राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस का आयोजन

राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस का आयोजन

शारीरिक एवं मानसिक कमजोरी का कारण होते है पेट में पनपने वाले कृमि - संयुक्त निदेशक

 
krami diwas

उदयपुर 4 सितंबर 2023 । जिले में राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस का आयोजन किया गया। शुभारंभ भुपालपूरा स्थित बालिका विद्यालय में संयुक्त निदेशक डॉ  जेड ए काजी द्वारा बालिकाओं को एल्बेंडाजोल दवा खिलाकर किया गया। इस अवसर पर सीएमएचओ डॉ शंकर एच बामनिया, एडिशनल सीएमएचओ डॉ रागिनी अग्रवाल, डीपीएम सदाकत अहमद, यूपीएम वैभव सरोहा, घनश्याम सोनी एवं चिकित्सा विभाग के अधिकारी, विद्यालय के प्राचार्य और शिक्षक उपस्थित रहे।

संयुक्त निदेशक डॉ काजी ने बताया कि आज पूरे देश में कृमि मुक्ति दिवस का आयोजन किया जाता है। बच्चों को स्वस्थ रखने के लिए एवं उनके विकास के लिए वर्ष में एक बार यह दिवस मनाते हुए पेट के कीड़ों को समाप्त करने के लिए एल्बेंडाजोल दवा खिलाई जाती है।

सीएमएचओ डॉ बामनिया ने बताया कि इस दवा से किसी प्रकार का हानिकारक प्रभाव नहीं होता है। 1 वर्ष से 19 वर्ष तक के बच्चों को यह दवा आवश्यक रूप से खानी चाहिए। पेट में कृमि रहने से हम जो आहार खाते हैं उन्हें कृमि खा जाते हैं और इससे हमारे शरीर में कमजोरी आ जाती है और रक्त की कमी भी हो जाती है जिससे हमारा शारीरिक और मानसिक विकास रुक जाता है। जो बच्चे किसी अन्य बीमारी के कारण पीड़ित है उन्हें यह दवा अभी नहीं खानी चाहिए।आंगनवाड़ी केन्द्रों पर 1 से 5 वर्ष तक के और 6 से 19 वर्ष के स्कूल नहीं जाने वाले बच्चों को दवा खिलाई जाएगी ।

1 से 2 वर्ष तक के बच्चो को 400 एम जी की आधी गोली पीस कर,2 से 3 वर्ष के बच्चो को एक गोली पीस कर और 3 से 19 वर्ष तक के बच्चो को गोली चबाकर खानी होगी।

एडिशनल सीएमएचओ डॉ रागिनी अग्रवाल ने बताया कि आज जिले में लगभग 5.50 लाख बच्चों को यह दवा खिलाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। शिक्षा विभाग और महिला एवं बाल विकास विभाग के सहयोग से विद्यालयो में, आंगनवाड़ी केन्द्रों पर और चिकित्सा संस्थानो पर यह दवा खिलाई जाएगी ।जो बच्चे किसी कारणवश आज दवा नहीं खा पाएंगे उन्हें 11 सितंबर को मॉक अप राउंड में दवा खिलाई जाएगी। विद्यालय के प्राचार्य ने सभी बालिकाओं को दवा खिलाने का आश्वासन दिया।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal