The Supreme Head of the Indian Orthodox Church “His Holiness” Moran Mar Basilios Marthema Mathews III in Udaipur on 19

इंडियन ऑर्थाेडॉक्स चर्च के सुप्रीम हैड “परम पावन” मोरान मार बेसलियोस मार्थाेमा मैथ्यूज तृतीय 19 को उदयपुर में

इंडियन ऑर्थाेडॉक्स चर्च के सुप्रीम हैड “परम पावन” मोरान मार बेसलियोस मार्थाेमा मैथ्यूज तृतीय 19 को उदयपुर में

सेंट ग्रिगोरियरस स्कूल के वार्षिकोत्सव में लेंगे भाग

 
MORAN MAR Baselios Marthoma Mathews III in Udaipur to participate in the annual function of st gregorios school udaipur
मार्थोमा मैथ्यूज तृतीय के स्वागत को लेकर तैयारियां जोर-शोर से की जा रही है।

उदयपुर 16 नवंबर 2022 । भारत में ऑर्थाेडॉक्स चर्च (मलंकारा ऑर्थाेडॉक्स सीरियन चर्च, जिसे इंडियन ऑर्थाेडॉक्स चर्च के नाम से भी जाना जाता है) के वर्तमान सुप्रीम हैड “परम पावन” मोरान मार बेसलियोस मार्थाेमा मैथ्यूज तृतीय 19 नवम्बर को उदयपुर आयेंगे जहाँ वे सेंट ग्रेगोरियस सी.सै. स्कूल में आयोजित वार्षिक उत्सव “क्रिशेेन्डो“ में उपस्थित हो कर अनुग्रहित करेंगे। 

मार्थोमा मैथ्यूज तृतीय के स्वागत को लेकर तैयारियां जोर-शोर से की जा रही है।

उदयपुर ओर्थोडोक्स चर्च सोसायटी के सचिव जुनेश थॉमस ने आज आयोजित प्रेस वार्ता में बताया कि 19 नवम्बर को आयोजित होने वाले वार्षिक उत्सव में 1500 से अधिक बच्चें रंगांरग कार्यक्रमों की प्रस्तुति देंगें। इससे पूर्व 18 नवम्बर को सिर्फ बच्चों के लिये स्कूल में रंगारंग कार्यक्रम होंगे। 

उन्होंने बताया कि भारत में ऑर्थाेडॉक्स चर्च की स्थापना एडी 52 में प्रभु यीशु के शिष्य संत थॉमस द्वारा की गई थी। इंडियन ऑर्थाेडॉक्स चर्च का संचालन 1934 में स्थापित संविधान अनुसार किया जाता है। इंडियन ऑर्थाेडॉक्स चर्च के सुप्रीम मोरान मार बेसलियोस मार्थाेमा मैथ्यूज तृतीय हैं एवं इस चर्च का मुख्यालय कोट्टयम, केरल में स्थित है।

उन्होंने बताया कि इस अकादमिक सत्र में उदयपुर के सेंट ग्रिगोरियस स्कूल की ओर से 120 से अधिक निर्धन बच्चों को दस लाख रूपयें की सहायता अब तक की जा चुकी है।  इंडियन ऑर्थाेडॉक्स चर्च आजादी के पश्चात सम्पूर्ण भारत में शिक्षा, स्वास्थ्य जैसे सामाजिक कार्याे में निरंतर कार्यरत है। इंडियन ऑर्थाेडॉक्स चर्च के अधीन कई शैक्षणिक संस्थाएँ जैसे सेंट ग्रिगोरियस,एमजीएम एवं सेंट बेसिल शिक्षा के क्षेत्र में पूरे भारतवर्ष में अग्रणी भूमिका निभा रही हैं।

उदयपुर में इंडियन ऑर्थाेडॉक्स चर्च के अंतर्गत संत ग्रिगोरियस ऑर्थाेडॉक्स चर्च की स्थापना 1978 में तथा वर्तमान में अहमदाबाद डायोसिस के अंतर्गत आने वाले इस संत ग्रिगोरियस ऑर्थाेडॉक्स चर्च सोसाइटी की स्थापना 1979 में की गई। संत ग्रिगोरियस जिन्हें परुमाला तिरुमेनी के नाम से भी जाना जाता हैं,  इंडियन ऑर्थाेडॉक्स चर्च के संत के रूप में घोषित हैं।

संत ग्रिगोरियस के नाम से ही उदयपुर में संत ग्रिगोरियस सीनियर सेकेंडरी स्कूल, न्यू भूपालपुरा, उदयपुर एवं संत ग्रिगोरियस जूनियर स्कूल, मीरा नगर, उदयपुर की स्थापना की गई हैं। उक्त दोनों विद्यालय संत ग्रिगोरियस ऑर्थाेडॉक्स चर्च सोसाइटी, उदयपुर द्वारा संचालित हैं। सोसाइटी का मुख्य उद्देश्य शैक्षणिक संस्थानों का संचालन, नियंत्रण और उच्च शिक्षा प्राप्ति के क्षेत्र में आवश्यक एवं अनुकूल सभी कार्य करना है एवं भारत में कहीं भी अनाथालयों, धर्मार्थ संस्थानों, वृद्धाश्रमों,चिकित्सा सहायता एवं अनुसंधान केंद्रों आदि की स्थापना एवं तदनुसार आवश्यक सुविधाएँ जुटाना, सुचारू प्रबंधन करना सोसाइटी के मुख्य कार्यों में सम्मिलित हैं। 

इस अवसर पर संत ग्रिगोरियस ऑर्थाेडॉक्स चर्च सोसाइटी के चेयरमैन फ़ादर जोस चेम्मण, फ़ादर रिजो राजन कोशी, वाइस चेयरमैन मोन्टी वर्गिस, ट्रस्टी बाबू जॉन,प्रीसींपल प्रीति माथुर,वाइस प्रींसीपल शुभा जोस भी मौजूद थे।
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on  GoogleNews | WhatsApp | Telegram | Signal

From around the web