मौसमी बीमारियों को प्रभावी नियन्त्रण के लिए घर घर होगा सर्वे

मौसमी बीमारियों को प्रभावी नियन्त्रण के लिए घर घर होगा सर्वे

स्कूलों में आयरन की दवा समय पर उपलब्ध करवाई जाए इसके लिए बीसीएमओ को पाबंद किया गया
 
cmho udaipur

उदयपुर,06.09.23- जिला कलेक्टर अरविन्द पोसवाल के आदेश अनुसार संयुक्त निदेशक डॉ. जेड ए काजी की अध्यक्षता में जिला परिषद सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक का आयोजन किया गया जिसमें उदयपुर और सलूंबर जिले के सीएमएचओ, डिप्टी सीएमएचओ, एडिशनल सीएमएचओ, आरसीएचओ, डीएलओ, बीसीएमओ और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सा अधिकारी प्रभारीयो ने भाग लिया।

बैठक के आरंभ में सीएमएचओ डॉ. बामनिया ने बताया कि राज्य में 108 एम्बुलेंस के वाहन चालकों की हड़ताल  को देखते हुए उदयपुर जिले  में वैकल्पिक व्यवस्था कर दी गई है। 

मौसमी बीमारियों को प्रभावी रोकथाम के लिए घर घर सर्वे कराया जाएगा

108 के प्रबंधक प्रशुन पंड्या ने बताया कि वाहन चालकों की व्यवस्था कर दी गई है और सीएमएचओ साहब के सहयोग से सरकारी वाहन चालकों की भी मदद ली जा रही है। संयुक्त निदेशक डॉ काजी ने निर्देश दिए की स्कूलों में आयरन की दवा समय पर उपलब्ध करवाई जाए इसके लिए बीसीएमओ को पाबंद किया गया। 

घनश्याम सोनी ने बैठक में बताया कि ग्रामीण इलाकों के स्कूलों में बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण करवाया जाए इस पर डॉ  काजी ने बताया कि जिले की आरबीएसके टीमों से मिलकर सभी चिकित्सा संस्थानो पर मास लेवल पर बच्चों के हीमोग्लोबिन की स्क्रीनिंग करवाऐ।

एडिशनल सीएमएचओ डॉ रागिनी अग्रवाल ने चिरंजीवी योजना  से वंचित परिवारो को योजना में जोड़ने का कार्य शीघ्र गति से किया जाए विशेष रूप से शहरी क्षेत्र के वंचित परिवारों को जोड़ा जाए। अभी जिले में 50% लोग ही योजना से जुड़ पाए हैं। इसके लिए सीएमएचओ डॉ बामनिया ने बताया कि 20 सितंबर को ई केवाईसी के लिए जिले में ड्राइव डे रखा जाना है। इसमें सीएचओ को 10 चिरंजीवी कार्ड और 100  ई केवाईसी, ए एन एम को 10 कार्ड और 50 ई केवाईसी, आशा को पंच कार्ड और 50 ई केवाईसी एवं अन्य पैरामेडिकल स्टाफ को पांच कार्ड और 10 ई केवाईसी करना सुनिश्चित किया गया है।

cmho MEETING

मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना के अंतर्गत डॉ मोहन धाकड़ ने बताया कि हमने राज्य स्तर पर स्कोर की बढ़ोतरी की है फिर भी रैंक में गिरावट आई है इसके लिए सभी बीसीएमओ को पाबंद किया कि वह इसकी मॉनिटरिंग सही ढंग से करें। डॉक्टर और स्टाफ समय पर चिकित्सा संस्थानों पर पहुंचे इसके लिए बायोमेट्रिक अटेंडेंस के लिए फेस रीडिंग वाली मशीनों का उपयोग किया जाए जिसके लिए सभी बीसीएमओ को एडमिन बनाना निश्चित किया गया है।

आरसीएचओ डॉ अशोक आदित्य ने बताया कि एएनसी रजिस्ट्रेशन समय पर किया जाए जिससे गर्भवती महिला की गर्भकाल के दौरान चारों जरूरी जांचों को किया जा सके। एएनसी ड्रॉप आउट और मिसिंग डिलीवरी कम की जा सके। अभी मिशन इंद्रधनुष प्रोग्राम का द्वितीय चरण शुरू किया जाएगा जिससे टीकाकरण से वंचित  सभी बच्चों को पूर्ण टीके लगाए जा सके।

एडिशनल सीएमएचओ डॉ रागिनी अग्रवाल ने परिवार कल्याण के अंतर्गत नसबंदी केस को बढ़ाने के लिए निर्देश दिए। आईयूसीडी, पीपीआईयूसीडी और अंतरा के लक्ष्य को बढ़ाने के निर्देश दिए।डिप्टी सीएमएचओ डॉ गजानंद गुप्ता ने मौसमी बीमारियों से बचाव के लिए सूखा दिवस ,एंटी मलेरियल एक्टिविटी,एंटी लारवा और एंटी एडल्ट एक्टिविटी करने के बारे में बताया ।शहरी क्षेत्र में फॉगिंग करने के बारे में बताया।

मलेरिया जांच हेतु ब्लड साइड बढ़ाने के बारे में बताया। आई एच आई पी पोर्टल  पर एस,एल पी फोर्म की एंट्री समय पर करने के निर्देश दिए। गैर संचारी रोगों के लिए डॉ प्रणव भावसार ने बताया कि 30 वर्ष से अधिक के सभी लोगों की समय पर जांच कर एनसीडी पोर्टल पर एंट्री सुनिश्चित की जाए। इसके लिए सीएचओ, एएनएम और आशा को इंसेंटिव भी दिया जा रहा है।

जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ आशुतोष सिंघल ने बताया कि जिले में सिलिकोसिस के सिर्फ 15 केस ही बकाया है जिन्हें मदद दी जानी है बाकी सभी को सहायता दी जा चुकी है। सीएमएचओ डॉ बामनिया ने निर्देश दिए कि सभी बीसीएमओ सीएचओ का इंसेंटिव देने की कार्रवाई करें। नीम हकीम की लगातार सूचना प्राप्त हो रही है इसके लिए तुरंत प्रभाव से नीम हकीमों के विरुद्ध पुलिस की सहायता से कार्रवाई की जाए।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal