मौसमी बीमारियों का हो प्रभावी नियंत्रण एवं रोकथाम-डॉ काजी

मौसमी बीमारियों का हो प्रभावी नियंत्रण एवं रोकथाम-डॉ काजी

जिला स्वास्थ्य समिति की मासिक बैठक

 
dr Z Qazi

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ शंकर एच बामनिया ने बताया कि आज जिला कलेक्टर महोदय की अनुमति से बाल चिकित्सालय सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक आयोजित की गई जिसमें अध्यक्षता संयुक्त निदेशक, उदयपुर डॉक्टर जेड ए काजी ने की। डॉ काजी ने मौसमी बिमारियों को प्रभावी रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु आवश्यक उपाय करने एवं मुख्यालय पर रहने निर्देश दिए। 

सीएमएचओ डॉ शंकर बामनिया ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा चिकित्सा विभाग में जारी सभी योजनाओं को समय पर पूर्ण करें। राजकीय चिकित्सालय में आने वाले रोगियों का चिरंजीवी बीमा योजना के अंतर्गत पंजीकरण करके उन्हें निशुल्क जांच एवं उपचार उपलब्ध कराया जाए।

अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ रागिनी अग्रवाल ने बताया कि चिरंजीवी बीमा योजना के अंतर्गत वंचित परिवारों को इसमें सम्मिलित करने हेतु आशा ,सी एच ओ एवं ए एन एम द्वारा घर-घर सर्वे कर इस योजना से जुड़वाया जाए। डॉ महेंद्र राठौर एवं डॉ भुवनेश द्वारा पीपीटी के माध्यम से चिरंजीवी बीमा योजना के पोर्टल को विस्तार से समझाया गया जिससे अधिक से अधिक पैकेज बुक किए जा सके। ईकेवाईसी द्वारा बनाए जा रहे आयुष्मान भारत कार्ड अभी तक 50% ही बन पाए हैं इस पर विशेष ज्ञान देने के लिए कहा गया।

आर सी एच ओ डॉ अशोक आदित्य ने बताया कि जहां कम डिलीवरी हो रही है उन स्थानों पर सुविधाएं बढाकर डिलीवरी को बढ़ाया जाये। महिला के गर्भवती होने से लेकर बच्चों के टीकाकरण तक सभी को सिस्टम में लाया जाए।

डॉ मोहन धाकड़ ने बताया कि राज्य सरकार की निशुल्क दवा योजना एवं जांच योजना में उदयपुर की रैंकिंग पिछड़ने लग गई है उसे सुधार कर उदयपुर जिले को फिर से टॉप पर लाया जाए। सभी संस्था अपने द्वारा समय पर रोगी पर्ची की ऑनलाइन एंट्री करें एवं विभाग द्वारा दिए गए 8 पॉइंट पर सभी गतिविधियां पूर्ण करें तो हम राज्य में प्रथम स्थान पर आ जाएंगे।

उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर गजानन गुप्ता ने बताया कि बारिश के मौसम में मौसमी बीमारियां बढ़ जाती है इसके लिए सभी संस्थानों पर एक रैपिड रिस्पांस टीम का गठन किया जाए 

डॉक्टर बामणिया ने सभी बीसीएमओं को निर्देशित किया कि सभी संस्थानों पर बायोमेट्रिक मशीन लगाकर संस्थान के सभी कर्मचारियों की उपस्थिति ऑनलाइन की जाए । इसके लिए राज्य सरकार के विशेष निर्देश प्राप्त हुए हैं। जिले में कार्यरत सभी नीम हकीमों पर योजना बनाकर तुरंत कार्रवाई की जाए। सभी संस्थानों को राष्ट्रीय स्तर पर प्रमाणीकरण हेतु अपनी कार्य क्षमता को बढ़ाकर एन क्यू ए एस की चेक लिस्ट के अनुसार सभी कार्य किया जाए। 11 जुलाई को मनाए जाने वाले जनसंख्या दिवस पर खंड स्तर पर एवं जिला स्तर पर कार्यक्रम आयोजित कर इसे सफल बनाया जाए।

इस बैठक में जिला स्तरीय अधिकारी एवं खंड मुख्य चिकित्सा अधिकारी, खंड कार्यक्रम प्रबंधक एवं सामुदायिक स्वास्थ्य चिकित्सालय प्रभारी उपस्थित थे ।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal