दिया है। जबकि पहले ये दोनों अलग होते थे। नया विषय इन्टेलेक्यूचल प्रोपर्टी लॉ को बढ़ाते हुए जोड़ा गया है। एक्जीक्यूटिव लेवल की परीक्षा पैटर्न में बदलाव किया है। इसमें ओब्जेटिव पेपर अब नहीं होगा, इसे सब्जेक्टिव कर दिया गया है। साथ ही हर पेपर में 20 नम्बर के ओब्जेक्टिव प्रश्न डाल दिए हैं। 

इसमें पहले आठ पेपर होते थे, इसमें पांच सब्जेक्टिव व तीन ओब्जेटिव शामिल थे। अब आठ की बजाय सात पेपर कर सभी सब्जेक्टिव पेपर में 20 नम्बर के ओब्जेक्टिव जोडे गए हैं। केवल कॉरपोरेट अकाउन्टिंग व फाइनेंशियल मैनेजमेंट एक ही पेपर है, ये पूरी तरह से सब्जेक्टिव होगा। इसमें ओब्जेक्टिव नहीं आएगा। यहां विद्यार्थी थ्योरी व प्रेक्टिकल दोनों सीखेगा व बेसिक कंसेप्ट मजबूत होंगे। तीन घंटे व 100 अंक का प्रत्येक पेपर होगा।

प्रोफेशनल प्रोग्राम में पहले नौ पेपर होते थे, अब सात होंगे। सात पेपर में से दो ओपन बुक पेपर होंगे। यानी विद्यार्थियों को विकल्प मिलेगा कि वह किस विषय विशेष में जाना चाह रहा है, उसमें दो पेपर में से अपना रुचि वाला विषय सलेक्ट कर सकेगा। इससे आगे वह अपना विषय विशेष करियर चुन सकेगा। जिस फील्ड में जाना है, उसमें जा सकेगा। 

प्रोफेशनल के सभी सातों पेपर सब्जेक्टिव होंगे। प्रत्येक पेपर तीन घंटा और 100 अंक का होगा। इसमें पास होने के लिए 40 प्रतिशत अंक प्रत्येक पेपर में और कुल 50 या इससे अधिक अंक जरूरी है।

हर विद्यार्थी को एक्जीक्यूटिव व प्रोफेशनल परीक्षा में बैठने से पहले परीक्षा आवेदन के पूर्व एक प्री एक्जामिनेशन टेस्ट देना होगा। इसके लिए एक घंटे में 50 प्रश्न हल करने होंगे। इसमें यदि वह अनुत्तीर्ण होता है, तो वह 24 घ्ंटे बाद फिर से ऑनलाइन परीक्षा दे सकेगा। ये पेपर ऑब्जेक्टिव होंगे।

फेक्ट फाइल- गत सीएस इइटी जो दिसम्बर में हुई थी, उसमें देश में उदयपुर दूसरे स्थान पर रहा था, यहां से देश के दूसरे सर्वाधिक संख्या वाले 500 विद्यार्थी परीक्षा में बैठे थे।

उदयपुर में करीब 350 सीएस हैं। जो देश-विदेश में सेवाएं दे रहे हैं।- जो विद्यार्थी पुराने सलेबस में रजिस्टर्ड हैं, उन्हें दो अतिरिक्त मौके दिए जाएंगे। यह एक्जीक्यूटिव व प्रोफेशनल दोनों के लिए हैं।

सीएस इइटी- 16 जून 2023 के बाद जो आवेदन करेगा वह नए सलेबस में जाएगा। इनकाे पहली बार परीक्षा नवम्बर 23 में देनी होगी। इसकी परीक्षा साल में चार बार होगी। 12वीं में पढ़ने वाला बच्चा भी यह परीक्षा दे सकेगा। ऐसे बच्चों को अगले 1 वर्ष एक्जीक्यूटिव में रजिस्ट्रेशन करना होगा नहीं तो फिर से सीएस इइटी की परीक्षा देनी होगी। इसी प्रकार एक्जीक्यूटिव में जो 1 फरवरी 2023 के बाद आवेदन करेगा, वह दिसम्बर 23 में पहली बार परीक्षा देगा। वहीं प्रोफेशनल में 1 अगस्त 23 के बाद आवेदन करेगा, वह जून 24 से लागू होगा।
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal