राजस्थान में 1 सितंबर से 9वीं से 12वीं कक्षा तक के स्कूल अनलॉक


राजस्थान में 1 सितंबर से 9वीं से 12वीं कक्षा तक के स्कूल अनलॉक

एक भी छात्र के बीमार होने पर 10 दिन क्लास बंद

 
back to school
UT WhatsApp Channel Join Now

कक्षा 1 से 8 तक के बच्चों अब भी ऑनलाइन पढ़ाई रहेगी जारी

कक्षा 9 से 12 तक 1 दिन छोड़ 1 दिन 50% छात्रों को बुलाया जाएगा

राजस्थान के स्टूडेंट्स के लिए यह बेहद ही खास खबर है। कोरोना महामारी के मामले कम होने के बाद राजस्थान में 1 सितंबर से स्कूल खोलने का बड़ा फैसला लिया गया है। राज्य के सभी विद्यालयों और महाविद्यालयों में कक्षा 9वीं से 12वीं तथा महाविद्यालयों और कोचिंग संस्थानों में कक्षाओं का नियमित संचालन बुधवार 1 सितम्बर से प्रारम्भ किया जाएगा। जिसके तहत 50% छात्रों की मौजूदगी में फिर से शैक्षणिक कार्य शुरू हो पाएगा। जबकि कक्षा 1 से 8 तक के बच्चों अब भी ऑनलाइन पढ़ाई जारी रहेगी।

तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए राज्य सरकार द्वारा जारी की गई गाइडलाइन के अनुसार स्कूल की कक्षा 9 से 12 तक 1 दिन छोड़ 1 दिन 50% छात्रों को बुलाया जाएगा। जिसमें छात्र सोशल डिस्टेंसिंग और फेस मास्क के साथ ही स्कूल में प्रवेश कर पाएंगे। इस दौरान प्रार्थना सभा के साथ ही भीड़भाड़ वाले सामूहिक आयोजन पर रोक रहेगी। इसी के साथ प्रदेश सरकार द्वारा जारी की गई गाइडलाइन के अनुरूप स्कूल कॉलेज और कोचिंग सेंटर में टैक्सी, बस और ऑटो चालक को वैक्सीन की पहली डोज लगाना अनिवार्य होगा।

UT OPINION
चिकित्सा विभाग को लेनी होगी जिम्मेदारी
तीसरी लहर में आशंका जताई जा रही है इसका सबसे ज्यादा बच्चों पर प्रभाव पड़ेगा। अब ऐसे में चिकित्सा विभाग द्वारा जिम्मेदारी ली जानी चाहिए कि वो सभी स्कूलों के स्टाफ / टीचर्स के लिए स्कूल या फिर चिकित्सा विभाग की ओर से वैक्सीनेशन केम्प लगाए। ऐसे में राज्य सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन में स्कूल कॉलेज और कोचिंग सेंटर में टैक्सी, बस और ऑटो चालक को वैक्सीन की डोज लगाना अनिवार्य है। चिकित्सा विभाग की ओर से केम्प लगाया जाता है तो स्कूल कॉलेज और कोचिंग सेंटर में टैक्सी, बस और ऑटो चालक को वैक्सीन की डोज़ आसानी से लगाई जा सकेगी।

जबकि कोचिंग सेंटर में शैक्षणिक और अशैक्षणिक दोनों ही स्टाफ को वैक्सीन की दोनों डोज लगाना अनिवार्य होगा। वहीं शिक्षण संस्थान द्वारा शैक्षणिक और अशैक्षणिक स्टाफ\विद्यार्थी की स्क्रीनिंग की वयवस्था करनी होगी। इसके बाद ही प्रवेश देना होगा।

जो छात्र स्कूल नहीं आना चाहते उनकी ऑनलाइन पढ़ाई रहेगी

राज्य सरकार द्वारा स्कूल खोलने के बावजूद ऑनलाइन पढ़ाई जारी रहेगी। जिसके तहत जो छात्र महामारी के इस दौर में स्कूल नहीं आना चाहते। वह पहले की तरह ही घर पर रहकर ऑनलाइन क्लासेज ले सकते है। इसके साथ ही जो छात्र स्कूल जाकर पढ़ना चाहते हैं। उन्हें अपने माता-पिता से लिखित अनुमति लेकर स्कूल प्रबंधन को सौंपना होगी। तभी उन्हें स्कूल में पढ़ाया जाएगा।  

एक भी स्टूडेंट्स के बीमार होने पर 10 दिन होगी क्लास बंद

संस्थान परिसर में किसी भी विद्यार्थी \शिक्षकगण \कार्मिक के कोविड पॉजिटिव या फिर संभावित की स्थिति बनने पर संस्थान द्वारा संबंधित कक्षा को 10 दिनों के लिए बंद किया जाएगा।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal