यूसीसीआई की अमरीकी दूतावास की आर्थिक अधिकारी के साथ बैठक


यूसीसीआई की अमरीकी दूतावास की आर्थिक अधिकारी के साथ बैठक 

भारत एवं अमरीका के मध्य आपसी सहयोग एवं व्यापारिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से उदयपुर चैम्बर ऑफ़ काॅमर्स एण्ड इण्डस्ट्री द्वारा अमरीका के दूतावास के आर्थिक मामलों के अधिकारी पीटर ब्राॅडबेन्ट एवं आर्थिक विशेषज्ञ श्रीमति पूर्णिमा कामथ के साथ एक परिचर्चात्मक व्यापारिक बैठक का आयोजन यूसीसीआई भवन में किया गया।
 
यूसीसीआई की अमरीकी दूतावास की आर्थिक अधिकारी के साथ बैठक
UT WhatsApp Channel Join Now
उदयपुर चैम्बर ऑफ़ काॅमर्स एण्ड इण्डस्ट्री द्वारा अमरीका के दूतावास के आर्थिक मामलों के अधिकारी पीटर ब्राॅडबेन्ट एवं आर्थिक विशेषज्ञ श्रीमति पूर्णिमा कामथ के साथ एक परिचर्चात्मक व्यापारिक बैठक का आयोजन यूसीसीआई भवन में किया गया। 

उदयपुर, 4 नवम्बर 2019। ”राज्य में राजनैतिक परिवर्तन का उदयपुर के उद्योग एवं व्यवसाय पर क्या प्रभाव पडा है? सरकारी कामकाज के ऑनलाईन होने से व्यापार में क्या सुगमता आई है? क्या यहां के व्यवसायों पर ग्लोबल स्लो-डाउन का असर देखने में आया है? सामप्रदायिक सौहार्द की यहां क्या स्थिति है? क्या उदयपुर के उद्यमियों के लिये जम्मू कश्मीर एवं लद्दाख में व्यावसायिक अवसर बढे हैं?“

उपरोक्त सवाल पीटर ब्राॅडबेन्ट ने यूसीसीआई सदस्यों से परिचर्चा के दौरान पूछे। भारत एवं अमरीका के मध्य आपसी सहयोग एवं व्यापारिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से उदयपुर चैम्बर ऑफ़ काॅमर्स एण्ड इण्डस्ट्री द्वारा अमरीका के दूतावास के आर्थिक मामलों के अधिकारी पीटर ब्राॅडबेन्ट एवं आर्थिक विशेषज्ञ श्रीमति पूर्णिमा कामथ के साथ एक परिचर्चात्मक व्यापारिक बैठक का आयोजन यूसीसीआई भवन में किया गया। इस बैठक में यूसीसीआई के पदाधिकारियों, कार्यकारिणी सदस्योें एवं पूर्वाध्यक्षों ने भाग लिया।

अध्यक्ष रमेश सिंघवी ने मुख्य अतिथि पीटर ब्राॅडबेन्ट एवं श्रीमति पूर्णिमा कामथ का यूसीसीआई में स्वागत करते हुए कहा कि विगत एक दशक में आर्थिक गतिविधियों ने विश्व के दोनों प्रमुख लोकतांत्रिक देशों भारत एवं अमरीका के मध्य आपसी सम्बन्धों को मजबूती प्रदान की है। भारत में आर्थिक सुधार लागू होने के पश्चात् अमरीका भारत के सबसे बड़े व्यापारिक सहयोगी के रूप में उभरा है तथा दोनों देशों ने आर्थिक सहयोग एवं व्यापारिक परिदृश्य के नये आयाम स्थापित किये है। 

चीन-अमरीका ट्रेड वाॅर के सम्बन्ध में पीटर ब्राॅडबेन्ट ने कहा कि चीन में कार्यरत कई अमरीकी कम्पनियों ने वियतनाम का रूख किया है। भारत को यह देखना होगा कि इन कम्पनियों को यहां मैन्युफैक्चरिंग हेतु निवेश करने के लिये कैसे आकर्षित किया जाये।

अमरीकी राष्ट्रपति पद के चुनाव प्रचार अभियान के दौरान अमरीका में रोजगार के अवसर बढाने हेतु आउटसोर्सिंग पर रोक लगाए जाने सम्बन्धी घोषणा के विषय पीटर ब्राॅडबेन्ट ने स्वीकार किया कि वर्तमान अमरीकी सरकार द्वारा आउटसोर्सिंग को बढावा नहीं दिया जा रहा है। ट्रम्प प्रशासन की ‘अमरीका फर्स्ट'  की नीति के तहत अमरीका में अधिक से अधिक रोजगार के अवसर सृजित किये जाने हेतु वहां की मैन्युफैक्चरिंग एवं सर्विस इण्डस्ट्री में अमरीकीयों को प्राथमिकता दी जा रही है। 

पीटर ब्राॅडबेन्ट एवं श्रीमति पूर्णिमा कामथ ने सदस्यों की जिज्ञासाओं एवं शंकाओं का प्रश्नोत्तर के दौरान समाधान किया। परिचर्चात्मक बैठक के दौरान वरिष्ठ उपाध्यक्ष हेमन्त जैन, उपाध्यक्ष मनीष गलूण्डिया, मानद महासचिव प्रतीक हिंगड, पूर्वाध्यक्ष एम.एल. लूणावत ने विचार रखे। बैठक का संचालन  प्रतीक हिंगड ने किया। परिचर्चा के अन्त में हेमन्त जैन ने सभी को धन्यवाद ज्ञापित किया। 
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal