राजस्थान में पहली बार लायन्स क्लब कोन्सिल की दो दिवसीय बैठक उदयपुर में शुरू

राजस्थान में पहली बार लायन्स क्लब कोन्सिल की दो दिवसीय बैठक उदयपुर में शुरू

देश भर में सेवा कार्यो की गतिविधियों की योजनाओं पर निर्णय को लेकर बैठक उदयपुर में शुरू

 
lions club
देश भर में 500 टन ई-वेस्ट एकत्रित करनें एवं जनवरी में मुबंई में आयोजित होगा गिव कोनक्लेव

उदयपुर 1 सितंबर 2023। राजस्थान में पहली बार लायन्स क्लब कोन्सिल की वार्षिक साधारण सभा की दो दिवसीय बैठक आज से रेडिसन ब्लू होटल में शुरू हुई जो 2 सितम्बर तक चलेगी। जिसमें, लायंस क्लब इन्टरनेशनल के वाईस प्रेसीडेन्ट-2 ए.पी.सिंह,  लायन क्लब इन्टरनेशल के पूर्व अध्यक्ष लायन नरेश अग्रवाल, लायन्स क्लब इन्टरनेशनल के तीन डायरेक्टर कोयंबटूर के मत्थन गोपाल, आगरा के जितेन्द्र सिंह चौहान, हैदराबाद के बाबूराव, 28 पूर्व इन्टरनेशनल डायरेक्टर,लायन्स कोन्सिल ऑफ इंडिया के चेयरमैन उदयपुर के वी.के.लाडिया के अतिरिक्त 4 लायन्स इटरनेशनल डायरेक्टर मनोनीत व 57 लायन्स गवर्नर भाग ले रहे है।

इस अवसर पर आयोजित प्रेस वार्ता में अरविंदपाल सिंह ने बताया कि ई-कचरा पुनर्चक्रण अगर ठीक से नहीं किया गया तो इससे पर्यावरण को जबरदस्त नुकसान हो सकता है और पिछले साल लायंस ने इसके बारे में जागरूकता पैदा करते हुए देशव्यापी ई-कचरा संग्रह अभियान शुरू किया था। इस साल फिर 15 अक्टूबर से 14 नवंबर तक लायंस क्लब सदस्य राष्ट्रीय अभियान पर निकलेंगे, वे न केवल एकत्र किए गए ई-कचरे का जिम्मेदारी से निपटान करेंगे, बल्कि उन गैजेटों का नवीनीकरण भी करेंगे जिनका उपयोग किया जा सकता है और इसे वंचितों को वितरित किया जाएगा। एकत्र किए गए प्रत्येक ई कचरे के लिए वे पेड़ भी लगाएंगे।

उन्होंने बताया कि भारत में ई-वेस्ट बढ़़ता जा रहा है। उसके निस्तारण के लिये वर्ष 2023-24 के दौरान पूरे देश से लायन्स क्लब 500 टन ई वेस्ट एकत्रित करेगा। इसके अलावा पब्लिक रिलेशन के प्रोजेक्ट पूरे भारत वर्ष होंगे ताकि लायन्स क्लब द्वारा किये जा रहे सेवा कार्यो की जानकारी आमजन को मिल सकें। इसके अलावा लायन्स क्लब पर्यावरण सस्टेनेबेल ग्रोथ पर भी कार्य करेगा।

उन्होंने बताया कि भारत में समुदायों को मजबूत करने और हमारे देश को एक बेहतर स्थान बनाने में लायंस की बहुत बड़ी भूमिका रही है। उन्होंने कहा कि हालांकि लायंस इंटरनेशनल एक वैश्विक संगठन है और नीतियां उसी के अनुरूप बनाई जाती हैं, लेकिन सेवा का दृष्टिकोण क्षेत्रीय है।

यद्यपि लायंस पहचाने गए वैश्विक उद्देश्यों के साथ काम करते हैं। यह किसी भी सेवा गतिविधि को करने में एक क्लब को सीमित नहीं करता है। सिंह ने बताया कि आगामी वर्ष 27 व 28 जनवरी को मुबंई में लायन्स की ओर से मुबंई के विश्व स्तरीय जीयो सेन्टर में अनोखे प्रकार का गिव कोनक्लेव का आयोजन होगा। जिसमें स्वयं सेवी संस्थाओं द्वारा किये जा रहे सेवा कार्यो की प्रदर्शनी लगायी जायेगी। यह प्रदर्शनी में पहली बार भारत मंे आयोजित होगी। इस प्रदर्शनी में समापन में भारत के 10 सर्वश्रेष्ठ सेवा भावी संस्थाओं को सम्मानित किया जायेगा।

उन्होंने बताया कि पिछले कुछ वर्षों में लायंस ने संयुक्त राष्ट्र के साथ साझेदारी की है और सतत विकास लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए प्रतिबद्ध हैं। जागरूकता फैलाने के लिए सीएनबीसी टीवी 18 के साथ साझेदारी कर लायंस कॉर्पाेरेट, समुदाय और स्थिरता-बेहतर कल के लिए आज का एजेंडा विषय पर गोलमेज चर्चाओं का आयोजन करेगा। ये गोलमेज सम्मेलन जयपुर, हैदराबाद में आयोजित किए जाएंगे और एलसीओआई पुरस्कार समारोह के बाद मुंबई में समाप्त होंगे।  

लायन्स कोन्सिल ऑफ इंडिया के चेयरमैन वी.के लाडिया ने बताया कि इस दो दिवसीय बैठक में कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तथा आसाम से लेकर कच्छ तक के लायन्स सदस्य भाग ले रहे है। विश्व में लायन्स क्लब 209 देशों में फैला हुआ है। विश्व में लान्यस के साढ़े तेरह लाख सदस्य है। भारत में लायन्स के 11 मल्टीपल डिस्ट्रिक्ट, 84 प्रान्त राजस्थान में दो प्रान्त लायन्स डिस्ट्रिक्ट 3233 ई-1 व ई-2 है। भारत में 2,83,000 लायन सदस्य है।
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal