कोटड़ा के समग्र विकास हेतु आयोग करेगा सतत प्रयास- अध्यक्ष बेनीवाल


कोटड़ा के समग्र विकास हेतु आयोग करेगा सतत प्रयास- अध्यक्ष बेनीवाल

कोटडा में बाल आयोग आपके द्वार कार्यक्रम का आयोजन

 
sangita
UT WhatsApp Channel Join Now

बाल श्रम और तस्करी उन्मूलन के लिए किया ग्रामीणों को प्रेरित

उदयपुर 17 अक्टूबर। राजस्थान राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग द्वारा बाल आयोग आपके द्वार कार्यक्रम के तहत जिले के सुदूर जनजाति अंचल कोटडा में जन जागृति कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस दौरान बाल संरक्षण आयोग अध्यक्ष संगीता बेनीवाल, सदस्य राजीव मेघवाल, सदस्य साबो मीणा, सदस्य संगीता गर्ग एवं सचिव निर्मला आईएएस आदि मौजूद रहे।
 

कार्यक्रम में राज्य बाल संरक्षण आयोग अध्यक्ष एवं सदस्यों द्वारा ग्रामीणों को विभिन्न विभागों की जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी गई। इसके अलावा बाल श्रम एवं बाल तस्करी के विरुद्ध जागरूक किया गया। कार्यक्रम में आयोग अध्यक्ष बेनीवाल ने सभी ग्रामीणों को बाल श्रम न करने एवं बाल तस्करी की रोकथाम लगाने हेतु प्रेरित किया। कार्यक्रम के दौरान विभिन्न विभागों के अधिकारियों द्वारा अपने-अपने विभागों से संबंधित योजनाओं एवं क्षेत्र में किए गए कार्यों की विस्तृत रूप से जानकारी दी गई।
 

होनहार छात्राओं का किया सम्मान, दिए पालनहार प्रमाण पत्र
आयोग अध्यक्ष बेनीवाल ने कार्यक्रम में स्कूल शिक्षा में अच्छा परफॉर्मेंस करने वाली स्थानीय ग्रामीण बालिकाओं को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया एवं कई पात्र पालनहारो को पालनहार योजना के प्रमाण पत्र वितरित किए। आयोग अध्यक्ष संगीता बेनीवाल ने पंचायत समिति परिसर स्थित वाचनालय एवं पुस्तकालय का लोकार्पण भी किया। इस दौरान उन्होंने यहां अध्ययन रही छात्राओं से बातचीत की एवं उनके जीवन लक्ष्यों को लेकर पूछा। इस दौरान एक छात्रा ने द्वितीय श्रेणी शिक्षक बनने एवं एक अन्य छात्रा ने फार्मेसिस्ट बनने की इच्छा प्रकट की। इस पर अध्यक्ष संगीता बेनीवाल ने प्रशासन को इन छात्राओं को हर संभव सहायता उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। विकास अधिकारी ने बताया कि पुस्तकालय में हिंदी ग्रंथ अकादमी, एनसीईआरटी सहित महत्वपूर्ण संस्थाओं द्वारा प्रकाशित पुस्तकें छात्र छात्राओं हेतु रखी गई है।

 

कोटडा के समग्र विकास के लिए करेंगे हर संभव प्रयास-बेनीवाल
राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग अध्यक्ष संगीता बेनीवाल ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि जन सुनवाई के दौरान प्राप्त समस्त ज्ञापनों एवं शिकायतों पर त्वरित गति से कार्रवाई सुनिश्चित करने का प्रयास आयोग द्वारा किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कोटडा में विभिन्न विकास कार्यों हेतु बताई गई मांगों के अनुरूप आगामी वर्ष में पेश किए जाने वाले बजट में बाल आयोग की तरफ से कोटडा से संबंधित महत्वपूर्ण विकास प्रस्ताव दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि कोटडा से हो रही बाल तस्करी पर आयोग की पूरी नजर है एवं इसके लिए आयोग चिंतित है। उन्होंने कहा कि विभिन्न प्रकार के अपराधों को रोकने का एक महत्वपूर्ण माध्यम शिक्षा है। ऐसे में यहां के हर बच्चे को पूर्ण शिक्षा से जोड़कर समस्याओं का समाधान किया जा सकता है। कार्यक्रम में बेनीवाल ने सभी को बाल श्रम एवं तस्करी की रोकथाम करने तथा बच्चों को शिक्षा जोड़ने हेतु प्रण दिलाया। उन्होंने कहा कि कोटडा के बच्चे खूब पढ़ लिख कर आगे बढ़े एवं देश में कोटड़ा का नाम रोशन करें।

 

आयोग सदस्यों ने कोटड़ा में शैक्षणिक उत्थान पर दिया जोर
आयोग सदस्य संगीता गर्ग ने विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को दी। उन्होंने भी शिक्षा, पोषण एवं आंगनवाड़ी संबंधित व्यवस्थाओं को और बेहतर करने पर जोर दिया। सदस्य राजीव मेघवाल ने कहा कि उन्हें महसूस हुआ है कि क्षेत्र में शिक्षा के संसाधन कम है जिनमें सुधार किया जाना चाहिए। उन्होंने किशोर न्याय अधिनियम की जानकारी प्रतिभागियों को दी। इसी प्रकार सदस्य हो रहे हैं उन्होंने प्रसन्नता जाहिर की। सदस्य सांबो मीणा ने कहा कि जिल प्रशासन सक्रिय रूप से यहां के विकास हेतु कार्यरत है एवं इस बात पर वे प्रसन्न हैं। उन्होंने ग्रामीणों को अपने बच्चों को शिक्षा से जोड़ने एवं बाल श्रम और तस्करी पर रोकथाम हेतु प्रेरित किया।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal