बच्चों में निमोनिया की रोकथाम हेतु चलेगा सांस अभियान

बच्चों में निमोनिया की रोकथाम हेतु चलेगा सांस अभियान

वायु प्रदूषण इसका मुख्य कारण है 

 
saans

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ शंकर एच बामनिया ने बताया कि जिले में 0 से 5 वर्ष तक के बच्चो में निमोनिया से होने वाली मृत्यु दर को कम करने हेतु 23 नवंबर से 28 फरवरी 2024 तक सांस अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के अंतर्गत समुदाय में जागरूकता पैदा करना, निमोनिया को पहचान करने में सक्षम करना, स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा निमोनिया के मिथकों और धारणाओं के बारे में व्यवहार परिवर्तन करना है।

डॉ बामनिया ने बताया कि जिले में हजारों बच्चे प्रतिवर्ष निमोनिया से संक्रमित हो जातें हैं । पांच वर्ष से कम उम्र के बच्चो में निमोनिया से होने वाली मृत्यु कम हो सके इसके लिए यह अभियान चलाया जा रहा है। 

निमोनिया के कारण मृत्यु दर में गरीबी, कुपोषण,साफ पेयजल की कमी, स्वच्छता और स्वास्थ्य देखभाल मुख्य हैं। वायु प्रदूषण इसका मुख्य कारण है निमोनिया के कारण मृत्यु को कम करने हेतु सरकार ने यह अभियान चलाया है। पांच वर्ष तक के बच्चो में स्वच्छता और कुपोषण को विशेष रूप से ध्यान देते हुए जनजागरुकता अभियान चलाया जा रहा है। 

आरसीएचओ डॉ अशोक आदित्य ने बताया कि स्कूलों में चिकित्सा विभाग द्वारा कार्यक्रम चलाया जा रहा है।सभी चिकित्सा संस्थानों पर नर्सिंग अधिकारीयों और स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित किया जा रहा है कि समय पर टीकाकरण कर निमोनिया से बचाव किया जा सकता है इस प्रकार की जागरूकता की जाए।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal