हिंदुस्तान जिंक में 51वां राष्ट्रीय सुरक्षा सप्ताह समापन समारोह आयोजित


हिंदुस्तान जिंक में 51वां राष्ट्रीय सुरक्षा सप्ताह समापन समारोह आयोजित

जिंक स्मेल्टर देबारी एवं जावर ग्रुप ऑफ माइंस में मशीनरी के सुरक्षा पहलू पर कार्यशाला

 
HZL
UT WhatsApp Channel Join Now

जिंक प्रबंधंन द्वारा सुरक्षा एवं जागरूकता के लिए किये गये प्रयास सराहनीय - पवन कुमार गोयल

सुरक्षा प्रशिक्षण के साथ विकास गतिविधियां, इंडक्शन सेफ्टी ट्रेनिंग, ऑन द जॉब सेफ्टी ट्रेनिंग, सेफ्टी फील्ड ऑडिट की दी जानकारी

उदयपुर। देश की सबसे बड़ी और विश्व की अग्रणी एकीकृत सीसा.जस्ता और चांदी उत्पादक कंपनी हिन्दुस्तान जिंक द्वारा खान सुरक्षा महानिदेशालय (डीजीएमएस) के साथ गुरुवार को जावर ग्रुप ऑफ माइंस में आदर्श सप्ताह आजादी का अमृत महोत्सव मनाया गया। कंपनी की ओर से अंडरग्राउंड धातुमय खदानों में डीजल मशीनरी के सुरक्षा पहलू पर एक कार्यशाला भी हुई। 

मुख्य अतिथि डीजीएमएस (उत्तरी क्षेत्र) के उपमहानिदेशक सतीश डी चिद्दारवार एवं विशिष्ट अतिथि हिन्दुस्तान जिंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री अरूण मिश्रा ने कार्यक्रम का शुभारंभ किया । इस मौके पर विशिष्ट अतिथि गुजरात अहमदाबाद डीजीएमएस मनीष पाल, सूरत डीजीएमएस मुरलीधर मिश्रा, जेपी वर्मा, डायरेक्टर एसबीयू जावर किशोर कुमार, मजदूर संघ महामंत्री लालू राम मीणा, सराडा उपखंड अधिकारी सुभाष हेमानी आदि मौजूद थे। भूमिगत खदानों में सुरक्षा के महत्वपूर्ण विषय पर आयोजित इस कार्यशाला में विभिन्न सरकारी संस्थानों, व्यापारिक संस्थानों, उद्योगों से अधिकारियों और कर्मचारियों ने भाग लिया। । अतिथियों ने सर्वप्रथम जावर सदन में आज से 500 पूर्व खनन करने व उत्पादन करने की प्रत्यक्ष प्रदर्शनी का अवलोकन करते हुए उसका उद्घाटन किया ।इसके बाद खनन क्षेत्र में 75 वर्षों में हुई उन्नति के बारे में जानकारी दी व बताया कि किस तरह हिन्दुस्तान जिंक देश राज्य व खनन क्षेत्र के पास मूल निवासियों के उन्नत जीवन में किस प्रकार योगदान कर रही है ।

केन्द्र सरकार के श्रम एवं रोजगार मंत्रालय द्वारा 7 से 13 मार्च तक देश की आजादी को 75 साल पूरे होने पर आजादी का अमृत महोत्सव मना रही है जो भारत के गौरवशाली इतिहास और भाषाए संस्कृति और लोेगों की अनूठी विविधता का सम्मान करने की एक पहल है। इसे मनाने का उद्देश्य सामुदायिक जुड़ाव बनाने, सामाजिक संपर्क बढ़ाने और भारत की समृद्ध संस्कृति की खोज है। हिन्दुस्तान जिंक ने अपनी स्थापना के बाद से ही सुरक्षा पर जोर देते हुए भूमिगत धातुमय खदानों में डीजल मशीनरी के सुरक्षा पहलुओं पर शिक्षित करने की पहल की है।

हिन्दुस्तान जिंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अरूण मिश्रा ने कहा कि तीन एस सेफ्टी, सस्टनेबिलिटी, स्मार्ट माइनिंग और हमारी अविश्वसनीय प्रतिबद्धता हमें रिकॉर्ड वाल्यूम के रूप् में असाधारण परिणाम देने में सक्षम बनाती है। हिन्दुस्तान जिंक में सुरक्षा प्रौद्योगिकी द्वारा संचालित है जो यात्रा प्रबंधन में मदद करती है और मानव मशीन के संपर्क को कम करती है। जैसा कि हम देश के बुनियादी ढांचे को मजबूत कर राष्ट्र के विकास में सहायता करते हैं। हिन्दुस्तान जिंक में स्वास्थ्य और सुरक्षा का अपना ही महत्व है।

उप खान सुरक्षा महानिदेशक (उत्तर और उत्तर पश्चिम क्षेत्र) सतीश डी चिद्दारवार ने आजादी के अमृत महोत्सव के इस प्रतिष्ठित समारोह में हिन्दुस्तान जिंक के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने भारतीय अर्थव्यवस्था की आधार शिला खनन होने, खनन क्षेत्र में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) बढ़ाने, रोजगार के अवसर पैदा करने, और 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था के भारत के सपने को साकार करने की क्षमता पर पर भी विचार व्यक्त किए। उन्होंने भारत की विकास यात्रा के अगले चरण में खनन क्षेत्र के महत्व पर जोर देते हुए महिलाओं को खनन उद्योग का हिस्सा बनने के लिए प्रोत्साहित किया और बुनियादी ढांचे को समर्थन देने के लिए क्षेत्र के काम करने के तरीके पर बल दिया।

हिन्दुस्तान जिंक ने स्वास्थ्य और सुरक्षा पर कई अद्वितीय उपायों को भी लागू किया है जो डिजिटलाइजेशन का उपयोग करते हैं। इससे सुरक्षाए परिचालन दक्षता और डिजीटल मानकों को बढ़ाने की अनुमति मिलती है। इसके अलावा कंपनी के पास भारत का अपनी तरह का पहला भूमिगत प्राथमिक चिकित्सा केन्द्र है। केन्द्र आधुनिक चिकित्सा उपकरणों से सुसज्जित है जो आपात स्थिति में आवश्यक जीवन रक्षक सहायता प्रदान कर सकता है। विभिन्न परिचालन स्थानों पर कंपनी सुरक्षा प्रशिक्षण और विकास कार्यक्रम जैसे इंडक्शन सेफ्टी ट्रेनिंग, ऑन द जॉब सेफ्टी ट्रेनिंग, सेफ्टी टाउनहॉल और सेफ्टी ऑडिट भी आयोजित करती है।

राष्ट्र निर्माण बिन्दु जैसे रोजगार सृजन, प्रत्यक्ष और परोक्ष रूप से 184 गांवों के 7 लाख लोगों के जीवन की देखभाल, सामाजिक रूप से जिम्मेदार कॉर्पोरेट के रूप् में हिन्दुस्तान जिंक सीएसआर के माध्यम से ग्रामीण और आदिवासी लोगों के जीवन को बेहतर करने के लिए लगातार काम कर रहा है और वर्तमान में करीब सात लाख लोगों तक पहुंच रहा है। कंपनी प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप् से ग्रामीण और आदिवासी लोगों को रोजगार के अवसर प्रदान करती है। इसके पास करीब 25 हजार लोगों का कार्यबल है और राष्ट्र के साथ साथ प्लांट संचालन के आसपास के लोगों के विकास में भी मदद करती है।

हिंदुस्तान जिंक के जिंक स्मेल्टर देबारी परिसर 51वें राष्ट्रीय सुरक्षा सप्ताह का समापन समारोह आयोजित किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि पवन कुमार गोयल उपनिरीक्षक कारखाना तथा बॉयलर उदयपुर, सूरजप्रकाश सहनिरक्षक कारखाना तथा बॉयलर, यूनियन के वरिष्ठ पदाधिकारी मांगीलाल अहीर, प्रकाश श्रीमाल, और एसबीयू हेड लीलाधर पाटीदार ने माँ सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर सुरक्षा शपथ दिलाई।

इस अवसर पर गोयल ने कहा कि उद्योगों का राष्ट्र के विकास में महत्वपूर्ण योगदान है, वर्तमान में नवीनतम तकनीक के साथ ही जोखीम भी बढ़ा है जिसका सही आंकलन कर सुरक्षित कार्य हम सभी की जिम्मेदारी है। उन्होंने हिन्दुस्तान जिंक को सुरक्षा के प्रति सजगता के लिए अनुकरणीय बताते हुए देबारी जिंक स्मेल्टर के सुरक्षा मानकों और जागरूकता की सराहना की।

प्रकाश श्रीमाल ने अपने उदबोधन में युवा संस्कृति में सुरक्षा को पोषित करने की बात की। मांगीलाल अहीर ने अपने उदबोधन में  जिंक स्मेल्टर देबारी के सुरक्षा आयामों तथा विगत वर्षो में हुए परिवर्तनों पर प्रकाश डाला। एसबीयू हेड लीलाधर पाटीदार ने अपने उदबोधन में कहा की सुरक्षा सदैव तथा सर्वत्र है और इसे अपने दैनिक व्यव्हार में लाये। उन्होंने कहा कि सुरक्षा को अपना धर्म मानकर किसी भी असुरक्षित कार्य को ना करने के लिए प्रत्येक व्यक्ति सशक्त है तथा वह स्वयं सदैव सुरक्षित कार्यो को प्राथमिकता देते है तथा देते रहेंगे। 

सुरक्षा तथा पर्यावरण प्रमुख दिगंबर पाटिल ने वर्ष भर के मानकों, उपलब्धियों तथा राष्ट्रीय सुरक्षा सप्ताह में किये गए कार्यो पर प्रकाश डाला। सुरक्षा सप्ताह के दौरान विभिन्न प्रतियोगिताओं सुरक्षा पोस्टर, सुरक्षा स्लोगन, सुरक्षा क्विज, गृह सुरक्षा, प्राथमिक उपचार तथा सीपीआर, सुरक्षा मैराथॉन का आयोजन किया गया। विजेताओं को अतिथियों द्वारा पुरस्कृत किया गया। 

समापन समारोह में कर्मचारियों द्वारा जिंक स्मेल्टर देबारी के शोले नामक सुरक्षा नाटिका प्रस्तुत की गई  जिसमें जीवन रक्षक नियमो की अनुपालना तथा जनरल इलेक्ट्रिकल सेफ्टी मैनेजमेंट पर मनमोहक प्रस्तुति दी गई। कार्यक्रम का संचालन सुरक्षा अधिकारी श्रीमती उषा शर्मा ने किया। इस अवसर पर जिंक स्मेल्टर देबारी के सभी पदाधिकारी भास्करन सेतुपति , राकेश रोहिला, नरेश कुमार अग्रवाल, अमित वाली, विभोर सिंघल, अनूप कुमार, राहुल यादव एवं कर्मचारी उपस्तिथ थे।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal