शहर की सफाई व्यवस्था को लेकर स्वास्थ समिति की मैराथन बैठक


शहर की सफाई व्यवस्था को लेकर स्वास्थ समिति की मैराथन बैठक

स्वास्थ्य समिति बैठक में हुए कई निर्णय

 
UMC
UT WhatsApp Channel Join Now

उदयपुर। नगर निगम स्वास्थ्य समिति की महत्वपूर्ण बैठक सोमवार को नगर निगम बोर्ड बैठक हॉल में निगम उपमहापौर एवं समिति अध्यक्ष पारस सिंघवी व वेणीराम सालवी की अध्यक्षता में आयोजित की गई।

नगर निगम स्वास्थ्य समिति अध्यक्ष (शहरकोट अंदर) वेणी राम सालवी ने बताया कि शहर में सफाई की दृष्टि को लेकर स्वास्थ्य समिति की महत्वपूर्ण बैठक सोमवार को आयोजित की गई जिसमें नगर निगम उप महापौर एवं स्वास्थ्य समिति अध्यक्ष (शहर कोट बाहर) पारस सिंघवी ने स्वास्थ्य शाखा के उपस्थित अधिकारियों एवं कर्मचारियों का आह्वान करते हुए कहा कि उदयपुर शहर में सफाई व्यवस्था को लेकर शहर के नागरिकों से सकारात्मक फीडबैक मिल रहा है। 

निगम द्वारा शहर की सफाई व्यवस्था को सुचारू बनाने में लगातार प्रयास किया जा रहा है फिर भी कहीं भी कोई कमी नहीं रहे इस बात का सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को विशेष रुप से ध्यान रखना है। स्वच्छता में उच्च स्तर पर ले जाना हमारी पहली प्राथमिकता है और रहेगी। अपने कार्यबल पर हम यह मुकाम हर हाल में हासिल करेंगे, पिछली रैंकिंग में हुई कमियों को दूर कर हमें आने वाले समय के बारे में विचार करना है। 

डोर टू डोर कचरा संग्रहण व्यवस्था पर हुई समीक्षा

उदयपुर नगर निगम द्वारा वर्तमान में सभी 70 वार्डो में डोर टू डोर कचरा संग्रहण का कार्य विभिन्न निजी संस्थाओं के माध्यम से करवाया जा रहा है। इस कार्य में किसी भी प्रकार की कोई कमी नहीं रहे इसको लेकर उप महापौर एवं स्वास्थ्य समिति अध्यक्ष पारस सिंघवी ने उपस्थित सभी समिति सदस्यो, स्वास्थ्य अधिकारी सत्यनारायण शर्मा स्वास्थ्य निरीक्षक नरेंद्र श्रीमाली, सुभाष चंद्र शर्मा सभी सेक्टर ऑफिसर के साथ गहन मंत्रणा की। डोर टू डोर कचरा संग्रहण वाहन को लेकर किसी भी पार्षद, जनप्रतिनिधि एवं शहर वासियों को कोई शिकायत नहीं रहनी चाहिए। लगातार इस कार्य में हमें मॉनिटरिंग कर इस व्यवस्था को और अधिक सुचारू बनाना होगा जिससे उदयपुर शहर पूरी तरह कचरा मुक्त हो सके। 

ठेके पर लेंगे सफाई कर्मी

नगर निगम स्वास्थ्य समिति की बैठक में समिति अध्यक्ष सदस्य देवेंद्र साहू और राकेश जैन द्वारा अवगत कराया गया कि सफाई कर्मचारियों की कमी के चलते शहर की सफाई व्यवस्था प्रभावित हो रही है। वर्तमान में लगभग 400 सफाई कर्मचारियों के पद रिक्त है। हालाकि जल्द ही सरकार द्वारा नई भर्ती की जाएगी लेकिन तब तक कोई वैकल्पिक व्यवस्था नगर निगम द्वारा उपलब्ध करवाई जानी चाहिए, इस पर सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि सफाई कर्मचारी की नई भर्ती तक कर्मचारियों को ठेके पर लिया जाएगा और सफाई कार्य संपन्न करवाए जाएंगे।

असहाय होने पर आश्रित को मिलेंगी अनुकंपा नौकरी

नगर निगम उपमहापौर एवं स्वास्थ्य समिति अध्यक्ष पारस सिंघवी ने बताया कि 26 अप्रैल, 2023 को राज्य सरकार ने निर्णय लेते हुए अध्यादेश जारी किया है कि ऐसे कर्मचारी जो चलने फिरने में पूरी तरह असमर्थ हो चुके हैं ऐसे कर्मचारियों के आश्रित को अनुकंपा नियुक्ति दी जाए इसी को लेकर अब ऐसे सभी सफाई कर्मचारियों को चिन्हित कर उनके परिवार जन को अनुकंपा नियुक्ति हेतु प्रेरित किया जाएगा।

व्यवसायिक डेयरी को करें शहर के बाहर

नगर निगम स्वास्थ समिति की बैठक में समिति सदस्य रेखा डांगी, कुसुम पवार, शहनाज अयूब आदि ने विभिन्न रिहायशी इलाकों में चल रही डेयरी को हटवाने का प्रस्ताव रखा। इन्होंने बताया कि डेयरी संचालकों द्वारा पशुओं का गोबर आदि सड़कों पर फेंका जाता है या नालियों में बहाया जाता है जिससे आसपास में भयंकर गंदा माहौल हो जाता है। कई लोगों द्वारा निगम आकर बार बार इसकी शिकायत की जा रही है। इस पर भी समिति अध्यक्ष एवं उपमहापौर पारस सिंघवी ने जल्द से जल्द ऐसे सभी डेयरी संचालकों के खिलाफ कार्रवाई कर उनका चालान बनाकर नोटिस देकर सीज करने की बात कही। इस विषय पर कठोरता से कार्रवाई की जाए और उसी दिन की कार्रवाई को आगे बढ़ाई जाए ऐसे निर्देश दिए हैं।

दुकानों पर सीज की कार्यवाही की जाएगी

नगर निगम स्वास्थ्य समिति बैठक में समिति अध्यक्ष वेणी राम सालवी और आशा सोनी द्वारा आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि कई दुकान मालिकों द्वारा रात्रि में कचरा बाहर सड़क पर फेंक दिया जाता है ऐसे दुकान मालिकों को नोटिस देकर पाबंद किया जाए। यदि उसके उपरांत भी उनके द्वारा कचरा फेंकने का कार्य किया जाता है तो ऐसी दुकानों को सीज करने की कार्रवाई नगर निगम द्वारा की जाएगी।

अवैध रेस्टोरेंट एवं मीट संचालकों के खिलाफ होगी कार्रवाई

नगर निगम स्वास्थ्य समिति की बैठक में निर्णय लिया गया कि शहर में अवैध रूप से चल रहे रेस्टोरेंट एवं मीट आदि व्यवसाय करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

नगर निगम स्वास्थ समिति की बैठक में समिति सदस्य रमेश जैन द्वारा संज्ञान में लाया गया कि शहर में कई भूखंड पर कचरा डाल कर डंपिंग यार्ड के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है जिससे आसपास के रहने वाले लोगों को बहुत समस्या हो रही है, इस पर समिति की बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि ऐसे भूखंड मालिकों को निगम की ओर से नोटिस जारी किया जाएगा एवं निगम द्वारा सफाई करवाने का खर्च भी भविष्य में भूखंड मालिक से लिया जाएगा।

स्वास्थ्य समिति की संयुक्त बैठक शहर कोट अंदर एवं बाहर के सदस्य पार्षद राकेश जैन, देवेंद्र साहू, रमेश जैन, राजेन्द्र वसीटा, कुसुम पंवार, आशा सोनी, शाहनाज अयूब आदि सदस्य उपस्थित रहे।
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal