Dungarpur-14 जून 2024 की प्रमुख खबरे


Dungarpur-14 जून 2024 की प्रमुख खबरे

ज़िले से संबंधित खबरे पढ़े Udaipur Times पर

 
news from dungarpur, dungarpur  news, latest news from dungarpur
UT WhatsApp Channel Join Now

News-जिला कलक्टर ने किया सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का औचक निरीक्षण
रात्रिकालीन चिकित्सक एपीओ, प्रभारी अधिकारी और सीनियर नर्सिंग ऑफिसर को 17 सीसीए नोटिस

डूंगरपुर, 14 जून। जिला कलक्टर अंकित कुमार सिंह ने गुरुवार रात 9 बजे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, गैंजी का औचक निरीक्षण किया। झौंथरी पंचायत समिति की ग्राम पंचायत बलवानिया में रात्रि चौपाल से लौटते हुए जिला कलक्टर गैंजी सीएचसी पर पहुंचे, तो कोई चिकित्सा उपस्थित नहीं था। इस पर नाराजगी जताते हुए जिला कलक्टर ने सीएमएचओ डॉ. अलंकार गुप्ता को जिम्मेदार चिकित्सकों के विरुद्ध कार्रवाई करने के निर्देश दिए। सीएमएचओ डॉ. अलंकार गुप्ता ने बताया कि गैंजी सीएचसी पर रात 8 बजे से रात्रिकालीन ड्यूटी डॉ. दुष्यन्त चौधरी चिकित्सा अधिकारी की थी, परंतु वे ड्यूटी पर उपस्थित नहीं थे। यह उनकी कर्तव्य के प्रति गंभीर लापरवाही को दर्शाता है। डॉ. चौधरी को पूर्व में भी नोटिस जारी किए गए हैं। उनको सीएमएचओ कार्यालय, डूंगरपुर में उपस्थिति देने के लिए आदेशित किया गया है।

जिला कलक्टर ने सीएचसी परिसर और वार्डों में जाकर देखा, तो सफाई का अभाव पाया गया। वहीं, वार्डों में बिस्तरों पर गंदे चादर पाए गए। इस पर सीएचसी प्रभारी डॉ. सुदर्शन मीणा और सीनियर नर्सिंग ऑफिसर मोतीलाल रोत को सीसीए नियम-17 के अन्तर्गत कारण बताओ नोटिस जारी कर दो दिन में जवाब पेश करने का आदेश दिया है।

News-जिला कलक्टर अंकित कुमार सिंह ने किया ई-मित्रों का औचक निरीक्षण

डूंगरपुर 14 जून 2024। मुख्य सचिव राजस्थान जयपुर के निर्देशानुसार जिला कलक्टर अंकित कुमार सिंह ने गुरूवार शाम को ई-मित्रों का औचक निरीक्षण किया। डूंगरपुर शहरी क्षेत्र के 2 कियोस्क मनोज भोई (कियोस्क कोड के124272958), प्रमीला कुमारी जैन (कियोस्क कोड के124247959) का औचक निरीक्षण किया गया। जिनमें एक ई-मित्र पर रेट लिस्ट बैनर नहीं थे, उनका जियो टैग कर पेनल्टी लगाई गई। 

सभी ई-मित्रों का रेट लिस्ट दुकान के उस स्थान पर लगाने के लिए जहां आमजन उसे आसानी से देख सके इसके लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। सभी ई-मित्रों को नियत राशि लेने, रेट लिस्ट, को-ब्राण्डेड बैनर लगाने एवं राज्य सरकार की समस्त सेवाएं देने के लिए निर्देशित किया गया।

मुख्य सचिव के निर्देशानुसार डूंगरपुर जिले के समस्त ब्लॉकों में समय-समय पर औचक निरीक्षण किया जाना प्रस्तावित हैं। जिससे ई-मित्रों द्वारा सही रेट लिस्ट न लगाकर मनमाने ढंग से वसूली जा रही राशि, आमजन को समस्त सेवाएं नहीं देना आदि समस्याओं पर अंकुश लगाया जा सकें। इस अवसर पर अतिरिक्त निदेशक सुनील डामोर सहित विभिन्न अधिकारी मौजूद रहे।

News-गुजरात सीमा से सटे गांव में जिला कलक्टर ने की रात्रि चौपाल
ग्रामीणों की समस्याओं का हाथोंहाथ हुआ समाधान

डूंगरपुर, 14 जून। जिला कलक्टर अंकित कुमार सिंह ने गुरुवार को जिले की झोंथरी पंचायत समिति की गुजरात सीमा से सटी ग्राम पंचायत बलवानिया में रात्रि चौपाल की। सुदूर गांव में जिला कलक्टर सहित सभी विभागों के जिला स्तरीय अधिकारियों की मौजूदगी में ग्रामीणों ने अपनी समस्याओं को रखा। रात्रि चौपाल में बड़ी संख्या में ग्रामीण पहुंचे और महिलाओं ने भी खुलकर अपनी बात रखी। 

इससे पहले विभागीय अधिकारियों ने मुख्यमंत्री आयुष्मान आरोग्य योजना, मृदा जांच, पशुओं के टीकाकरण, बैंक की बीमा योजना, स्वरोजगार के लिए ऋण आदि की जानकारी दी। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के उप निदेशक अशोक शर्मा ने चारवाड़ा और बलवानिया क्षेत्र के सामाजिक सुरक्षा पेंशन के वार्षिक सत्यापन से शेष 34 लाभार्थियों के नाम पढ़कर सुनाए। इनमें से छह-सात लाभार्थी वहीं मौजूद थे। इस पर जिला कलक्टर ने हाथोंहाथ इनका वार्षिक सत्यापन करवाने के निर्देश दिए, ताकि पेंशन में किसी प्रकार की रुकावट न आए। ग्रामीणों ने बलवानिया के वार्ड नंबर 3, डामोर घाटी, में आंगनवाड़ी खोलने की मांग की। इस पर जिला कलक्टर ने सीडीपीओ को आंगनवाड़ी के लिए आवश्यक बच्चों की संख्या आदि के बारे में जानकारी मांगी और सर्वे करवाने के निर्देश देते हुए कहा कि यदि ग्रामीणों की मांग के अनुसार आंगनवाड़ी खुल सकती है, तो प्रस्ताव तैयार कर भिजवाया जाए। वहीं, क्षेत्र में मिसिंग लिंक और सड़क किनारे झाडियों की समस्या पर जिला कलक्टर ने पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

ग्रामीणों ने विगत दो दिनों से बिजली की समस्या की बात रखी। इस पर जिला कलक्टर ने एसई एवीवीएनएल से कारण पूछा, तो उन्होंने बताया कि दो दिन पहले क्षेत्र में देर शाम मौसम खराब होने की वजह से आपूर्ति बाधित हुई थी। जिस पर तुरंत कार्रवाई करते हुए विद्युत आपूर्ति बहाल कर दी गई थी। वहीं, कुछ जगहों पर लाइन नीचे थी, जिसे 10 अतिरिक्त पोल लगाकर सुरक्षित ऊंचाई पर कर दिया गया है। एक महिला ने बताया कि उसके घर के पास ट्रांसफार्मर से चिंगारियां उठती है। इस पर जिला कलक्टर के निर्देश पर एसई एवीवीएनएल ने लाइनमैन को मौका देखने को कहा। लाइनमैन ने रात को ही मौका देखा और स्पार्किंग की समस्या का निस्तारण किया। एसई एवीवीएनल ने बताया कि क्षेत्र में कोई घरेलू कनेक्शन पेंडिंग नहीं है, जिसका ग्रामीणों ने भी समर्थन किया। रात्रि चौपाल में जिला परिषद सीईओ मुकेश चौधरी सहित सभी विभागों के जिला स्तरीय और ब्लॉक स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

बारिश की हर बूंद को सहेजें- जिला कलक्टर

जिला कलक्टर ने ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान में आप सभी अपनी भागीदारी निभाएं। गांवों में वर्षा का पानी बहकर बाहर जाने की बजाय गांवों के ही निवासियों, पशुओं और खेतों के काम आए। बारिश की एक-एक बूंद को सहेजकर गांवों को जल आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ाना है। इसके तहत आपके क्षेत्र में चल रहे कार्यों को अच्छे से करवाएं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार जिले में जल्द ही पौधरोपण अभियान शुरू होेने जा रहा है। इसके तहत जिले में 14 लाख से ज्यादा पौधे लगाने का लक्ष्य है। पेड़ लगाने का मतलब है हम अपनी आने वाली पीढियों के लिए कुछ कर रहे हैं। इसी भाव के साथ सभी ग्रामीण अपना समझकर पेड़ लगाएं और ऐसा पौधा चुनें, जो स्थानीय भौगोलिक परिस्थितियों के अनुकूल हो।

क्षेत्र में प्रतिभाओं की कमी नहीं, आगे बढ़ाएं- जिला कलक्टर

हाल ही में 10वीं के रिजल्ट में बलवानिया स्कूल के 35 बच्चों के उल्लेखनीय प्रदर्शन की सराहना करते हुए जिला कलक्टर ने सभी बच्चों और उनके अभिभावकों को बधाई दी। जिला कलक्टर ने कहा कि 10वीं के नतीजों से एक बात तो साफ है कि यहां बच्चों में प्रतिभा की कमी नहीं है। यदि बच्चे पढ़ाई के लिए बाहर जाना चाहते हैं, तो जरूर भेजें। ये पढ़-लिखकर अपने गांव, जिले और राज्य का नाम रोशन करेंगे।

News-ग्राम ग्राम जल एवं स्वच्छता समिति एक दिवसीय प्रशिक्षण आज

डूंगरपुर, 14 जून। जल जीवन मिशन के जल गुणवत्ता कार्यक्रम के तहत ब्लॉक स्तर पर ग्राम की ग्राम जल एवं स्वच्छता समिति (वीडब्ल्यूएससी) पानी समिति की महिला (आंगनवाड़ी कार्यकर्ता) सदस्यों का एक दिवसीय फिल्ट टेस्ट किट (एफटीके) से पेयजल जांच का प्रशिक्षण वीडियों कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदान किया जाएगा। जिनके द्वारा जिले के समस्त सार्वजनिक, निजी पेयजल स्त्रोतों का जांच का कार्य किया जाकर जांच का परिणाम जेजेएम डब्ल्यूक्यूएमआईएस पर अपलोड किए जाने हैं।

जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अधीक्षण अभियंता अनिल कुमार कछवाहा ने बताया कि प्रशिक्षार्थियों को अपने साथ स्वयं का एंड्रोयड मोबाइल एवं जांच के लिए दो जल नमूने एक-एक लीटर प्लास्टिक की बोतल में लाना आवश्यक हैं। प्रशिक्षण 15 जून (शनिवार) को दोपहर 12 बजे से 2 बजे तक पंचायत समिति सभागार में आयोजित कराया जाएगा। प्रशिक्षण में सभी महिला आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को उपस्थित होने के निर्देश दिए हैं।
 

 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal