तकनीक का उपयोग सामाजिक बुराई को दूर करने के लिए होना चाहिए -जिला कलेक्टर


तकनीक का उपयोग सामाजिक बुराई को दूर करने के लिए होना चाहिए -जिला कलेक्टर

गीतांजली इन्स्टिटियूट आॅफ टेक्नीकल स्टडीज, डबोक, उदयपुर में राष्ट्रीय स्तर का पांचवाँ साइंटेक प्रो कैफे के कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसके तहत देश के विभिन्न प्रदेशों के स्कूल से आये कक्षा 11वी व 12वी के विज्ञान वर्ग के

 
UT WhatsApp Channel Join Now

तकनीक का उपयोग सामाजिक बुराई को दूर करने के लिए होना चाहिए -जिला कलेक्टर

गीतांजली इन्स्टिटियूट आॅफ टेक्नीकल स्टडीज, डबोक, उदयपुर में राष्ट्रीय स्तर का पांचवाँ साइंटेक प्रो कैफे के कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसके तहत देश के विभिन्न प्रदेशों के स्कूल से आये कक्षा 11वी व 12वी के विज्ञान वर्ग के छात्रों ने भाग लिया। कार्यक्रम की शुरूआत अतिथियों द्वारा दीप प्रज्जवलन की गई।

गिट्स के डायरेक्टर डाॅ. विकास मिश्र ने बताया कि इस समारोह में देश भर से आये 132 विभिन्न विद्यालयों केे 472 प्रोजेक्ट के साथ 3000 से ज्यादाविद्याथियों ने भाग लिया। सांइटेक प्रो कैफे आयोजन पिछले पांच सालो से होता आ रहा है जिसका उद्देश्य छात्रों को विज्ञान के प्रति जागरूक करना हैं। तकनीकी बहुत ही तेजी से बदल रही हैं नित्य नये- नये आविष्कार हो रहे हैं हमारा सामाजिक दायित्व बनता है कि इन आविष्कारों से जन-जन को अवगत कराया जाये। गिट्स इन सब के लिए एक मंच उपलब्ध कराता हैं जहां पर विभिन्न विद्यालयों के विद्यार्थी आपस में एक दूसरे के साथ ज्ञान साझा करते हैं।गिट्स के वाइस चेयरमेन श्री कपिल अग्रवाल ने कहा कि गिट्स अपने स्तर पर समाजोपयोगी तथा ज्ञानोपयोगी कार्यक्रम करता आया है और भविष्य में आगे भी करता रहेगा। जिससे समाज को एक नई दिशा प्रदान की जा सके। गिट्स समाजोपयोगी शोध के लिए आर्थिक अनुदान हमेशा देता आया हैं और भविष्य में आगे भी देता रहेगा। । गिट्स तकनीकी के माध्यम से समाज व देश की सेवा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में उदयपुर कलेक्टर श्री बिष्णु चरण मल्लिक ने कहा कि समाज में छुपी हर उस प्रतिभा को खोजना होगा जो समाज व देश सेवा में काम आ सके। साथ ही उन्होनें कहा कि अभी भी समाज में बहुत सारी कुरूतियां प्रचलित हैं विज्ञान तथा तकनीकी का उपयोग समाज में फैली कुरूतियों को दुर करने में होना चाहिए। मुख्य अतिथि के रूप में पधारे गोविन्द गुरू ट्राइबल विश्वविद्यालय बांसवाडा के कुलपति प्रो. कैलाश सोडानी ने कहा कि प्रतिभाओं को हम समय में नहीं बांध सकते। 21वीं सदी की अर्थव्यवस्था ज्ञान आधारित हैं हमें अपने ज्ञान को बढाना होगा।

Download the UT App for more news and information

विशिष्ट अतिथि के रूप में पधारे प्रो. करूणेश सक्सेना (डायरेक्र आई.क्यू.ए.सी.) मोहन लाल सुखाडिया विश्वविद्यालय, उदयपुर ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि तकनीक का उपयोग जो मानव जीवन को सरल बनाने के लिए करना चाहिए। गिट्स एम.बी.ए. के डायरेक्टर डाॅ. पी. के. जैन ने कहा कि विद्यार्थी 21वी. सदी के भारत की उभरती हुई तस्वीर हैं इन विद्यार्थियों की ऊर्जा का सम्मान होना चाहिए। गिट्स के वित्त नियंत्रक बी.एल. जांगिड़ ने कहा कि केवल प्रतियोगिता में शामिल होना ही उद्देश्य नहीं होना चाहिए बल्कि जो तकनीक लेकर आप प्रतियोगिता में शामिल हो रहे है उसकी व्यवहारिकता पर ध्यान देना चाहिए

तकनीक का उपयोग सामाजिक बुराई को दूर करने के लिए होना चाहिए -जिला कलेक्टर

कार्यक्रम के संयोजक प्रो. राजीव माथुर ने बताया विद्यार्थियो द्वारा बनाये गये प्रोजेक्ट्स एवं इनोवेटिव आईडियास का निरीक्षण व आंकलन जजों के पैनल द्वारा किया गया। उन्होंने बताया कि जज के रूप में श्री राजेश भाटिया (एच आर हेड आर्कगेट), श्री पी.के.जैन (एक्स एच. आर. हेड हिन्दुस्तान जिंक लिमिटेड), सोनल सुखवाल (एच.आर.-आई ई.वी.ओ., उदयपुर), श्री लव भटनागर (सी.ई.ओ. एण्ड फाउण्डर केरियर ट्रांजिशन) एव मोनिका शर्मा (फाउण्डर मेत्री मंथन एन.जी.ओ., उदयपुर) शामिल हुए। इस कार्यक्रम के तहत मेधावी व इनोवेटिव आईडिया वाले छात्रों को दो लाख तक के पुरस्कार वितरित किये गये। जिसमें वर्किंग मोडल प्रोजेक्ट में प्रथम पुरस्कार आदर्श विद्या मन्दिर सीनियर सेकेण्डरी स्कूल, सिरोही को 31 हजार, तथा द्वितीय पुरस्कार आदित्य बिरला हायर सेकेण्डरी स्कूल, नीमच 21 हजार व तृतीय पुरस्कार श्री महेश शिक्षा सदन भीलवाडा को 5500 के दो पुरस्कार प्राप्त हुए। साइंटिफिक प्रोजेक्ट में प्रथम पुरस्कार सेंट एन्थोनी सिनियर सेकेण्डरी स्कूल, सेक्टर 14, उदयपुर को, तथा द्वितीय पुरस्कार आदर्श विद्या मन्दिर सिनियर सेकेण्डरी स्कूल, सीरोही व तृतीय पुरस्कार महाराणा मेवाड पब्लिक स्कूल, उदयपुर को पुरस्कार प्राप्त हुए। पोस्टर डिजाइन में प्रथम पुरस्कार सेंट मैरी सिनियर सेकेण्डरी स्कूल, फतेहपुरा, उदयपुर व ग्रीन फिल्ड पब्लिक स्कूल, नीमच को तथा द्वितीय पुरस्कार सेंट मैरी सिनियर सेकेण्डरी स्कूल, तितरडी, उदयपुर व पी.एल.सी. कोचिंग सेन्टर, चित्तोडगढ़ व तृतीय पुरस्कार रेयान पब्लिक स्कूल उदयपुर व मोडर्न स्कूल डूंगरपुर को पुरस्कार प्राप्त हुए। इसके अतिरिक्त विभिन्न विद्यालयों सांत्वना पुरस्कार प्रदान किये गये।

इस अवसर पर मुख्य अतिथियों द्वारा गिट्स के मैकेनिकल इन्जिनियरिंग के छात्रों द्वारा काॅलेज परिसर में ही पूर्णतया निर्मित एवं डिजाइन किये गये 3-d प्रिन्टर का उद्घाटन किया गया। मुख्य अतिथियों द्वारा प्रिन्टर की बारिकियों की सराहना की गई। कार्यक्रम का संचालन की प्रवक्ता अंजली धाबाई द्वारा किया गया। इस अवसर पर गिट्स के सभी डीन, विभागाध्यक्ष शिक्षक व कर्मचारी उपस्थित थे।

तकनीक का उपयोग सामाजिक बुराई को दूर करने के लिए होना चाहिए -जिला कलेक्टर

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal