डूंगरपुर-7 मार्च 2024 की प्रमुख खबरे

डूंगरपुर-7 मार्च 2024 की प्रमुख खबरे 

ज़िले से संबंधित खबरे पढ़े उदयपुर टाइम्स पर

 
Dungarpur

News-वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना के तहत 9 मार्च को डूंगरपुर से रामेश्वरम के लिए रवाना होगी स्पेशल ट्रेन

डूंगरपुर 7 मार्च। राज्य सरकार के देवस्थान विभाग के वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना के अन्तर्गत विशेष रेलगाड़ी डूंगरपुर से रामेश्वर ट्रेन 9 मार्च को दोपहर 2 बजे डूंगरपुर रेलवे स्टेशन से रवाना होगी। डूंगरपुर रेलवे स्टेशन से 440 और राणा प्रतापनगर (उदयपुर) रेलवे स्टेशन से कुल 530 कुल 970 यात्री यात्रा में सवार होंगे। इन 970 यात्रियों को दोनो रेलवे स्टेशन पर पहुंचने के लिए सूचित किया जा रहा है। 

देवस्थान विभाग, उदयपुर की आयुक्त प्रज्ञा केवलरमानी ने बताया कि डूंगरपुर व बांसवाड़ा जिले में 440 यात्रियों को डूंगरपुर रेलवे स्टेशन पर प्रातः 10 बजे और राणा प्रतापनगर (उदयपुर) पर प्रातः 10 बजे उदयपुर के 230 एवं चित्तौड़गढ़ जिले के 300 यात्रियों को रिपोर्ट करना है।  यात्री अपने साथ ऑनलाइन भरे गए आवेदन पत्र की हार्ड कॉपी (मय प्रमाणित चिकित्सीय प्रमाण पत्र), मूल जनआधार, आधार कार्ड, दो पासपोर्ट साईज फोटो साथ लेकर आना अनिवार्य होगा। साथ ही दैनिक उपयोग की सामग्री (आवश्यक औषधियां, व्यक्तिगत आवश्यकता के लिए नकदी, कपड़े) लाने होंगे। ट्रेन में 8 दिन तक यात्रियों के आवास, भोजन इत्यादि की समस्त व्यवस्थाएं देवस्थान विभाग, राजस्थान सरकार द्वारा की जाएगी।

News-एड्स के प्रति जन जागरूकता जरूरी, जागरूकता कार्यशाला में संक्रमितों के लिए सकारात्मक माहौल पर दिया जोर

डूंगरपुर, 7 मार्च। नेहरू युवा केंद्र, डूंगरपुर की ओर से राजस्थान एड्स कंट्रोल सोसायटी के सहयोग से आउट ऑफ स्कूल कार्यक्रम के तहत गुरूवार को श्री भोगीलाल पण्ड्या राजकीय महाविद्यालय में एचआईवी एवं एड्स के प्रति जन जागरूकता लाने के लिए एक दिवसीय जिला स्तरीय कार्यशाला का आयोजन हुआ। 

मुख्य वक्ता एआरटीए एड्स सलाहकार शंशाक ने सम्बोधित करते हुए कहा कि युवा इस मुद्दे पर संवेदनशील होकर कार्य करेंगे तो लोगो में जागरूकता आएगी। इस बीमारी का बचाव ही उपचार हैं। उन्होंने एचआईवी ग्रसित होने के कारण, लक्षण तथा उनसे बचाव के उपायों पर प्रकाश डालते हुए बताया कि इस संवेदनशील विषय को लेकर कौनसी मुश्किलें आती हैं और युवा किस प्रकार ग्रामीण क्षेत्र में लोगों को जागरूक करने का कार्य कर सकते हैं। एड्स की जांच प्रक्रिया में अपनाई जाने वाली गोपनीयता के बारे में बताया ताकि लोग लोक-लाज के चलते जांच करवाने से न घबराएं। दूषित सुई से भी एवं रक्त के आदान प्रदान में विशेष सावधानियों की आवश्यकता हैं।

एचआईवी टीबी समन्वयक पंकज श्रीमाल ने बताया कि कभी भी एक बार प्रयोग में ली गई इंजेक्शन की नीडल तथा दवा तैयार करने वाले उपकरणों को दोबारा इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। एचआईवी पीडि़त व्यक्ति के साथ समाज में सकारात्मक व्यवहार होना चाहिए। उन्होंने बताया कि ब्लड डोनेशन में ब्लड की एचआईवी वायरस की जांच की जाती है तथा दूषित रक्त नही चढ़ाया जाता हैं। उन्होंने टीबी की बीमारी की सम्पूर्ण जानकारी प्रदान की। 

जीवन आश्रम संस्था के प्रभारी संजय शर्मा ने बताया कि एड्स की रोकथाम के लिए जीवन आश्रम संस्था राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संगठन के संरक्षण में डूंगरपुर में कार्यरत हैं। संस्था ऐसे समूहों के साथ कार्य करती है जो एड्स जैसे यौन संक्रमण के प्रति अधिक वल्नरेबल हैं। जिला युवा अधिकारी प्रदीप कुमार ने कार्यशाला के उद्देश्यों की जानकारी दी तथा बताया कि सही समय पर इस बीमारी का पता लग जाने से काफी हद तक इस लाइलाज बीमारी पर नियंत्रण पाया जा सकता हैं। अंत में सभी प्रतिभागियों ने आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर अनिवार्य रूप से मतदान की शपथ ली और फर्स्ट टाइम वोटर्स को भी जरूर वोट डालने के लिए प्रेरित किया गया। कार्यक्रम में डूंगरपुर जिले के सभी पंचायत समितियों के 80 युवाओं ने भाग लिया। अमृत लाल साल्वी लेखाकार ने आभार व्यक्त किया।

News-मतदान केन्द्रों का चिन्हिकरण कर रिपोर्ट भिजवाने के निर्देश

डूंगरपुर, 7 मार्च। मुख्य निर्वाचन अधिकारी राजस्थान जयपुर की अनुपालना में महिला मतदान केन्द्र, पीडब्ल्यूडी, युवा कार्मिक मतदान केन्द्रों के दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। प्रत्येक विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में आठ मतदान केन्द्रों पर महिला कार्मिकों द्वारा एक मतदान केन्द्र पर पीडब्ल्यूडी कार्मिकों एवं आठ मतदान केन्द्रों पर 40 वर्ष तक के आयु वर्ग वाले युवा कार्मिकों द्वारा मतदान की प्रक्रिया सम्पन्न कराई जाएगी। उप जिला निर्वाचन अधिकारी कुलराज मीणा ने बताया कि जिले के विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में मतदान केन्द्रों का चिन्हिकरण कर तीन दिवस में इसकी रिपोर्ट जिला निर्वाचन कार्यालय, डूंगरपुर को भिजवाने के निर्देश दिए हैं।

News-कन्या भ्रूण हत्या जघन्य अपराध, जागरूकता वाहन को सीएमएचओ ने हरी झंडी दिखाई
जिले भर में जागरूकता वाहन से मुखबिर योजना का होगा प्रचार-प्रसार

डूंगरपुर 07 मार्च। भ्रुण परीक्षण पर अंकुश लगाने के लिये शुरू की गयी मुखबिर योजना का गांव गांव मे विशेष प्रचार होगा। इसके लिए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से शुरू की गई मुखबिर योजना की जानकारी अब सीधे आमजन तक पहुचेगी। चिकित्सा विभाग अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष में जागरूकता वाहन को सीएमएचओ डॉ. अलंकार गुप्ता , एडिशनल सीएमएचओ डॉ. विपिन मीणा व पीसीपीएनडी समन्वयक श्रीमती सुमित्रा फुमतिया द्वारा हरि झण्डी दिखाकर वाहन को रवाना किया गया। यह जागरूकता वाहन प्रत्येक ब्लॉक में पहुच आमजन को जागरूक करेगा। इस अवसर पर विभाग के अन्य अधिकारी कर्मचारी उपस्थित

सीएमएचओ डॉ अलकार गुप्ता ने बताया कि लिंगानुपात व बेटियों के जन्म को प्रोत्साहित करने के लिए चिकित्सा विभाग की ओर से विभिन्न योजनाएं व समय समय पर अभियान चलाए जा रहे हैं। ऐसे में भ्रूण हत्या को रोकने के लिए पीसीपीएनडीटी एक्ट 1994 बनाया गया है, जिसके तहत गर्भ में पल रहे भ्रूण का लिंग जांच करना और भ्रूण हत्या करना कानूनन अपराध है। जिसमे अगर कोई गैर कानूनी तरीके अपनाकर गर्भ में पल रहे भ्रूण की लिंग जांच करते हैं। 

पीसीपीएनडीटी एक्ट के तहत ऐसे लोगों को पकड़कर नियमानुसार दंड देने का प्रावधान निर्धारित किया गया है। भ्रूण लिंग जांच रोकने के लिए सरकार की ओर से मुखबिर योजना बनाई गई है। योजना के अंतर्गत कोई भी भ्रूण लिंग जांच की पुख्ता जानकारी होने पर सूचित कर सकता है। सूचना की पुष्टि होने के बाद मुखबिर एवं अन्य सहयोगियों को नियमानुसार तीन किस्तों में कुल तीन लाख तक की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाती है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal