खादी को बढ़़ावा देने हेतु वेल्यू एडीशन के साथ मॉर्डन टच देकर खादी को बाजार में लायेंःभट्ट

खादी को बढ़़ावा देने हेतु वेल्यू एडीशन के साथ मॉर्डन टच देकर खादी को बाजार में लायेंःभट्ट

खादी मेले की बिक्री लक्ष्य से आगे निकलते हुए 129.31 लाख पंहुची

 
khadi

खादी की 84.26 लाख एवं ग्रामोद्योग उत्पादों की 45.05 लाख की बिक्री

संभागीय एवं जनजाति आयुक्त राजेन्द्र भट्ट ने कहा कि अब समय आ गया है कि खादी में वेल्यू एडीशन का समावेश होना चाहिये ताकि उसे मॉर्डन टच देकर बाजार में लाकर उसे अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ले जाया जा सकें। वे आज राजस्थान खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड जयपुर एवं जिला उद्योग व वाणिज्य केन्द्र उदयपुर के संयुक्त तत्वावधान में टाउनहॉल में आयोजित की जा रही 17 दिवसीय संभाग स्तरीय खादी ग्रामोद्योग प्रदर्शनी 2021 के अवलोकन के दौरान बोल रहे थे।

उन्होंने कहा कि पुरूष व विशेष तौर पर महिला के खादी वस्त्रों की डिजाईन करने हेतु राष्ट्रीय व अतंर्राष्ट्रीय डिजायनर के साथ टाई अप कर उसे नया लुक देते हुए उसे अंतर्राष्ट्रीय बाजार उपलब्ध कराने हेतु खादी को राह दिखानी चाहिये। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों के खादी उत्पादों की की मार्केटिंग राजससंघ के जरिये करायी जा सकती है इससे ग्रामीण खादी उत्पादकों की आमदनी में वृद्धि हो सकेगी।
 

इस अवसर पर राजस्थान आदिम जाति सेवक संघ उदयपुर के अध्यक्ष लक्ष्मी नारायण पण्ड्या ने कहा कि खादी उत्पादों की गतिविधियों को नरेगा से जोड़ इस क्षेत्र में कार्य करने वाले खादी उत्पादकों के लिये रोजगार के नये अवसर उपलब्ध कराये जानें चाहिये। इस मौके पर पूर्व संभाग अधिकारी प्रकाशचन्द्र गौड ने खादी क्षेत्र में हो रहे नये इनोवेशन की जानकारी दी।
 

प्रारम्भ में मेला संयोजक व संभाग अधिकारी गुलाबसिंह गरासिया ने कहा कि मेले में सरकार द्वारा दी जा रही अधिकतम 50 प्रतिशत की छूट का लाभ लेते हुए जनता ने अब तक जबरदस्त खरीदारी की। जिस कारण सरकार द्वारा मेले के लिये दिये गये 125 लाख रूपयें के बिक्री के लक्ष्य को पार करते हुए 24 दिसम्बर तक 129.31 लाख रूपयें की बिक्री पार हो चुकी है। जिसमें खादी की 84.26 लाख एवं ग्रामोद्योग उत्पादों की 45.05 लाख की बिक्री शामिल है। इस अवसर पर दिलीप परमार,निर्मल टेलर,दीपक रावत भी मौजूद थे।  

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  WhatsApp |  Telegram |  Signal