Banswara - 5 जुलाई 2024 की प्रमुख खबरे


Banswara - 5 जुलाई 2024 की प्रमुख खबरे 

ज़िले से संबंधित खबरे पढ़े Udaipur Times पर 

 
banswara
UT WhatsApp Channel Join Now

News-चिकित्सा विभाग की सेक्टर बैठकों मे जिला कलक्टर करेंगे आकस्मिक निरीक्षण, शिडयूल मांगा
जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार के लिए दिए विभिन्न निर्देश

बांसवाड़ा, 5 जुलाई। जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभागार में हुई। जिला कलक्टर डॉ इंद्रजीत यादव ने स्वास्थ्य सेवाओं की समीक्षा करते हुए विभिन्न निर्देश दिए। उन्होंने सेक्टर में होने वाली बैठकों के कमजोर मापदंड़ों पर नाराजगी व्यक्त की। इस पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एचएल ताबियार ने कहा कि पिछली बैठक में निर्देश दिए थे कि सेक्टर बैठकों का पूरा एजेंडा और तय किए गए कार्यों की रिपोर्ट हर हाल में स्वास्थ्य भवन भेजनी होगी और उसे जिला कलक्टर को भेजी जाएगी। लेकिन एक भी ब्लॉक के किसी भी सेक्टर द्वारा बैठक का एजेंडा या रिपोर्ट नहीं भेजी गई। इस पर जिला कलेक्टर डॉ यादव ने नाराजगी व्यक्त करते हुए इसी माह से होने वाली सेक्टर बैठकों का शिडयूल मांगा और कहा कि वह अब सेक्टर बैठकों का भी आकस्मिक निरीक्षण करेंगे। वहीं उन्होंने सभी कार्यक्रमों की रिपोर्ट के लिए अलग-अगल चेकलिस्ट तैयार करने के निर्देश दिए है। 

जिला कलक्टर डॉ यादव ने कहा कि फिल्ड में विजिट के दौरान कई बार सामने आया कि स्टाफ बातचीत के दौरान स्पष्ट आंकड़ें या जानकारी नहीं दे पाते। ऐसे में यह कार्य के प्रति उदासीनता है। उन्होंने सुधार के निर्देश दिए। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एचएल ताबियार ने विभिन्न चिकित्सा विभाग के कार्यों की जानकारी दी। सिकल सेल एनीमिया पर भी समीक्षा हुई। इस दौरान बीसीएमओ बागीदौरा डॉ प्रवीण लबाना ने कहा कि सिकल सेल एनीमिया के किट द्वारा कई स्थान पर एक ही व्यक्ति की दो-दो बार भी जांच हो गई है। ऐसे में जिला कलक्टर ने कहा कि ऐसा है तो उसकी रिपोर्ट बनाकर भेज देवें। लेकिन कोई भी गलत तथ्य पेश न करे। 

अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ भरतराम मीणा ने परिवार कल्याण संबंधित विभिन्न योजनाआंे और कार्यक्रम की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि हाल ही में विश्व जनसंख्या दिवस के उपलक्ष्य में मोबाइलेजशन पखवाड़ा जारी है। जिसमें स्वास्थ्य विभाग की टीमें लगातार परिवार नियोजन के साधनों पर प्रचार प्रसार कर रही है। 11 जुलाई से सेवा प्रदान पखवाड़ा भी मनाया जाएगा। जिसके तहत योग्य दंपत्तियों के ऑपरेशन किए जाएंगे। डॉ मीणा ने शक्ति दिवस की प्रगति पर चर्चा की।

News-निजी अस्पतालों की आईडी जनरेट, अब प्रसव की जानकारी ऑनलाइन करनी होगी

जिला कलक्टर डॉ इंद्रजीत यादव ने प्रसव पूर्व होने वाली जांचों में पंजीयन के मुकाबले 70 फीसदी आंकड़ा ही होने पर अगले माह तक 90 प्रतिशत तक बढ़ोतरी करने के निर्देश दिए। आनंदपुरी बीसीएमओ डॉ देवेंद्र डामोर ने कहा कि वहां पर गुजरात की सीमा नजदीक होने पर प्रसव वहां चले जाते है, ऐसे में पंजीयन राजस्थान में और जांचें गुजरात के अस्पतालों में होती है। ऐसे में जिला कलक्टर डॉ यादव ने कहा कि स्थानीय एएनएम और आशा की जिम्मेदारी बनती है कि वह ऐसे केसों पर ध्यान रखे और उसकी रिपोर्टिंग संबंधित अधिकारी को करें। नजदीकी अस्पतालों में भी पीसीटीएस वेबसाइट पर एंट्री करने के निर्देश दिए जाए। इस पर डीपीएम ललित सिंह झाला ने कहा कि निजी अस्पतालों के लिए भी पीसीटीएस की सुविधा रहेगी। इसके लिए केवल कुशलगढ़ छोड़कर सभी ब्लॉक के अस्पतालों की आईडी जनरेट हो गए है। अब वह वहां होने वाले प्रसव और टीकाकरण की एंट्री करवा सकेंगे। 

हर सप्ताह में एक बार क्षेत्रवासियो से जागरूकता चर्चा आयोजित करने के निर्देश: जिला कलक्टर ने सख्त निर्देश दिए की हर सप्ताह में आंगनबाड़ी या पंचायत में एक बैठक चिकित्सा विभाग की ओर से ली जाए। जिसमें एएनएम, आशा, सहायिका, आंगनबाड़ी वर्कर और संभव हो तो चिकित्सा प्रभारी शामिल हो। जिसमें विभाग की चल रही योजनाओं की जानकारी दी जाए। साथ ही स्वास्थ्य के प्रमुख विषयों पर चर्चा की जाए। उन्होंने कहा कि चर्चा होने पर सरकारी अस्पताल में संस्थागत प्रसव भी बढ़ेगा और स्वास्थ्य कार्मिकों के प्रति भरोसा बढ़ने पर ओपीडी में भी बढ़ोतरी होगी। इससे आमजनता को स्वास्थ्य के प्रति कई जानकारियां उपलब्ध होगी। 

News-शेरगढ़ पीएचसी में जांच के निर्देश

शेरगढ़ पीएचसी में स्टाफ नदारद की जानकारी मीडिया से मिलने के बाद जिला कलक्टर ने शेरगढ़ पीएचसी में आकस्मिक निरीक्षण के निर्देश दिए है। उन्होंने बीसीएमओ डॉ भगतसिंह तंबोलिया से जानकारी ली और सीएमएचओ डॉ ताबियार को कहा कि वह आकस्मिक निरीक्षण करें। स्टाफ का नदारद रहना गंभीर विषय है। इधर कुशलगढ़ बीसीएमओ डॉ गिरीश भाबोर ने कहा कि सेक्टर बैठकों में वह स्वयं उपस्थित रहते है, लेकिन मेडिकल ऑफिसर ही नहीं आते हैं। इस पर जिला कलक्टर ने ऐसी लापरवाही पर चार्जशीट की कार्रवाई करने के निर्देश दिए है। उन्हांेने कमजोर क्षेत्र में बीसीएमओ स्वयं द्वारा सेक्टर बैठक की तैयारी करने के भी निर्देश दिए। 

News-डॉग बाइट की जानकारी नगर परिषद और पंचायत में देने के निर्देश

जिला कलक्टर ने डॉग बाइट की जानकारी नगर परिषद और पंचायत में देने के निर्देश दिए है। उन्होंने कहा कि यदि किसी अस्पताल में डॉग बाइट का केस आता है तो उसकी जानकारी संबंधित पंचायत या नगर परिषद-पालिका को होनी चाहिए। इस पर उन्होंने पशु जन्य रोगों पर भी चर्चा की और इसके प्रचार प्रसार के भी निर्देश दिए। 6 जुलाई शनिवार को ही पशुजन्य रोग दिवस भी है। इस पर उन्हांेने कहा कि क्षेत्र में भी इस पर चर्चा होनी चाहिए। इसके लिए पशुपालन विभाग से समन्वय बिठाकर कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए। पालतु कुत्तों का पंजीयन करवाने के लिए आमजन को प्ररित करने की बात कहीं। अस्पतालों में एंटी रेबीज सीरम और एंटी रेबीज वेक्सीन की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। बैठक में एक सीएचओ के लगातार अनुपस्थित रहने पर निदेशालय में रिपोर्ट भेजकर अग्रीम कार्रवाई करने के निर्देश दिए। 

इन मुददों पर भी हुई चर्चा 

जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ पीके वर्मा ने टीबी केस में क्लोज कान्टेक्ट पर अनिवार्य रूप से स्क्रनिंग करने के निर्देश दिए। डीपीसी डॉ प्रवीण गुप्ता ने निशुल्क दवा योजना की अब तक की रिपोर्ट पर जानकारी दी। बैठक में एमजी अस्पताल के उपनियंत्रक डॉ डीके गोयल, बीसीमएओ परतापुर डॉ दीपिका रोत, तलवाड़ा से डॉ दीपक पंकज, छोटी सरवन से डॉ मुकेश मईड़ा, घाटोल से डॉ भीम सिंह, पीसीपीएनडीटी समन्वयक हरिकांत शर्मा, डब्ल्यूएचओ प्रतिनिधि डॉ अक्षय व्यास, शहरी कार्यक्रम प्रबंधक डॉ वनिता त्रिवेदी, सीविल विंग एनएचएम के प्रतिनिधि ने भी अपने-अपने कार्य क्षेत्र की जानकारी दी। जपायगो से लोकेश शर्मा ने बोन हेल्थी कार्यक्रम की जानकारी दी। वह स्वास्थ्य विभाग में तकनीकी सहयोग करेंगे। इधर बैठक में कुछ चिकित्सक देर से पहुंचे तो सीएमएचओ डॉ एचएल ताबियार ने सख्त नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि जिला कलक्टर की बैठक में देरी से आने पर लगता है कि अस्पताल में भी लेट जाते होंगे। इस पर उन्होंने अगली बार समय पर आने की हिदायत दी। 

News-विश्व जूनोसिस दिवस आज: चिकित्सा संस्थानों पर आम जन को पशु जन्य रोग से बचाव के बारे में किया जाएगा जागरूक

बांसवाड़ा 5 जुलाई। विश्व पशु जन्य रोग दिवस के अवसर पर चिकित्सा संस्थानों पर आमजन को पशु जन्य रोग से बचाव के बारे में जागरूक किया जाएगा। राष्ट्रीय एकीकृत स्वास्थ्य पशु जन्य रोग निवारण कार्यक्रम के अंतर्गत पशु जन्य रोग से बचाव और जागरूकता कार्यक्रम संचालित है जिसमें आमजन को आईईसी प्रदर्शन, वितरण और प्रसारण के माध्यम से बचाव के लिए जागरूक किया जा रहा है। 

सीएमएचओ डॉ एचएल ताबियार ने बताया कि पशु जन्य रोग  में रेबीज़, स्क्रब टायफस, एवियन इनफ्लुएंजा, जापानी  इन्सेफेलाइटसिस, ब्रूसलॉसेस, सेल्मोनेसिस, एंथ्रेक्स, लेऐस्पायरोसिस इत्यादि आते हैं, जो पशुओं से मानवो में विभिन्न माध्यमों से फैल जाते हैं। जिससे बचाव के लिए बचाव उपाय और आवश्यक सावधानियां बहुत जरूरी है।

डिप्टी सीएमएचओ डॉ राहुल डिंडोर ने बताया कि पशु जन्य रोग अप्रत्यक्ष संपर्क, वेक्टर जनित, वायु जनित, प्रत्यक्ष संपर्क और खाद्य जनित तरीके से फैल सकते हैं। उन्होंने बताया कि पशु जन्य रोग के अप्रत्यक्ष फैलाव में जानवरों के रहने- घूमने वाली सतह आती है जो कीटाणुओं से दूषित हो जाती है एवं वेक्टर जनित का फैलाव कीड़े, घुन, मच्छर के काटे जाने पर पर होता है। उन्होंने बताया कि वायु जनित फैलाव वायरस से होता है और खाद्य जनित फैलाव संक्रमण जानवर एवं दूषित मांस व दूध के सेवन करने से होता है। पशु जन्य रोग प्रत्यक्ष  रूप में संक्रमित जानवर की लार, रक्त, मूत्र, बलगम,मल व शरीर के तरल पदार्थ के संपर्क में आने से होता है। 

उन्होंने बताया कि आमजन गाय, भैंस, भेड़, बकरी, ऊंट ,कुत्ता बिल्ली, सूअर व बंदर के काटे जाने पर चिकित्सक को दिखाएं और इनमें असामान्य लक्षण पाए जाने पर इनसे बचकर रहने की अपील की। साथ ही इस संबंध में उन्होंने बताया कि जिले में पशुपालन विभाग से समन्वय रखकर कार्ययोजना तैयारी की जा रही है। पालतू कुत्तों के पंजीयन के लिए भी आमजन से अपील की जाएगी। साथ ही प्रचार प्रसार के लिए चिकित्सा विभाग द्वारा पशुपालन विभाग से सहयोग लिया जाएगा।

News-छात्रों को देय प्रोत्साहन राशि हेतु ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया शुरू

बांसवाड़ा, 5 जुलाई। राज्य सरकार द्वारा कृषि विषय को लेकर कक्षा 11/12वीं यूजी,पीजी, पीएचडी में अध्ययनरत छात्राओं को देय प्रोत्साहन राशि हेतु ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। छात्राएं स्वयं या ई-मित्र के माध्यम से राज किसान साथी पोर्टल पर जन आधार द्वारा ऑनलाइन आवेदन कर सकती हैं।

संयुक्त निदेशक कृषि (विस्तार) जिला परिषद्-बांसवाड़ा दलीप सिंह ने बताया कि आवेदन हेतु राजस्थान का मूल निवास प्रमाण, गत वर्ष की अंक तालिका तथा जन आधार में सही बैंक खाता इन्द्राज होना आवश्यक होगा। उन्होंने बताया कि आवेदन की अंतिम तिथि 31 जनवरी-2025 है। उन्होंने छात्राओं को प्रतिवर्ष देय प्रोत्साहन राशि का विवरण देते हुए बताया कि कक्षा 11/12 के लिए 15 हजार, यूजी/पीजी के लिए 25 हजार तथा पीएचडी के लिए 40 हजार रूपए देय होगा।

News-राष्ट्रीय लोक अदालत 13 जुुलाई 2024 को

बांसवाड़ा, 5 जुलाई। राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जयपुर के निर्देशानुसार दिनांक 13 जुलाई-2024 को आयोजित होने वाली राष्ट्रीय लोक अदालत के सफल आयोजन हेतु प्राधिकरण अध्यक्ष (जिला न्यायाधीश) अरूण कुमार अग्रवाल द्वारा विभिन्न बैंकों के अधिकारियों की बैठक ली गई। बैठक में प्राधिकरण अध्यक्ष श्री अग्रवाल द्वारा द्वारा समस्त अधिकारियों को राष्ट्रीय लोक अदालत दिनांक 13.07.2024 के माध्यम से बैंकों से सम्बन्धित लम्बित एवं प्री-लिटिगेशन प्रकरणों के अधिकाधिक निस्तारण हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश प्रदान किये गये।

प्राधिकरण सचिव कौशल सिंह ने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत में बैंको से सम्बन्धित प्रि-लिटिगेशन में धारा 138, परक्राम्य विलेख अधिनियम, बैंक रिकवरी और न्यायालयों में लम्बित प्रकरणों में शमनीय दाण्डिक अपराध अन्तर्गत धारा 138, परक्राम्य विलेख अधिनियम, बैंक रिकवरी मामले, एम.ए.सी.टी. मामले एवं अन्य सिविल मामलें आदि प्रकरणों का निस्तारण आपसी राजीनामें से सौहार्दपूर्वक किया जायेगा। बैठक में लीड बैंक से अरूण जोशी, विभिन्न बैंकों के क्षैत्रीय प्रबन्धक एवं जिला समन्वयक आदि उपस्थित रहे।

बैंक ऋण सम्बन्धी प्रकरणों में मिलेगी आमजन को रियायत:- प्राधिकरण सचिव कौशल सिंह ने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत के माध्यम से बैंक संबंधित प्रकरणों के निस्तारण पर आमजन को रियायत मिलेगी। आमजन राष्ट्रीय लोक अदालत के माध्यम से अपने मूल ऋण पर लगने वाले ब्याज में तो रियायत पा ही सकते है, साथ ही मूल ऋण में भी रियायत प्राप्त कर अपने प्रकरण का निस्तारण करवा सकते है। इससे न केवल प्रकरण का निस्तारण होगा बल्कि ऋणी अपना रिकॉर्ड भी सही कर सकते है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal