राजसमंद-15 दिसंबर 2023 की प्रमुख खबरे

राजसमंद-15 दिसंबर 2023 की प्रमुख खबरे

ज़िले से संबंधित खबरे पढ़े उदयपुर टाइम्स पर 

 
News from Rajsamand

News-अब उद्यानिकी फसलों पर भी मिलेगा फसल बीमा

किसान 31 दिसम्बर 2023 तक करवा सकेंगे बीमा

राजसमंद 15 दिसम्बर। प्रमुख शासन सचिव, कृषि, राजस्थान की अध्यक्षता में आयोजित राज्य स्तरीय समन्वय समिति फसल बीमा की बैठक में लिये निर्णयानुसार राज्य सरकार द्वारा खरीफ 2023 एवं रबी 2023-24 तक 2 फसल मौसम के लिये एग्रीकल्चर इंशोरेंस कंपनी ऑफ इंडिया लिमिटेड के माध्यम से ऋणी व गैर ऋणी कृषकों के लिय प्रदेश में पुनर्गठित मौसम आधारित फसल बीमा योजना का क्रियान्वयन राजसमंद जिले में भी किया जा रहा है। राजसमंद जिले हेतु रबी 2023-24 में फूलगोभी व आम फसल का बीमा 31 दिसम्बर 2023 तक कराया जा सकता है।

योजना में शामिल किए जाने वाले कृषक इस योजना के अन्तर्गत ऋण लेने वाले कृषक, गैर ऋणी कृषक एवं बंटाईदार कृषकों द्वारा फसलों का बीमा कराया जा सकेगा।

ऋणी कृषक क्षेत्रीय ग्रामीण, बैंक, व्यवसायिक बैंक एवं भूमि विकास बैंक आदि द्वारा अधिसूचित इकाई क्षेत्र एवं अधिसूचित फसल के लिए जिन कृषकों को रबी के लिए 31 दिसम्बर 2023 तक फसल ऋण की सीमा अनुमोदित (स्वीकृत) की गई हो तथा ऋण वितरित किया गया हो। सहकारी बैंक, सहकारी समिति द्वारा अधिसूचित इकाई क्षैत्र एवं अधिसूचित फसल के लिये जिन कृषकों को रबी के लिए 31 दिसम्बर 2023 तक फसल ऋण की सीमा अनुमोदित (स्वीकृत) की गई हो अथवा ऋण वितरित किया गया हो। 

कृषकों द्वारा पुनर्गठित मौसम आधारित फसल बीमा योजना में फसल बीमा करवाया जाना पूर्णतया स्वैच्छिक है, किन्तु ऋणी कृषकों को योजना से पृथक रहने के लिये नामांकन की अन्तिम दिनांक से 7 दिवस पूर्व (रबी के लिये 24 दिस्मबर 2023 ) तक संबंधित वित्तीय संस्था में इस बाबत् घोषणा पत्र प्रस्तुत करना होगा (घोषणा पत्र का प्रारूप सम्बन्धित वित्तीय संस्था/बैंक शाखा में उपलब्ध है) अन्यथा उनको योजना में सम्मिलित माना जायेगा। ऋणी कृषको का प्रीमियम उनके बैंक खातों से वसूल किया जायेगा। सम्बन्धित बैंक/वित्तीय संस्था फसल बीमा प्रीमियम की कटौती करने से पूर्व कृषक से इस आशय का प्रमाण-पत्र लेना सुनिश्चित करेंगे कि उसने इस भूमि पर बोई गई फसल का बीमा किसी अन्य बैंक/वित्तीय संस्था के माध्यम से नहीं करवाया है।

गैर ऋणी कृषक अपनी फसलों को बीमा नामांकन की अन्तिम दिनांक रबी हेतु 31 दिसम्बर 2023 तक निकट के केन्द्रीय सहकारी बैंक/क्षेत्रिय ग्रामीण बैंक/वाणिज्यिक बैंक की शाखाओं, डाक घर एवं सी.एम.सी. के माध्यम से करा सकेंगे। इसके अतिरिक्त कृषक द्वारा बीमा कम्पनी के अधिकृत बीमा एजेन्ट/मध्यस्थी, प्राधिकृत प्रतिनिधि अथवा राष्ट्रीय फसल बीमा पोर्टल (एनसीआईपी) द्वारा भी निर्धारित प्रक्रियाआं के तहत फसल बीमा करवाया जा सकाता है।

प्रीमियम गणना एवं अनुदान-  वाणिज्यिक/बागवानी फसलों के लिये बिमित राषि का 5 प्रतिषत कृषक द्वारा वहन किया जायेगा।  आम फसल की बीमित राशि 112000/- रू है। कृषक द्वारा 5 प्रतिशत की दर से 5600/- रू वहन किया जायेगा। फूलगोभी फसल हेतु बीमित राशि 93430/- रू है, कृषक द्वारा 5 प्रतिशत की दर से  4672/- रू वहन किया जायेगा।

ठोस कचरा प्रबंधन पर शासकीय महाविद्यालय में स्वच्छता मुहिम’

राजसमंद 15 दिसंबर। नई पेयजल वितरण प्रणाली का  कार्य कर रही राजस्थान नगरीय आधारभूत विकास परियोजना के सामुदायिक जागरूकता एवं जन सहभागिता कार्यक्रम के तहत    शुकवार को शहर के राजकीय कन्या महाविद्यालय में स्वच्छता मुहिम की शुरुआत हुई।  राजस्थान नगरीय आधारभूत विकास परियोजना के अधीक्षण अभियंता मनीष अरोड़ा के निर्देशानुसार शहर के राजकीय कन्या महाविद्यालय  नाथद्वारा  मैं  विद्यार्थी जागरूकता कार्यक्रम में स्वच्छता मुहिम का आयोजन किया गया। 

कार्यक्रम में टीम लीडर कैप जयपुर बाबूलाल शर्मा  द्वारा बताया गया की कचरा तीन प्रकार का होता है। सूखा कचरा, गीला कचरा और हानिकारक कचरा तथा उनके निस्तारण के बारे में बताया उन्होंने बताया कि स्वच्छता ही सेवा है। हमारे देश के लिए हमारे जीवन में स्वच्छता की बहुत जरूरत है। गंदगी हमारे आसपास के वातावरण और जीवन को प्रभावित करती है। हमें व्यक्तिगत व आसपास भी सफाई अवश्य रखनी चाहिए और दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित करना चाहिए।  जब आप किसी व्यक्ति या घर को साफ सुथरा देखते हैं तो यह आपको भी अपने आस पास साफ सफाई करने के लिए प्रेरित करता है। इस प्रकार विज्ञापनों, बैनर होर्डिंग्स आदि के माध्यम से जागरूकता शिविर लगाकर प्लास्टिक के कम उपयोग पर जागरूकता सेए पुनर्नवीनीकरण उत्पादों और बायोडिग्रेडेबल उत्पादों के उपयोग पर जागरूक कर लोगों को स्वच्छता उपायों को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए। 

सामूहिक प्रयास से हम स्वच्छता प्राप्त कर सकते हैं और बदले में पुरस्कार के रूप में अच्छा स्वास्थ्य और खुशी प्राप्त कर सकते हैं।।इसी क्रम में अधिशाषी अभियंता  महेंद्र समदानी ने  परियोजना के कार्यों के बारे में विस्तारपूर्वक बताया उन्होंने नई जलप्रदाय योजना से होने वाले लाभों के बारे में जानकारी  हुये कहा कि नई जल प्रदाय योजना से पानी पर्याप्त एवं पूर्ण दवाब के साथ  मिलेगा। 

इसी क्रम में बोलते हुए सीएमई सौरभ पांडेय द्वारा ठोस कचरा प्रबंध पर विस्तार पूर्वक बताया गया उन्होंने बताया कि पृथ्वी हमारा घर है। यह हमें भोजन, पानी और हवा जैसी दैनिक उपयोग की कई चीजें प्रदान करता है इसलिए हमें इसे अपना घर मानना चाहिए और इसकी स्वच्छता बनाए रखने के लिए जिम्मेदार बनना चाहिए। पांडेय ने महाविद्यालय की छात्राओं को ठोस कचरे के तीन आर सिद्धांत को बताया।


News-माय भारत पोर्टल से जुडकर युवा उधमिता व अनुभव आधारित प्रशिक्षण ले सकेगें 

नेहरू युवा केन्द्र के जिला युवा अधिकारी शुभम पूरबिया ने बताया कि भारत सरकार द्वारा 31 अक्टूबर को युवा कल्याण के लिये माय भारत पोर्टल की शुरूआत नये युवा विभाग की संरचना से की गई है। माय भारत पोर्टल का उद्धेष्य युवाओं को कॅरियर,कौषल कार्यक्रम, कल्याणकारी योजनाओं में सहभागिता और 21 वी सदी के अनुरूप प्रषिक्षण व प्रतिभागिता के नए अवसर के लिये डिजिटल व फिजिकल जरिये एक प्लेटफार्म के रूप में तैयार करना है। 

पुरबिया ने बताया कि विकसित भारत संकल्प यात्रा के दौरान केन्द्र के राष्ट्रीय युवा स्वंसेवक ग्राम पंचायत स्तर पर  होने वाले कार्यक्रमों के दौरान माय भारत पोर्टल पर युवाओें के पंजीयन का कार्य सुनिष्चित करेगें । युवा सषक्तिकरण  के लिये शुरू किये गये माय भारत पोर्टल के जरिये युवाओं को जिला से राष्ट्रीय स्तर के युवा कार्यक्रमों से सम्बंधित जानकारी उपलब्ध कराकर उन्हें विभिन्न कलात्मक व रचनात्मक गतिविधियों में सहभागी बनने का अवसर दिया जायेगा ।पंजीकृत युवा ग्राम पंचायत स्तर पर अपना समूह या युवा मण्डल बना सकते हैं । इसके जरिये वे स्वप्रेरणा से विकास व स्वंयसेवा के विभिन्न कार्यक्रम कर विकसित भारत की परिकल्पना की दिषा में अपना योगदान दे सकते है। 

पुरबिया ने बताया कि पोर्टल जमीनी स्तर पर हर युवा को डिजिटल प्लेटफार्म के जरिये शिक्षा, कॅरिअर, कौशल प्रशिक्षण व व्यक्तित्व विकास के अवसर प्रदान करेगा। उक्त पोर्टल युवाओं कॉरपोरेट सेक्टर, ट्रेनिंग संस्थाओं व अनुभवी मेंटर से जोडने की दिशा में सिंगल विंडो प्लेटफार्म है।

News-पीएम श्री अन्तर्गत ऐतिहासिक स्थलों का छात्र छात्राओं ने किया भ्रमण

राजसमंद 15 दिसम्बर। पी एम श्री जवाहर नवोदय विद्यालय राजसमन्द के प्राचार्य श्री घनश्याम मीना ने बताया कि पीएम श्री स्कूल जवाहर नवोदय विद्यालय के कक्षा 6 व 7 के समस्त विद्यार्थियों को ऐतिहासिक धरोहर हल्दीघाटी, चेतक समाधी, चेतक पार्क, शाही पार्क का भ्रमण करवाया गया। बच्चों ने हल्दीघाटी संग्रहालय का भी भ्रमण किया। विद्यालय के कुल 84 छात्र व 70 छात्राओं को इस विद्यालय के 7 टीचर्स ने मार्गदर्शी के रूप में भ्रमण कराया।

इस विद्यालय की सामाजिक विज्ञान अध्यापिका अनिता मीणा ने विद्यार्थियों को हल्दीघाटी युद्ध और उसके महत्व के बारे में बताया। भ्रमण के दौरान विस्तृत चर्चा करते हुए इतिहास से परिचित करवाया।

News-कृषि क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी विषय पर परिचर्चा आयोजित

सेठ रंगलाल कोठारी राजकीय महाविद्यालय, राजसमन्द में महिला अध्ययन प्रकोष्ठ के अंतर्गत “कृषि क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी“ विषय पर डॉ. पी.सी. रेगर (मुख्य वैज्ञानिक, कृषि विज्ञान केंद्र - राजसमंद) ने विद्यार्थियों के साथ एक महत्वपूर्ण परिचर्चा की। डॉक्टर रेगर ने बताया की जब तक धरती पर जीवन है तब तक कृषि का महत्व रहेगा। खेती ही एक ऐसा व्यवसाय है जो नाकभी कम होगा और न ही समाप्त इसीलिए हमें खेती पर सर्वाधिक ध्यान देना चाहिए। इसी से रोजगार की समस्या समाप्त भी होगी और अच्छी आमदनी भी होगी। आज नई तकनीक और पूरी जानकारी के साथ यदि खेती करते हैं तो व्यक्ति अच्छी आमदनी कर सकता है।

कहा कि राजसमंद जिले में बहुत से किसान खेती करके अपना नाम कमा रहे हैं। ब्रोकली,लाल मूली, तुलसी, आंवले की खेती, इन सब में किसानों ने नवाचार अपनाया है। हमें विरासत में मिली खेती योग्य जमीन पर अधिक से अधिक उपयोग कर जीविकोपार्जन को बेहतर बनाना है, न कि उसे बेच देना है।कार्यक्रम के प्रारंभ में प्राचार्य प्रो. सुमन बडोला तथा डॉ. विजेंद्र शर्मा ने ओपरना उठाकर स्वागत किया तथा महत्वपूर्ण जानकारी के लिए आभार व्यक्त किया।

महाविद्यालय के विद्यार्थियों ने इस उपयोगी जानकारी को बहुत ध्यान से सुना। वरिष्ठ संकाय सदस्य निर्मला मीणा, खुशबू जीनगर, डॉ. महेश तिवारी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन महिला प्रकोष्ठ प्रभारी डॉ. उषा शर्मा ने किया।

News-जिला स्तरीय बैंकिंग समन्वय एवं समीक्षा व परामर्शदात्री समिति की त्रैमासिक बैठक

राजसमंद 15 दिसम्बर।अग्रणी जिला बैंक कार्यालय, राजसमन्द की ओर से दिनांक 15.12.2023 शुक्रवार को आयोजित जिला स्तरीय बैंकिंग समन्वय य समीक्षा समिति एवं जिलास्तरीय परामर्शदात्री समिति की त्रैमासिक बैठक अतिरिक्त जिला कलक्टर राजसमन्द श्री नरेश बुनकर की अध्यक्षता में जिलाधीश कार्यालय राजसमन्द में की गई।

वित्तीय वर्ष 2023-24 के द्वितीय त्रैमास के समाप्ति पर जिले की सभी बैंकों का साख जमा अनुपात 67.13 प्रतिशत रहा एवं वार्षिक साख योजना के लक्ष्य 1894 करोड़ के सापेक्ष 1153.42 करोड़ (60.90 प्रतिशत) की उपलब्धि रही ।

बैठक के अध्यक्ष द्वारा अपने उद्बोधन में बैंकों को निर्देश प्रदान करते हुए कहा कि समस्त सरकारी योजनाओं में लोगों को ऋण प्रदान करने हेतु बैंकों द्वारा विशेष प्रयास किए जाऐं जिससे आम जन को उक्त योजनाओं का पूर्ण लाभ मिल सके एवं सरकार का उद्देश्य पूर्ण हो सके, उन्होंने कहा कि सरकारी योजनाओं में शत प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त करने के लिए सरकारी विभाग एवं बैंकों में और ज्यादा समन्वय की आवश्यकता है। 

जिले के विकास की गति में तेजी लाने हेतु भारतीय रिजर्व बैंक के जिला अधिकारी श्री गौरव गुप्ता ने कहा कि जिन बैंकों का साख जमा अनुपात एवं एसीपी उपलब्धि मापदण्डों से कम है वे इस अनुपात में उत्तरोत्तर वृद्धि करें। बैंकों को बीसी एक्टिवेशन व उनकी उचित मोनिटरिंग, बैंकों को डिजिटल वित्तीय साक्षरता कैम्प संबंधित ग्राम पंचायतों में आयोजित करने हेत निर्देशित किया गया साथ ही विभिन्न सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के बारे में चर्चा की गई। नाबार्ड के जिला प्रबंधक श्री आशीष जैन द्वारा आगामी वित्तीय वर्ष 2024-25 पीएलपी का विमोचन किया गया व घर घर केसीसी अभियान पर चर्चा की साथ ही उन्होंने बताया कि जिले के कृषि क्षेत्र के लक्ष्य शत प्रतिशत प्राप्त होने चाहिए, इन्हें प्राप्त करने हेतु एग्री इन्फास्ट्रचर फण्ड व ग्रामीण गोदाम हेतु टर्म लोन देकर इस लक्ष्य को प्राप्त किया जा सकता है ।

अग्रणी जिला प्रबंधक श्री भरत देव मेघवाल ने सभी बैंकों को दिनांक 16.12.2023 से आयोजित होने वाले विकसित भारत संकल्प यात्रा के कार्यक्रम पर जानकारी दी व सभी बैंकों को अनिवार्य रूप से इन कैम्पों में उपस्थित होने के लिए कहा साथ ही डीबीटी योजनाओं से लोगों को लाभान्वित करने हेतु सभी बैंक खातों को आधार से लिंकेज मेपिंग व ईकेवासी का कार्य अविलम्ब सम्पन्न करने हेतु कहा । साथ ही उन्होंने प्रभावी वित्तीय समावेशन हेतु प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना एवं अटल पेंशन योजना में लोगों को अधिकाधिक जागरूक व लाभान्चित करने हेतु बैंकर्स का आव्हान किया। 

सभी बैंकों को आरसेटी प्रशिक्षण केन्द्र द्वारा आयोजित निशुल्क प्रशिक्षण कार्यक्रमों से ग्राहकों को ज्यादा से ज्यादा लाभान्चित करने हेतु कहा व जिले में, इंदिरा गांधी शहरी केडिट कार्ड योजना, एमएलयूपीवाई, राजीविका स्वयं सहायता समूह, मुद्रा योजना, लखपति दीदी योजना इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना, पी एमजन धन योजना, रूपे कार्ड की प्रगति, मुद्रा, स्टैण्ड अप इंडिया योजना पर चर्चा व सरकारी योजनाओं के लम्बित आवेदनों की समीक्षा की।

बैठक में रिजर्व बैंक के एलडीओ श्री गौरव कुमार गुप्ता, डीडीएम नाबार्ड श्री आशीष जैन, भारतीय स्टेट बैंक आरबीओ-6 के मुख्य प्रबंधक-साख श्री अभिषेक श्रीवास्तव, आरएमजीबी क्षेत्रीय कार्यालय से श्री विशाल गुप्ता, राजीविका की डीपीएम श्रीमती सुमन अजमेरा, महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र श्री भानुप्रताप राणावत, सहायक निदेशक समाज कल्याण श्री जयप्रकाश चारण, मैनेजर एनयूएलएम श्री सुनील यादव, आरसेटी राजसमन्द (नाथद्वारा) के निदेशक श्री दीपक गहलोत, किसिल फाउण्डेशन व रिलाइंस इंडिया इंश्योरेंस कम्पनी के पदाधिकारी बैठक में उपस्थित रहे। बैठक में सभी बैंकों की ओर से शाखा प्रबंधक / जिला समन्वयक उपस्थित रहे


 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal