पुलिस विभाग उदयपुर रेंज के निर्देशन में संचालित कम्युनिटी पुलिसिंग टू बिल्ड अवेयरनेस एण्ड ट्रस्ट कार्यक्रम

पुलिस विभाग उदयपुर रेंज के निर्देशन में संचालित कम्युनिटी पुलिसिंग टू बिल्ड अवेयरनेस एण्ड ट्रस्ट कार्यक्रम

बाल संरक्षण विषयक पुस्तिकाओं का विमोचन

 
पुलिस विभाग उदयपुर रेंज के निर्देशन में संचालित कम्युनिटी पुलिसिंग टू बिल्ड अवेयरनेस एण्ड ट्रस्ट कार्यक्रम

कोविड 19 में बाल सुरक्षा के लिए समन्वित प्रयास आवश्यक - बिनीता ठाकुर 

उदयपुर, 1 जनवरी 2021। पुलिस विभाग उदयपुर रेंज के निर्देशन में संचालित कम्युनिटी पुलिसिंग टू बिल्ड अवेयरनेस एण्ड ट्रस्ट कार्यक्रम के अंतर्गत शुक्रवार को बाल संरक्षण पर आधारित तीन पुस्तिकाओं का विमोचन किया गया। यह विमोचन अतिरिक्त जिला एवं सेशन न्यायाधीश महेन्द्र कुमार दवे, अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस, (भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो जयपुर) दिनेश एम.एन., अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस बिनीता ठाकुर तथा उपमहानिरीक्षक पुलिस कैलाश चन्द्र बिश्नोई द्वारा महानिरीक्षक पुलिस उदयपुर रेंज के कार्यालय में किया गया।

नव पदोन्नत अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस (महानिरीक्षक पुलिस) उदयपुर रेंज बिनीता ठाकुर ने बताया कि रेंज पुलिस द्वारा बाल संरक्षण पर जागरूकता के लिए समय -समय पर प्रयास किए जाते रहें हैं, इन्हीं प्रयासों के अंतर्गत किशोर न्याय अधिनियम की पालना के क्रम में बालकों के मामलों में वस्तुस्थितियों के अनुसार विधिक जानकारी संकलित कर पुस्तिका को न्याय विभाग के अनुभवों के आधार पर कार्यक्रम अंर्तगत विकसित किया गया है। 
 

कोविड 19 के दौरान बालकों की सुरक्षा के विषय पर संवदेनशीलता के साथ सभी के समन्वित प्रयासों की आवश्यकता है। विमोचन के दौरान दिनेश एम.एन. ने पुलिस विभाग उदयपुर रेंज द्वारा बाल संरक्षण के लिए किए जा रहे प्रयासों के बारे में जानकारी ली।

विमोचन कार्यक्रम में किशोर न्याय अधिनियम में हितधारकों की भूमिका नामक पुस्तिका के लेखक एवं अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश श्री दवे ने पुस्तिका के बारे में बताते हुए कहा कि बच्चों की सुरक्षा के लिए समय-समय पर कानूनों में परिवर्तन किए जाते है, ऐसे में देखभाल एवं संरक्षण की आवश्यकता एवं विधि से संघर्षरत बच्चों के मामलों में प्रथम संपर्क के रूप में पुलिस की भूमिका और भी महत्वपूर्ण हो जाती है। उन्होने किशोर न्याय अधिनियम के अर्न्तगत पुलिस विभाग के बाल कल्याण पुलिस अधिकारियों की भूमिका पर प्रकाश डालते हुए पुस्तिका के बारे में संक्षिप्त जानकारी उपलब्ध कराई तथा इसे बालकों के मामलों में अनुसंधान अधिकारियों तथा बाल कल्याण पुलिस अधिकारियों के लिए उपयोगी रिसोर्स बताया।

यूनिसेफ की बाल संरक्षण सलाहकार सिन्धु बिनुजीत ने बताया कि यूनिसेफ राजस्थान के सहयोग से संचालित इस कार्यक्रम के अंतर्गत बाल कल्याण पुलिस अधिकारियों के लिए किशोर न्याय अधिनियम तथा हितधारकों की भूमिका, स्टूडेंट पुलिस कैडेट्स योजना के लिए हिन्दी भाषा में कैडेट्स हेतु केन्द्र सरकार द्वारा प्रकाशित पुस्तिका तथा कोविड 19 के दौरान बाल संरक्षण विषयक पुस्तिकाओं का विकास किया गया है। सभी पुस्तिकाओं में विषयानुसार बाल संरक्षण से संबंधित बिंदुओं को सम्मिलित किया गया है। सभी पुस्तिकाओं को ऑनलाईन माध्यम से हितधारकों को भिजवाया जाएगा। इस अवसर पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक स्वाति शर्मा, प्रशिक्षु आईपीएस रंजीता शर्मा तथा यूनिसेफ टीम के आकाश उपाध्याय उपस्थित रहे।
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal