विश्व की प्रमुख मल्टीनेशनल कंपनी ‘जीई हेल्थकेयर’ व गीतांजली के मध्य एमओयू


विश्व की प्रमुख मल्टीनेशनल कंपनी ‘जीई हेल्थकेयर’ व गीतांजली के मध्य एमओयू

उदयपुर 5 जुलाई 2019, विश्व की प्रमुख मल्टीनेशनल कम्पनी विप्रो जीई हेल्थकेयर ने गीतांजली यूनिवर्सिटी, गीतांजली मेडिकल काॅलेज एवं हाॅस्पिटल व गीतांजली इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्निकल स्टडीज़, उदयपुर ने मेडिकल, इंजीनियरिंग एवं एमबीए के विद्यार्थियों को प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए एमओयू साइन किया। इस ए

 
UT WhatsApp Channel Join Now

विश्व की प्रमुख मल्टीनेशनल कंपनी ‘जीई हेल्थकेयर’ व गीतांजली के मध्य एमओयू

उत्तरी भारत की सबसे अत्याधुनिक एमआरआई मशीन की स्थापना गीतांजली हाॅस्पिटल में

उदयपुर 5 जुलाई 2019, विश्व की प्रमुख मल्टीनेशनल कम्पनी विप्रो जीई हेल्थकेयर ने गीतांजली यूनिवर्सिटी, गीतांजली मेडिकल काॅलेज एवं हाॅस्पिटल व गीतांजली इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्निकल स्टडीज़, उदयपुर ने मेडिकल, इंजीनियरिंग एवं एमबीए के विद्यार्थियों को प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए एमओयू साइन किया। इस एमओयू का मुख्य उद्देश्य विद्यार्थियों को कौशल व शैक्षणिक उत्कृष्टता प्रदान करना एवं बायोमेडिकल सेंटर ऑफ़ एक्सीलैंस की स्थापना करना है।

इस एमओयू के अंतर्गत गीतांजली मेडिकल काॅलेज एवं हाॅस्पिटल ‘‘GEHCI स्किल क्रिएशन पार्टनर’’ के रुप में स्थापित होगा जो HSSC हेल्थकेयर संबंधी व्यवसायिक पाठ्यक्रमों को पूरा करने में मदद करेगा। इसके साथ ही गीतांजली उत्तरी भारत का पहला मेडिकल काॅलेज होगा जहां जीई हेल्थकेयर के सिग्ना आर्किटेक्ट की ‘‘128-चैनल माॅडल 3 टेस्ला एमआरआई मशीन’’ स्थापित होगी, जो दुनिया की सबसे अत्याधुनिक एमआरआई तकनीक है। यह प्रणाली अन्य लोगों में उन्नत न्यूरोलोजी, कैंसर एवं संपूर्ण शरीर में किसी भी रोग का पता लगाने के लिए फायदेमंद होगी।

इसके अतिरिक्त एमआरआई मशीन अत्याधुनिक एवं नवीनतम सुविधाओं से सुसज्जित है जिसमें वाइड बोर (विशेष कर क्लाॅस्ट्रोफोबिक रोगियों के लिए), साइलेंट स्कैन (करीबी शोर के स्तर को कम करता है जिससे तनाव मुक्त स्कैन किया जा सके), दुनिया की अत्याधुनिक न्यूरो इमेजिंग सुविधाओं से लैस, अत्याधुनिक एप्लीकेशन जिससे स्कैन में लगने वाला समय कम होगा एवं रोगियों को आरामदायक अनुभव प्रदान करेगी।

इस अवसर पर गीतांजली समूह के कार्यकारी निदेशक श्री अंकित अग्रवाल ने बधाई देते हुए कहा कि, ‘‘इस करार के तहत जीई हेल्थकेयर उत्तरी भारत में केवल गीतांजली में विश्व स्तरीय अत्याधुनिक तकनीकें स्थापित करेगा। साथ ही बायो-मेडिकल इंजीनियरिंग में सेंटर ऑफ़ एक्सीलैंस स्थापित करेगा जिससे ग्रेजुएट एवं पीजी विद्यार्थियों को तकनीकी पाठ्यक्रम के साथ-साथ शैक्षणिक उत्कृष्टता प्रदान की जाएगी।”

गीतांजली मेडिकल काॅलेज एवं हाॅस्पिटल के सीईओ प्रतीम तम्बोली ने कहा कि, ‘‘इस करार से गीतांजली के विद्यार्थियों को अधिक रोजगार एवं सिमुलेशन कार्यशाला में हिस्सा लेने का अवसर भी प्रदान होगा। इसके अतिरिक्त विप्रो जीई हेल्थकेयर इनोवेशन एवं रिसर्च में भी सहयोग प्रदान करेगा। इस अत्याधुनिक तकनीक एवं सहयोग के साथ गीतांजली, चिकित्सा शिक्षा, स्वास्थ्य सेवा और रिसर्च में अग्रणी रहेगा। जो समस्त उदयपुर वासियों के लिए गौरव का विषय है।’’

भारत व दक्षिण एशिया विप्रो जीई हेल्थकेयर के प्रबंध निदेशक नलिनीकांत गोलगुंटा ने जीएमसीएच को बधाई देते हुए कहा कि, ‘‘उदयपुर एवं दक्षिण राजस्थान के लोगों को वैश्विक चिकित्सकीय देखभाल प्रदान करने के लिए यह एमओयू किया गया है। यह हमारे लिए गर्व का क्षण है कि हमारी प्रमुख एवं अत्याधुनिक चिकित्सा तकनीक उदयपुर व आस-पास के क्षेत्र के लोगों को उत्कृष्ट एवं गुणवत्तापूर्ण चिकित्सा देखभाल प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभएगी। अपनी कुशल भागीदारी के माध्यम से हम विद्यार्थियों को नए कौशल प्रदान करेंगे जो अंततः उन्हें बेहतर प्रोफेश्नल बनाने में मदद करेगा।’’

गिट्स के डायरेक्टर डाॅ विकास मिश्र ने बताया कि गिट्स एवं जीई हेल्थकेयर के मध्य एकेडमिक करार हुआ है जिसके अंतर्गत गिट्स में ‘बायो मेडिकल सेंटर ऑफ़ एक्सीलैंस’ स्थापित होगा जो इंजीनियरिंग विद्यार्थियों की कौशल वृद्धि में निपुणता प्रदान करेगा। साथ ही मेडिकल उपकरणों सहित सिमुलेशन लैब की स्थापना की जाएगी। जीई हेल्थकेयर द्वारा पहले बैच में 60 विद्यार्थियों को प्रशिक्षित किया जाएगा और पीजी विद्यार्थियों के लिए 2 दिवसीय हैंड्स ऑन ट्रेनिंग सिम्यूलेटर कार्यशाला का आयोजन होगा। इसके साथ ही जीई उपकरणों के प्रयोगों के लिए डिजिटल एक्सपर्ट सोल्यूशन की सहायता भी प्रदान करेगा।

गीतांजली मेडिकल काॅलेज एवं हाॅस्पिटल 35 एकड़ क्षेत्र में फैले, 1200 शय्याओं युक्त एक मल्टी सुपर-स्पेशलिटी हाॅस्पिटल है जहां एक ही छत के नीचे सभी नवीनतम एवं अत्याधुनिक चिकित्सा सेवाएं उपलब्ध है। गीतांजली हाॅस्पिटल का उद्देशय रोगियों को किफायती दर इलाज पर उपलब्ध कराना है और साथ ही ’’हेल्थ इज़ हैपीनेस़’’ के सिद्धांत को पूरा करना है। गीतांजली हाॅस्पिटल में 25 से ज्यादा सुपर स्पेशलिटी सेवाएं, 300 से ज्यादा अनुभवी चिकित्सकों की टीम और 24X7 इमरजेंसी सेवाएं उपलब्ध है ।

पिछले 11 वर्षों से यह संस्थान शिक्षा, अनुसंधान एवं स्वास्थ्य के क्षेत्र में मानवता के लाभ के लिए प्रतिबद्ध है। इसका नैदानिक उत्कृष्टता के मानक रुप में महत्वपूर्ण योगदान रहा है। उत्कृष्टता के साथ-साथ गीतांजली तकनीकी श्रेष्ठता, रोगी केंद्रित दृष्टिकोण, स्पष्ट और विशिष्ट लागत और अनुसंधान के क्षेत्र में बढ़त के स्तंभों पर टिकी हुई है। हाॅस्पिटल के कई प्रमुख विभाग जैसे सुपर स्पेशियलिटी सेवाएं जिनमें कैंसर, कार्डियक, निःसंतानता, न्यूरोलोजी, न्यूरोसर्जरी, नेफ्रोलोजी, यूरोलोजी, गेस्ट्रोएंट्रोलोजी व जीआई सर्जरी, जोइंट रिप्लेसमेंट सेंटर, नियोनेटोलोजी, एंडोक्राइनोलोजी, बर्न एवं प्लास्टिक सर्जरी और स्पेशियलिटी सेवाएं जिनमें जनरल मेडिसिन, जनरल सर्जरी, चर्म रोग, मनोरोग, नेत्र रोग, टीबी एवं चेस्ट, नाक, कान एवं गला, स्त्री रोग, अस्थि रोग और बाल एवं शिशु रोग शामिल है। इसके अलावा दो कैथ लेब, डे केयर यूनिट, ब्लड बैंक, इमेजिंग सुविधाएं, गहन चिकित्सा ईकाई, फार्मेसी, बैंक, एटीएम, कैंटीन आदि जैसी सुविधाएं भी 24X7 उपलब्ध है। साथ ही दक्षिणी राजस्थान में किडनी ट्रांसप्लांट, बिना ओपन हार्ट सर्जरी वाॅल्व का प्रत्यारोपण (टावी) एवं एपिलेप्सी सर्जरी केंद्र के रुप में स्थापित एकमात्र हाॅस्पिटल है।

Download the UT Android App for more news and updates from Udaipur

इंजीनियरिंग, बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन एवं कम्प्यूटर एप्लीकेशन के क्षेत्र में प्रेक्टिल अप्रोच, हेण्ड्स ऑन ट्रेनिंग एवं बेहतर अकादमिक कार्यप्रणाली के चलते विख्यात शिक्षण संस्थानों में गीतांजली इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्निकल स्टडीज़, उदयपुर अपना नाम दर्ज करा रहा है। उल्लेखनीय है कि उदयपुर के प्रमुख उद्योगपति श्री जेपी अग्रवाल द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में गीतांजली इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्निकल स्टडीज़ की स्थापना 2002-03 में की गई थी।

विगत 18 वर्षों से गीतांजली ग्रुप ने राष्ट्र निर्माण के लिए इंजीनियरिंग, मेडिकल, मैनेजमेंट, कम्प्यूटर एप्लीकेशन शिक्षा के क्षेत्र में 15 शिक्षण संस्थानों का सृजन किया। इन सभी संस्थानों में देश भर से 10000 से अधिक छात्र-छात्राएं एवं 1500 से अधिक व्याख्याता अपने अथक प्रयासों से राष्ट्र निर्माण में अपनी भागीदारी निभा रहे है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal