उदयपुर में आईटी इन्क्यूबेशन सेंटर, हेरिटेज सिटी घोषित करने और टूरिज्म युनिवर्सिटी के लिए सीएम से आग्रह

उदयपुर में आईटी इन्क्यूबेशन सेंटर, हेरिटेज सिटी घोषित करने और टूरिज्म युनिवर्सिटी के लिए सीएम से आग्रह

उदयपुर सिटीजन सोसायटी ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र 

 
udaipur

उदयपुर सिटीजन सोसायटी ने राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने उदयपुर में आईटी इन्क्यूबेशन सेंटर, हेरिटेज सिटी घोषित करने और टूरिज्म युनिवर्सिटी के लिए सीएम से आग्रह करते पत्र लिखा है। 

उदयपुर सिटीजन सोसायटी के अध्यक्ष क्षितिज कुम्भट ने बताया कि उदयपुर मौजूदा समय में आईटी कम्पनियों की पसंदीदा जगह बन रहा है। भविष्य में आईटी की प्रचुर संभावनाओं को देखते हुए उदयपुर में आईटी इन्क्यूबेशन हब (सेंटर) की अत्यंत आवश्यकता महसूस की जा रही है। इससे आईटी क्षेत्र के विकास के साथ उदयपुर में रोजगार भी स्थापित होंगे। इन्क्यूबेशन सेंटर पर जब स्टूडेंट्स जाएंगे तो वे न केवल नई तकनीक से परिचित हो सकेंगे, बल्कि अपने भविष्य के लिए भी इस क्षेत्र को चुनने के पथ पर बढ़ सकेंगे। यह एक ऐसा केंद्र होता है जहां शोध के लिए प्रयोगशाला की भी सुविधा होती है।

उन्होंने बताया कि इन्क्यूबेशन हब (सेंटर) स्थापित होने से विभिन्न कम्पनियों और स्टार्टअप्स को भी यहां पर अपना उद्यम शुरू करने में सहूलियत मिल सकेगी। मार्गदर्शन, सहयोग के साथ मशीनरी के लिए भी उन्हें सहयोग मिल सकेगा।

साथ ही, उन्होंने उदयपुर को हेरिटेज सिटी घोषित किए जाने और उदयपुर में टूरिस्ट यूनिवर्सिटी पर भी विचार करने का आग्रह किया है। चूंकि, उदयपुर अपनी विरासत, झीलों, पहाड़ों के सौन्दर्य से पूरे विश्व को अपनी ओर आकर्षित करता है, राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय बैठकें भी उदयपुर में नियमित होती रहती हैं, दिन-ब-दिन उदयपुर में टूरिज्म परवान चढ़ रहा है, ऐसे में उदयपुर की हर तरह की विरासत को सहेजने के लिए इसे हेरिटेज सिटी के रूप में घोषित किए जाने की आवश्यकता है जिससे शिल्प सौन्दर्य सहित यहां की परम्पराओं, पारम्परिक खान-पान, लोक कलाओं, हस्तशिल्प, यहां की बोली, संस्कृति आदि का संरक्षण व संवर्धन जारी रहे।

उन्होंने बताया कि जब उदयपुर टूरिज्म के क्षेत्र में सिरमौर बन रहा है तो टूरिज्म से संबंधित हर तरह के पाठ्यक्रम की उपलब्धता भी एक ही छत के नीचे होनी चाहिए और वह छत टूरिज्म यूनिवर्सिटी के रूप में उदयपुर में ही स्थापित हो तो इससे बेहतर पहल क्या हो सकती है। एक ही यूनिवर्सिटी ऐसी बने जिसमें टूरिज्म से जुड़े हर क्षेत्र के पाठ्यक्रम मसलन फूड, हॉस्पिटेलिटी, होटल मैनेजमेंट, ट्रेवल मैनेजमेंट, टूरिस्ट गाइडिंग आदि वृहद सेवाओं को इसमें शामिल किया जा सकता है। इससे न केवल उदयपुर का महत्व बढ़ेगा, अपितु उदयपुर के टूरिज्म सेक्टर में उदयपुर की प्रतिभाएं अपना भविष्य बना सकेंगी।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  WhatsApp |  Telegram |  Signal