बांसवाड़ा-12 दिसंबर 2023 की प्रमुख खबरे

बांसवाड़ा-12 दिसंबर 2023 की प्रमुख खबरे 

ज़िले से संबंधित खबरे पढ़े उदयपुर टाइम्स पर 

 
banswara

News-अर्न्तसंभागीय चयन ट्रायल सम्पन्नः संभाग के 205 कर्मचारियों ने दिखाया उत्साह

बांसवाड़ा, 12 दिसंबर। राजस्थान की 10वीं राज्य स्तरीय अर्न्तसंभागीय सिविल सेवा खेल प्रतियोगिता 2023-24 हेतु बांसवाड़ा संभाग के तीनों जिलों से विभिन्न खेलों के चयन ट्रायल संभागीय आयुक्त बांसवाड़ा डॉ. नीरज के. पवन के निर्देशन में मंगलवार को सम्पन्न हुए, जिसमें संभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों ने उत्साहपूर्वक भाग लिया।

संभाग बनने के बाद बांसवाड़ा की पहली अर्न्तसंभागीय खेलकूद प्रतियोगिता के तहत क्रिकेट में 101, टेबल टेनिस में 18, टेनिस में 08, वॉलाबॉल में 15, कबड्डी में 12, बैडमिन्टन पुरूष में 30, बैडमिन्टन महिला में 05 तथा बास्केटबॉल में 16 खिलाडि़यों ने भाग लिया, जिसमें से सभी खेलों से कुल 77 खिलाडि़यों का अंतिम चयन किया गया, जिनके नाम राज्य स्तर पर भेजे जाएंगे। 

खेल प्रतियोगिता में प्रतिभागियों की संख्या अच्छी होने से जिला खेल स्टेडियम के साथ श्री गोविन्द गुरू राजकीय महाविद्यालय, बांसवाड़ा स्थित बास्केटबॉल कोर्ट और श्री हरिदेव जोशी खेल स्टेडियम ठीकरिया बांसवाड़ा तीनों जगह पर खेल आयोजन ट्रायल हुए। 

चयन ट्रायल नोडल खेल अधिकारी धनेश्वर मईड़ा, कमेटी अध्यक्ष सुश्री चंदा कुंवर गुहिल और सदस्य मनोज सिंह परमार, मानशंकर गरासिया, साजिद हुसैन और निर्णायक दल द्वारा सम्पन्न करवाया गया।

News-पशु क्रूरता निवारण समिति की बैठक

बांसवाड़ा, 12 दिसंबर। पशु क्रूरता निवारण समिति की बैठक मंगलवार को जिला कलक्ट्रेट सभागार में अतिरिक्त जिला कलक्टर डॉ. दिनेश राय सापेला की अध्यक्षता में हुई

बैठक में ड़ॉ. सापेला ने सड़को पर विचरण करने वाले गौवंश एवं श्वानो से आमजन को राहत प्रदान करने के लिए अपने निकट के गौशाला में भेजकर मुक पशुओं को क्रूरता से बचाने में अपनी सहभागिता निभाने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिये

अतिरिक्त जिला कलक्टर ने बताया कि पशुओं को अनावश्यक पीड़ा या यातना देने के निवारण और इस प्रयोजन के लिए राजस्थान राज्य में पशुओं के प्रति क्रूरता निवारण अधिनियम 1960 प्रभावी है अधिनियम के प्रभावी क्रियान्वयन हेतु आमजन को जागरूक करे। बैठक में सुरेश गुप्ता, शान्तिलाल सेठ, मोहन लाल तलाटी, भुवनेश्वरी मालोत, जयन्त कुमार द्विवेेदी ने पशु क्रूरता निवारण संबंधी अपने-अपने विचार रखे।

बैठक में संयुक्त निदेशक ड़ॉ. नित्यानन्द पाठक ने पशु क्रूरता निवारण संबंधी जानकारी दी। बैठक का संचालन वरिष्ठ पशु चिकित्सा अधिकारी ड़ॉ. शेखर बुट्टे ने करते हुए बताया राज्य जीव जन्तु कल्याण बोर्ड़ पशुधन भवन जयपुर के सन्दर्भ में चूहों को पकडने के लिए ग्लू ट्रैप के प्रयोग पर प्रतिबंध लगाने के कड़े निर्देश जारी करने का अनुरोध किया गया है, क्योंकि ग्लू ट्रैप का उपयोग रोडेन्टस को अनावश्यक दर्द और पीडा देता हैं, जो जानवरों के प्रति क्रूरता की रोकथाम अधिनियम 1960 के खण्ड 11 जो कि जानवरों के प्रति क्रूरता से सम्बन्धित हैं की भावना के खिलाफ है। इस तरह से किसी प्रकार की ग्लू ट्रैप का उपयोग करते हुए आमजन में दिखाई देता है तो सूचना जिला पशु क्रूरता निवारण समिति कार्यालय संयुक्त निदेशक, पशुपालन विभाग बांसवाडा अथवा (दूरभाष 02962-254086) अथवा नजदीकी स्थानीय पुलिस प्रशासन को अवगत करावें क्योकि जानवरों के प्रति क्रूरता की रोकथाम अधिनियम 1960 के खण्ड 11 द्वारा दण्डनीय अपराध हैं।

इस दौरान पशु सेवा के प्रति समर्पित संस्था महावीर इन्टरनेशनल माही (वीरा केन्द्र बांसवाड़ा) की अध्यक्षा भुवनेश्वरी मालोत ने पशु क्रूरता संबंधी फ्लेक्स का अतिरिक्त जिला कलक्टर के करकमलो द्वारा जारी किया गया जिसमें बेजुबानांे को पीड़ा नहीं प्यार दें, पशु क्रूरता अधिनियम के प्रावधान संबंधी स्लोगन जारी किया।

बैठक में उपनिदेशक बहुउद्देशीय पशु चिकित्सालय बांसवाड़ा ड़ॉ. विजयसिंह भाटी, महावीर इन्टरनेशनल माही (वीरा केन्द्र बांसवाड़ा) की सदस्याओ भुवनेश्वरी मालोत (अध्यक्ष), गीता चौधरी (सचिव), संध्या रस्तौगी (उपनिदेशक), ऋषिकन्या व्यास, विमला कोठारी, शशीकला जैन, विजयबाला सेठिया आदि महिलाओं ने भाग लिया।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal