नार्मल प्रसव को बढ़ावा देने के लिए प्रसूति रोग विशेषज्ञ जुटेंगी


नार्मल प्रसव को बढ़ावा देने के लिए प्रसूति रोग विशेषज्ञ जुटेंगी

प्राकृतिक प्रसव पर जोर देने के लिए प्रसूति रोग विशेषज्ञों की तीन दिवसीय कांफ्रेंस शुक्रवार से शुरू होगी। इससे पहले गुरुवार को आरएनटी मेडिकल काॅलेज के एनएलटी थियेटर में खुला मंच होगा जिसमें महिलाएं अपनी गायनिक समस्याओं के लिए सीधी डॉक्टर से बात कर सकेंगी। कांफ्रेंस का उद्घाटन 21 जुलाई को शाम 7 बजे होटल रेडिसन ब्लू में फोक्सी की अध्यक्ष डॉ. जयदीप मल्होत्रा करेंगी।

 
UT WhatsApp Channel Join Now
नार्मल प्रसव को बढ़ावा देने के लिए प्रसूति रोग विशेषज्ञ जुटेंगी

प्राकृतिक प्रसव पर जोर देने के लिए प्रसूति रोग विशेषज्ञों की तीन दिवसीय कांफ्रेंस शुक्रवार से शुरू होगी। इससे पहले गुरुवार को आरएनटी मेडिकल काॅलेज के एनएलटी थियेटर में खुला मंच होगा जिसमें महिलाएं अपनी गायनिक समस्याओं के लिए सीधी डॉक्टर से बात कर सकेंगी। कांफ्रेंस का उद्घाटन 21 जुलाई को शाम 7 बजे होटल रेडिसन ब्लू में फोक्सी की अध्यक्ष डॉ. जयदीप मल्होत्रा करेंगी।

फैडरेशन आॅफ आब्सटेटिक्स एण्ड गायनेकोलोजिकल सोसायटी आॅफ इण्डिया फॉक्सी, एवं उदयपुर गायनिक सोसायटी के तत्वावधान में आयोजित इस कांफ्रेंस में वेस्ट जोन के सात राज्य गुजरात, महाराष्ट्र, राजस्थान, गोआ, मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ के 600 प्रसूतिरोग विशेषज्ञ भाग लेंगे। आयोजन अध्यक्ष डॉ. मधुबाला चौहान ने बताया कि कांफ्रेंस में फोक्सी की पांचों उपाध्यक्ष डॉ. लीला व्यास, डॉ. एन. सी. पटेल, डॉ. रजत रे, डॉ. प्रतिमा मित्तल, डॉ. जयम कानन सहित कई ख्यातनाम प्रसूति रोग विशेषज्ञ भाग लेंगी।

आयोजन सचिव डॉ. सुधा गांधी ने बताया कि आर्ट एण्ड क्राफ्ट आॅफ वेजाइनल डिलेवरी नामक इस कांफ्रेंस का उद्देश्य नेचुरल प्रसव को बढ़ावा देना है। आज देश में 20 फीसदी प्रसव सीजेरियन हो रहे हैं जबकि प्रसव एक नेचुरल प्रक्रिया है। कांफ्रेंस के जरिए भावी डॉक्टरों को नार्मल प्रसव कराने की कला एवं उसके तरीकों से रुबरु कराया जाएगा।

खुला मंच गुरूवार को-

उद्घाटन से पहले गुरुवार को शाम पांच बजे एक खुला मंच होगा जिसमें डॉक्टर की टीम, शहर की जज प्रभा शर्मा एवं एडिशनल एसपी एटीएस, रानू शर्मा से आमजन मेडिको लीगल समस्याओं पर व डॉक्टरों से गायनिक समस्याओं पर बात कर सकेंगे। इस मंच के जरिए इन दिनों डॉक्टर व मरीजों में बढ़ रहे अविश्वास को भी कम किया जाएगा।

20 को वर्कशॉप-

कांफ्रेंस के पहले दिन 20 जुलाई को सुबह 9 से शाम 6 बजे तक वेजाइनल डिलेवरी के विभिन्न तरीकों पर कई सत्र होंगे। जिसमें मॉडल के जरिए नेचुरल प्रसव कराने के तरीकों को प्रायोगिक समझाया जाएगा।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal