Bhilwara-3 जुलाई 2024 की प्रमुख खबरे


Bhilwara-3 जुलाई 2024 की प्रमुख खबरे

ज़िले से संबंधित खबरे पढ़े Udaipur Times पर

 
bhilwara
UT WhatsApp Channel Join Now

News-अब हर लाभार्थी की बनेगी आभा आईडी
जिले में अब तक 4 लाख 71 हजार 932 लाभार्थियों की बन चुकी आभा आईडी

भीलवाडा, 03 जुलाई। प्रदेश में अब अस्पतालों में स्वास्थ्य सेवाएं डिजिटल हो रहीं है। सरकार की पहल पर अब किसी भी मरीज की पुरानी बीमारी जांच रिपोर्ट और दवाओं की जानकारी एक क्लिक पर सामने हो, इस उद्देश्य से जिले में मरीजों की आयुष्मान भारत हेल्थ अकाउन्ट (आभा) आईडी बनाई जा रही है इस आईडी पर अब मरीजों की जिंदगी भर के उपचार की कुंडली बनाई जा रही है। इससे व्यक्ति को अनावश्यक कागजात का रेकॉर्ड अपने पास नहीं रखना पड़ेगा। इसमें डॉक्टर्स को रिपोर्ट दिखाने से लेकर अन्य रिपोर्ट अपलोड कर सकते हैं। इसे एक क्लिक पर डाउनलोड किया जा सकता सकता है। जिले में अब तक 4 लाख 71 हजार 932 लाभार्थियों की आभा आईडी बनाई जा चुकी है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. चेतेन्द्र पुरी गोस्वामी ने बताया कि केन्द्र सरकार ने आयुष्मान डिजिटल भारत मिशन की शुरुआत की है। इसके लिए मरीज का हैल्थ रिकॉर्ड ऑनलाइन अपडेट रखने के लिए आयुष्मान भारत अकाउंट (आभा) आईडी बनाई जा रही है। यह आईडी बनाने पर 14 अंकों का एक अकाउंट नम्बर अलॉट होगा, जिसमें संबंधित व्यक्ति ऐप के माध्यम से अपने चिकित्सा से संबंधित रिकॉर्ड, लैब रिपोर्ट, डॉक्टर का लिखा दवा का पर्चा, डॉक्टर नोट्स, इमेज, वैक्सीन आदि डिजिटल प्लेटफार्म पर सुरक्षित रख सकते हैं एवं आवश्यकता पड़ने पर चिकित्सक के साथ साझा भी कर सकते हैं। स्वास्थ्य विभाग के कार्मिकों की ओर से आभा आईडी बनाई जा रही है। लाभार्थी स्वयं भी अपनी आभा आईडी बना सकता है। आईडी बनाने पर एक अकाउंट नम्बर अलॉट होगा, जिसमें संबंधित व्यक्ति ऐप के माध्यम से अपने चिकित्सा से संबंधित रेकॉर्ड, लैब रिपोर्ट, डॉक्टर का लिखा दवा का पर्चा, डॉक्टर नोट्स, इमेज, वैक्सीन इत्यादि डिजिटल प्लेटफॉर्म पर सुरक्षित रख सकते हैं। 

नही रखनी होगी साथ में पुरानी रिपोर्ट्स

सीएमएचओ डॉ. गोस्वामी ने बताया कि हैल्थ अकाउंट बनाने से उसमें रिकॉर्ड का संधारण करने का फायदा मिलेगा। अक्सर देखते हैं कि मरीज डॉक्टर के पास पहुंचता है। डॉक्टर उससे बीमारी के बारे में जानकारी लेता है। पूर्व की जांच रिपोर्ट मांगता है, लेकिन उनका रिकॉर्ड नहीं होने से दिक्कत आती है। ऐसे दुबारा सारी रिपोर्ट आने के बाद उपचार में शुरू होता है। पुराना रिकॉर्ड रहे, तो डॉक्टर को बीमारी के इलाज में बड़ी मदद मिलती है। स्वास्थ्य विभाग के कार्मिक आभा आईडी बना रहे हैं। लाभार्थी स्वयं भी अपनी आभा आईडी बना सकता है। यह अकाउंट मोबाइल में भी आराम से जनरेट हो जाएगा। इसके लिए व्यक्ति को अपने मोबाइल में प्ले स्टोर पर जाना होगा। वहां से इसे डाउनलोड कर सकते हैं। आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के तहत सभी निजी और सरकारी डायग्नोस्टिक लैब को एबीडीएम कम्प्लायंट लैब मैनेजमेंट इंफार्मेशन सिस्टम से जोड़ा जाएगा। इससे मरीज कहीं भी इलाज कराए, उसकी मेडिकल हिस्ट्री उसके आभा अकाउंट पर आसानी से मिल जाएगी।

News-नियमों की अवहेलना करने पर परिवहन विभाग की कारवाई वसूला जुर्माना, ऑटो चालकों से नियम पालना की समझाइश की

भीलवाड़ा। परिवहन एवं सड़क सुरक्षा विभाग द्वारा चलाए जा रहे सघन अभियान में मंगलवार को अवैध चल रहे व अनाधिकृत रूप से पायदान लगाकर संचालित होते, तथा अतिरिक्त सीट लगाकर चलाते पाय जाने पर आरटीओ चित्तौड़ श्री ज्ञानदेव जी के निर्देशन मे लगभग 12 ऑटो को परिवहन उड़नदस्ते द्वारा जप्त कर जुर्माना वसूल किया गया। 

जिला परिवहन अधिकारी गौरव यादव ने बताया कि साथ ही ऑटो में पीछे लगे अवैध पायदान को कार्यालय परिसर में ही गैस कटर से काटकर हटवाया गया और ऑटो चालकों को समझाइश की गई कि भविष्य में इस तरह से अवैध पायदान लगाकर क्षमता से अधिक सवारियां बिठाने, हाईवे पर अनाधिकृत रूप से संचालित होने आदि पाये जाने पर नियम अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

अभियान में परिवहन निरीक्षक सुरेश जांगिड़, विवेक सिरोठा, यूनुस ख़ान द्वारा समझाइश की गई। आगे भी निरंतर अभियान जारी रहेगा।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal