भारत सरकार के ’नीम’ कार्यक्रम के तहत हिन्दुस्तान जिंक द्वारा बी.एससी ग्रेज्यूट्स को रोज़गार हेतु प्रशिक्षण


भारत सरकार के ’नीम’ कार्यक्रम के तहत हिन्दुस्तान जिंक द्वारा बी.एससी ग्रेज्यूट्स को रोज़गार हेतु प्रशिक्षण

वेदान्ता समूह की हिन्दुस्तान जिंक, भारत की एकमात्र एवं दुनिया की अग्रणी एकीकृत जस्ता-सीसा एवं चांदी उत्पादक कंपनी है। हिन्दुस्तान जिंक अपने सामाजिक उत्तरदायित्व के तहत टीमलीज़ स्किल्स यूनिवर्सिटी के सहयोग से "हिन्दुस्तान जिंक नीम कार्यक्रम-2018’’ के अंतर्गत बीएससी स्नातक को रोज़गार हेतु 3 साल की अवधि के लिए आॅन-द-जाॅब प्रशिक्षण दिया जाएगा। चयनित उम्मीदवारों को हिन्दुस्तान जिंक विभिन्न व्यावसायिक आॅपरेशन्स में प्रशिक्षण प्रदान करवायेगी।

 
UT WhatsApp Channel Join Now
भारत सरकार के ’नीम’ कार्यक्रम के तहत हिन्दुस्तान जिंक द्वारा बी.एससी ग्रेज्यूट्स को रोज़गार हेतु प्रशिक्षण

वेदान्ता समूह की हिन्दुस्तान जिंक, भारत की एकमात्र एवं दुनिया की अग्रणी एकीकृत जस्ता-सीसा एवं चांदी उत्पादक कंपनी है। हिन्दुस्तान जिंक अपने सामाजिक उत्तरदायित्व के तहत टीमलीज़ स्किल्स यूनिवर्सिटी के सहयोग से “हिन्दुस्तान जिंक नीम कार्यक्रम-2018’’ के अंतर्गत बीएससी स्नातक को रोज़गार हेतु 3 साल की अवधि के लिए आॅन-द-जाॅब प्रशिक्षण दिया जाएगा। चयनित उम्मीदवारों को हिन्दुस्तान जिंक विभिन्न व्यावसायिक आॅपरेशन्स में प्रशिक्षण प्रदान करवायेगी।

टीमलीज़ स्किल्स यूनिर्सिटी “नेशनल एलीजीबिलिटी एन्हान्समेंट मिशन (नीम)’’ की सरकारी स्कीम के तहत एक अधिकृत एजेंसी है जो एआईसीटीई द्वारा दिशानिर्देशों के अनुसार प्रशिक्षण और रोज़गार के अवसरों का पता लगाने के लिए हिन्दुस्तान जिंक का सहयोग करेगी। यह प्रशिक्षण ’’नेशनल एम्प्लाॅयबिलिटी एन्हान्समेंट मिशन (नीम)’’ रेग्यूलेशन-2017 टेक्निकल एज्यूकेशन के लिए अखिल भारतीय परिषद के प्रावधानों के तहत आती है।

प्रशिक्षण के लिए अभ्यर्थी की उम्र एवं योग्यता – 2015, 2016 एवं 2017 में प्रथम श्रेणी से बीएससी स्नातक होना चाहिए। 10वी, 12वीं एवं स्नातक में 60 प्रतिशत से अधिक अंकों का स्कोर होना चाहिए तथा 31 मार्च 2018 को अधिकतम 25 वर्ष की उम्र हो। प्रशिक्षण की अवधि तीन वर्ष की होगी। हिन्दुस्तान जिंक की सभी इकाईयों में विभिन्न स्ट्रीम्स में पूर्ण रूप से आवासीय 15 दिवसीय फाण्डेशन प्रशिक्षण के साथ प्रारंभ की जाएगी।

प्रशिक्षणार्थियों को 15 दिवसीय फाउण्डेशन कोर्स प्रशिक्षण के लिए आवासीय सुविधाओं व भोजन आदि कि निःशुल्क व्यवस्था उपलब्ध करवायी जाएगी। आॅन-द-जाॅब प्रशिक्षण के दौरान नीम के प्रशिक्षणार्थियों को प्रशिक्षण स्थानों के आस-पास स्वयं को रहने एवं आवास की व्यवस्था करनी होगी। प्रशिक्षणार्थियों को तीन साल तक प्रथम वर्ष में 5538/- रुपये, द्वितीय वर्ष में 11500/- रुपये एवं तृतीय वर्ष में 12500/- रुपये प्रतिमाह स्टाईफण्ड के रूप में दिया जाएगा। इसके अलावा, निःशुल्क वेल्कम किट, ड्यूटी के दौरान रियायती दर पर भोजन, यूनिफार्म, पर्सनल प्रोटेक्टीव इक्यूपमेंट एवं इन्श्योरेन्स की सुविधा उपलब्ध करवायी जाएगी।

प्रशिक्षण के लिए पर दिये गये लिंक http://www.teamleaseuniversity.ac.in पर क्लीक कर “Earn while U Learn-HZL NEEM Program 2018 Registration आॅनलाइन आवेदन किया जा सकता है जो 6 जून, 2018 से प्रारंभ हो गया है और 14 जून, 2018 तक जारी रहेगा। उपर्युक्त लिंक पर अभ्यार्थी विस्तृत जानकारी प्राप्त कर सकता है। इच्छुक अभ्यार्थी उपर्युक्त लिंक को आॅपन कर अपना आवेदन कर सकता है।

प्रशिक्षण में प्रवेश के लिए राजस्थान के प्रमुख शहरों में 23 / 24 जून, 2018 को 90 मिनट का एप्टीट्यूट, एनालिटीक्ल एब्लिटी, इंगलिश एवं जनरल नोलेज से संबधित आॅनलाईन परीक्षा ली जाएगी। अंतिम रूप से चयनित अभ्यार्थियों का फाउण्डेशन कोर्स के लिए प्रशिक्षण स्थान आवंटित से पहले जुलाई, 2018 के प्रथम एवं द्वितीय सप्ताह में उदयपुर में उपस्थित होना पडे़गा।

आॅन-द-जाॅब प्रशिक्षण युवाओं के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण उपयोगी साबित होगा। सफलतापूर्वक प्रशिक्षण प्राप्त करने पर, नीम प्रमाण-पत्र/सर्टिफिकेट प्रदान करेगा जो अभ्यार्थियों को रोज़गार प्राप्त करने में सहायक होगा। अधिक जानकारी के लिए 91-8033243351 पर काॅल कर सकते हैं।

हिन्दुस्तान जिंक अपने सामाजिक सरोकारों के तहत विद्यार्थियों के सर्वांगिण विकास एवं रोज़गार मुहैया कराने के लिए उच्च शिक्षा में सुधार एवं गुणवत्ता के लिए शिक्षा सम्बल कार्यक्रम, ऊंची उडान, स्किल काउन्सिल फोर माईनिंग सेक्टर तथा इण्डियन इन्स्टीट्यूट आॅफ स्किल डवलपमेंट प्रा. लि. के सहयोग से स्थापित हिन्दुस्तान जिंक माईनिंग एकेडमी माईनिंग एकेडमी की स्थापना, सुमेधा स्काॅलरशिप आदि कई महत्वपूर्ण कार्यक्रम संचालित किये जा रहे है।

हिन्दुस्तान जिंक की ओर से सामाजिक उत्तरदायित्व के तहत स्किल काउन्सिल फोर माईनिंग सेक्टर तथा इण्डियन इन्स्टीट्यूट आॅफ स्किल डवलपमेंट प्रा. लि. के सहयोग से स्थापित हिन्दुस्तान जिंक माईनिंग एकेडमी राज्य के लगभग 500 आईटीआई पास-आउट्स युवाओं को जम्बो ड्रिल आॅपरेषंस एवं वाईन्डिग इंजन आॅपरेशंस में प्रशिक्षण देने का लक्ष्य है।

खनन क्षेत्र में मानव संसाधन की कमी को दूर करने के लिए हिन्दुस्तान जिंक ने भारत की पहली माईनिंग एकेड़मी की स्थापना की है जो जंबो ड्रिल तथा वाईडिंग इंजन आॅपरेशन संचालन में आईटीआई उत्तीर्ण अभ्यार्थियों को प्रषिक्षित कर रही है। दीक्षांत समारोह में जंबो ड्रील आॅपरेटर के तीसरे बैच और वाईडिंग इंजन आॅपरेटर के पहले बैच के सभी प्रशिक्षणार्थियों को प्रमाण पत्र एवं दोनो बैच के टाॅप तीन प्रशिक्षणार्थियों को शील्ड एवं नकद राशि से सम्मानित किया जा चुका है।

हिन्दुस्तान जिंक के हेड-कार्पोरेट कम्यूनिकेशन पवन कौशिक ने बताया कि ’’यह जाॅब-आॅन-द प्रशिक्षण कार्यक्रम सरकार से मान्यता प्राप्त प्रमाण पत्र युवाओं को अच्छा रोज़गार प्राप्त करने में सहायक एवं अति महत्वपूर्ण होगा। राजस्थान के बीएससी स्नातक युवाओं को हिन्दुस्तान जिंक की सभी इकाईयों में प्रशिक्षण दिया जाएगा।’’

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal