हर परिवार को पांच साल में 3 बार मिलेंगे 8-8 पौधें

हर परिवार को पांच साल में 3 बार मिलेंगे 8-8 पौधें

घर-घर औषधि योजना की क्रियान्विति के लिए कलक्टर ने ली बैठक

 
collector

कलक्टर ने कहा - ग्राम स्तरीय कमेटी बनाकर घर-घर पहुंचाओं औषधीय पौधे 

उदयपुर, 4 जून 2021। जिला कलक्टर चेतन देवड़ा ने कहा है कि ‘घर-घर औषधि योजना’ राज्य सरकार की एक लोकहितकारी व महत्त्वकांक्षी योजना है, ऐसे में इसके सफल क्रियान्वयन हेतु प्रत्येक ग्राम स्तर पर कमेटी बनाते हुए सरकार की मंशा के अनुरूप हर घर तक औषधीय पौधे पहुंचाएं जावें।

कलक्टर देवड़ा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा वर्ष 2021 में की गई बजट घोषणा में जन स्वास्थ्य रक्षण एवं औषधीय पौधों के संरक्षण-संवर्धन के लिए चलाई जा रही ‘घर-घर औषधि योजना’ के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्तरीय टास्क फोर्स कमेटी की बैठक में अधिकारियों को संबोधित कर रहे थे।

कलक्टर ने योजनांतर्गत इस कमेटी में कृषि, पशुपालन, आयुष व महिला एंव बाल विकास विभाग के कार्मिक-प्रतिनिधियों को शामिल करते हुए पौधों के वितरण की कार्ययोजना तैयार करने, पौधों को तैयार करने और वितरण करवाने के लिए विभागों का सहयोग लेने के निर्देश दिए।

उप वन संरक्षक बालाजी करी ने कहा कि जिला प्रशासन व वन विभाग के नेतृत्व में स्थानीय जनप्रतिनिधियों, पंचायतीराज संस्थाओं, विभिन्न विभागों, संस्थाओं, स्कूलो व औद्योगिक घरानों आदि का सहयोग कर योजना को जन अभियान के रूप में क्रियान्वित किया जाएगा।

हर परिवार को पांच साल में 3 बार मिलेंगे 8-8 पौधें:

बैठक में डीटीएफ के सदस्य सचिव एवं उप वन संरक्षक मुकैश सैनी ने पीपीटी के माध्यम से योजना की विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने बताया कि औषधीय पौधों की विविधता व गुणवत्ता को बढ़ावा देने के लिए शुरू की गई घर-घर औषधि योजना के तहत औषधीय पौधों की पौधशाला विकसित कर तुलसी, गिलोय, कालमेघ अश्वगंधा के दो-दो पौधे उपलब्ध कराए जाएंगे। पांच वर्ष के लिए लागू की जाने वाली इस योजना में हर परिवार को 5 वर्षों में तीन बार आठ-

आठ औषधीय पौंधे वितरित किए जाएंगे

बैठक में जिला परिषद सीईओ डॉ. मंजू ने ग्राम पंचायत स्तर तक के जनप्रतिनिधियों को योजना के बारे में जानकारी उपलब्ध कराने की दृष्टि से बैठकों का आयोजन कराने और इसमें आयुर्वेद एक्सपर्ट्स के माध्यम से वार्ताएं दिलवाने के निर्देश दिए। आयुर्वेद महाविद्यालय प्राचार्य प्रो.महेश दीक्षित ने निर्धारित कार्यक्रम अनुसार जिले के आयुर्वेद एक्सपर्ट्स की सेवाएं उपलब्ध कराने को आश्वस्त किया। बैठक में नगर निगम आयुक्त हिम्मतसिंह बारहठ, एसीएफ केएल शर्मा, डीके तिवारी, सुशील सैनी सहित समस्त संबंधित विभागीय अधिकारी मौजूद थे।
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal